Breaking News

भोपाल-इंदौर और उज्जैन को छोड़कर चलेंगी बसें, अब नहीं लेना होगा ई-पास

मुख्यमंत्री ने जनता के नाम संदेश में बताई अगली रणनीति

भोपाल. मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने रविवार को जनता के नाम संदेश में लॉकडाउन 5.0 की रणनीति बताई। नई गाइडलाइन के मुताबिक, प्रदेश में 1 जून से कोरोना के हॉट-स्पॉट भोपाल, इंदौर और उज्जैन को छोड़कर बाकी जिलों में 50 फीसदी क्षमता के साथ सार्वजनिक परिवहन की बसें शुरू होंगी। हालांकि अंतरराज्यीय बसों का संचालन 7 जून तक बंद रहेगा। समीक्षा के बाद इस पर निर्णय लिया जाएगा। कंटेनमेंट एरिया पूरी तरह सील रहेंगे। बाकी प्रदेश सामान्य रहेगा। वहीं, रात 9 से सुबह 5 बजे तक कफ्र्यू रहेगा। राज्य या राज्य के बाहर आने-जाने के लिए अब ई-पास की जरूरत नहीं होगी।
शैक्षणिक संस्थाओं का संचालन अभी नहीं
अभी शैक्षणिक संस्थाएं बंद रहेंगीं, लेकिन 12वीं की परीक्षाएं होंगी। स्कूल, कॉलेज, शैक्षणिक, प्रशिक्षण-कोचिंग संस्थान आदि को खोलने का निर्णय सभी लोगों के साथ परामर्श कर जुलाई में लिया जाएगा।
ये पूरी तरह बंद
सिनेमा हॉल, जिम, स्विमिंग पूल, पार्क, थिएटर, बार, ऑडिटोरियम, सभा कक्ष, मैरिज गार्डन आदि। सभी प्रकार की सार्वजनिक सभा या कार्यक्रम प्रतिबंधित रहेंगे।
अब ऐसी व्यवस्थाएं
जिलों में अधिक प्रभावित मोहल्ला, कॉलोनी आदि क्षेत्र कंटेनमेंट एरिया होंगे। इनमें 30 जून तक लॉकडाउन रहेगा। केवल अत्यावश्यक सेवाओं को छूट रहेगी।
8 जून से ये होंगे शुरू: कंटेनमेंट क्षेत्र छोड़कर 8 जून से धार्मिक स्थल, सार्वजनिक स्थान, पूजा स्थल, होटल, रेस्तरां, अन्य आतिथ्य सेवाएं और शॉपिंग मॉल शुरू होंगे।
पब्लिक ट्रांसपोर्ट ऐसा
भोपाल, इंदौर और उज्जैन संभाग सहित पूरे प्रदेश में फैक्ट्री के संचालन और निर्माण कार्य में लगे मजदूरों के परिवहन के लिए बसें संचालित करने की अनुमति होगी। सार्वजनिक परिवहन की बसें इंदौर, उज्जैन, भोपाल में नहीं चलेंगी।
बाजार का फॉर्मूला
इंदौर, उज्जैन, नीमच, बुरहानपुर
के नगरीय क्षेत्रों के बाजारों की एक चौथाई दुकानें बारी-बारी खुलेंगीं। भोपाल के बाजारों की एक तिहाई दुकानें खुलेंगीं। देवास, खंडवा ननि, धार और नीमच नपा क्षेत्र की आधी-आधी दुकानें बारी-बारी से खुलेंगीं।

Check Also

चीन के खिलाफ मोदी सरकार का बड़ा फैसला, TikTok समेत 59 Apps बैन

🔊 Listen to this नई दिल्ली. LAC पर भारत और चीन के बीच तनाव जारी …