Breaking News

*नव संवत्सर पर मिला है अवसर घर से राष्ट्र बचाने का: डॉ रामजी दास राठौर*

नव संवत्सर पर डॉ रामजी दास राठौर अतिथि विद्वान वाणिज्य एवं समाजसेवी ने शुभकामना संदेश देते हुए अपील की है कि हम सभी अपने घरों पर रहते हुए राष्ट्र सेवा करें। छात्र-छात्राओं की मदद के लिए उन्होंने बताया कि वाणिज्य विषय की कक्षा 11 से एम.कॉम तक के किसी भी क्लास के छात्र छात्राओं को यदि किसी भी विषय में किसी भी प्रकार की समस्या है तो वह यूट्यूब पर डॉ राम जी दास राठौर सर्च कर अपनी समस्या से संबंधित लेक्चर देख सकते हैं तथा 94251 29705 पर व्हाट्सएप कर अपनी समस्या का समाधान शीघ्र अति शीघ्र प्राप्त कर सकते हैं। उन्होंने बताया कि वह अपनी ऑनलाइन सेवाएं घर से सभी छात्र छात्राओं को प्रदान कर रहे हैं, ताकि समय का सदुपयोग किया जा सके तथा छात्रों का अध्ययन घर पर ही निर्बाध गति से चलता रहे। वर्तमान परिस्थितियों में विश्व कोरोना वायरस से कराह रहा है। देश के विभिन्न न्यूज चैनलों के माध्यम से हम सभी को ज्ञात है विश्व का शायद ही कोई ऐसा देश हो, जहां कोरोना वायरस ने आम नागरिकों को परेशान ना किया हो। हमारे देश में अभी वर्तमान में लगभग 570 मामले सामने आ चुके हम इस महामारी से स्वयं तथा राष्ट्र को थोड़ी सावधानी रखकर बचा सकते हैं। यदि आज भी हमने राष्ट्र का सहयोग नहीं किया तो परिस्थितियां काफी विषम हो सकती हैं। हमारे जीवन का एक अवसर है कि हम राष्ट्र के कुछ काम आ कर राष्ट्र की सेवा कर सकते हैं। इसलिए हमें राष्ट्र धर्म से प्रेरित होकर अपने घरों पर रहकर ही एक अच्छे नागरिक की तरह अपनी जिम्मेदारी निभाते हुए कोरोना वायरस को फैलने से रोकना है। डॉ बसीर की लाइनें हैं: कोई हाथ भी न मिलाएगा, जो गले मिलोगे तपाक से। यह नए मिजाज का शहर है,जरा फासले से मिला करो। हम लोगों से मिलते समय पर्याप्त दूरियां रखें। हम घर से बाहर ना निकले। आप साफ सफाई रखें तो काफी हद तक वायरस फैलने से रोक सकते हैं। परिस्थितियों ने आज हमें अपनों के बीच मकान को घर बनाने का मौका दिया है। इस मौके को हम ना गुजारे। तूफान के हालात हैं ना किसी सफर में रहो। पंछियों से है गुजारिश अपने शजर में रहो।ईद के चांद हो अपने ही घर वालों के लिए, यह उनकी खुशकिस्मती है उनकी नजर में रहो। तुमने खाक छानी है हर गली चौबारे की, थोड़े दिन की तो बात है अपने घर में रहो।जैसा कि हम सब जानते हैं कोरोना वायरस का अभी दुनिया में तत्काल इलाज प्रारंभ नहीं हो पाया है लेकिन सावधानी से इस वायरस से आसानी से लड़ा जा सकता है। कभी-कभी दुश्मन को खत्म करने के लिए छुपकर भी वार किया जाता है। इस वायरस से बचने के लिए हमें अपने घरों में छुपे रहना है। कुछ दिन बाद यह वायरस अपने आप कमजोर होने लगेगा। इसका चेन रिएक्शन समाप्त हो जाएगा तथा हम और समाज सभी आसानी से सुरक्षित हो जाएंगे। वक्त है यह लड़ने का अब कोरोना के तूफान से, पास हमको होना है जरूर इस इम्तिहान से।हमें अपने धैर्य, संयम का परिचय देना है तथा यह त्याग, तपस्या हमें हमारे परिवार, समाज और राष्ट्र को बचाने के लिए आवश्यक है। हम आज अपने घर की खिड़की से ही पूरी सुविधाएं लेलें। सूरज लेलें,सूर्यास्त लेलें।तारों से भरी चांदनी रात लेलें, हमसे जो बन पड़े वो लेलें।बस बाहर निकल कर गलती से किसी की जान ना लेलें। कोरोना वायरस से आम जनता को बचाने के लिए 14 अप्रैल तक लॉक डाउन चुका है। हमें इस समय का सदुपयोग करना है। इस समय में ध्यान, प्राणायाम, योग,धार्मिक कार्य आदि करके हम अपनी आध्यात्मिक शक्तियों जो बढ़ा सकते हैं।हमें सरकार के दिशा निर्देशों का हर हाल में पालन करना है क्योंकि सरकार के सभी दिशानिर्देश सिर्फ और सिर्फ हमारे, हमारे परिवार,समाज और देश की सुरक्षा के लिए हैं। हमारे सभी विभागों के अधिकारी कर्मचारी 24 घंटे 7 दिन अपने कर्तव्यों पर अडिग हैं। उनका त्याग, तपस्या,बलिदान व्यर्थ ना जाए, इसलिए हम अपने घरों पर रहकर ही उन्हें पूरा सहयोग करें तथा कोरोना जैसी भयानक महामारी को समूल नष्ट करने में शासन प्रशासन की मदद करें।
मंथन न्यूज -9907832876

Check Also

ट्विटर संग्राम) दिग्विजय सिंह के ट्विट पर गृह मंत्री डॉ नरोत्तम मिश्रा का पलटवार भाजपा जिंदा टाईगरों की पार्टी

🔊 Listen to this (ट्विटर संग्राम) दिग्विजय सिंह के ट्विट पर गृह मंत्री डॉ नरोत्तम …