मंथन न्यूज़ भोपाल ; प्रदेश में स्टेट हाईवे पर लगने वाला टोल टैक्स 1 दिसंबर तक नहीं लगेगा। नेशनल हाईवे को टैक्स फ्री करने के निर्देश का पालन प्रदेश सरकार भी करेगी।
इसके लिए मप्र राज्य सड़क विकास निगम आदेश जारी करेगा। सड़क विकास निगम के प्रमुख अभियंता अनिल चंसोरिया ने बताया कि केंद्र सरकार के निर्देशों का पालन प्रदेश में लगातार हो रहा है।   ये छूट स्टेट हाईवे पर इस बार भी लागू की जाएगी।demo toll 24 11 2016

 महिला एवं बाल विकास विभाग द्वारा बालिका लिंगानुपात सुधार में उत्कृष्ट कार्य हेतु जिलों में राज्य स्तरीय विशेष पुरस्कार 8 मार्च 2017 को दिया जाना है। समाज में व्यक्तिगत दृष्टिकोण तथा सामूहिक प्रवृत्ति सुधार हेतु समाज में महिला एवं बाल कल्याण के क्षेत्र में बाल विवाह की रोकथाम, समाज में बालिका के जन्म के प्रति सकारात्मक दृष्टिकोणबालिकाओं की शिक्षा में सुधारबालिका शाला प्रवेशलाड़ली लक्ष्मी योजनाशौर्य दल गठनपरिवार द्वारा बालिकाओं का पालन पोषणगर्भवती माताओं को स्वास्थ्य और पोषण आहार सुविधासुरक्षित और संस्थागत प्रसव एवं शिशु का भ्रूण लिंग परीक्षण की दिशा में की गई कार्रवाईमहिलाओं से संबंधित योजनाओं के प्रचार-प्रसार की संख्या व उसके प्रभाव का विवरणमहिलाओं और बालिकाओं के प्रति हिंसा के प्रकरणों में कमी एवं लिंगानुपात में सुधार हेतु जिला स्तरीय कार्य करने वाली संस्था एवं महिला, पुरुष इस पुरस्कार के लिए अपनी प्रविष्टि दे सकते हैं इच्छुक संस्थाएं जिला महिला सशक्तिकरण अधिकारी कार्यालय से अधिक जानकारी हेतु संपर्क कर सकते हैं।Image result for nari samman puraskar photos

जनसंपर्क, जल संसाधन एवं संसदीय कार्य मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा 25 से 27 नवंबर तक डबरा जिला ग्वालियर तथा दतिया के प्रवास पर रहेंगे। जनसंपर्क मंत्री डॉ. मिश्रा वहाँ आयोजित विभिन्न कार्यक्रमों में सम्मिलित होंगे।
जनसंपर्क मंत्री डॉ. मिश्रा 25 नवंबर को दोपहर में रेल द्वारा भोपाल से दतिया जायेंगे। डॉ. मिश्रा दतिया में रक्तदान शिविर में हिस्सा लेंगे। मंत्री डॉ. मिश्रा 26 नवंबर को दतिया जिले के ग्राम बिलौनी में सड़क निर्माण कार्य का भूमिपूजन दतिया में सांस्कृतिक कार्यक्रम में हिस्सा लेंगे। मंत्री डॉ. मिश्रा 27 नवंबर को बड़ौनकला में में सड़क निर्माण कार्य का भूमिपूजन करेंगे। जनसंपर्क मंत्री डॉ. मिश्रा इसी रात्रि दतिया से हज यात्रा के लिए जा रहे हाजियों से भेंट कर उन्हें रवाना भी करेगे                                                                  
Image result for narottam mishra photos

मंथन न्यूज़ नई दिल्ली.- मोदी सरकार में मंत्री वेंकैया नायडू ने कहा कि नोटबंदी का फैसला वापस लेने का सवाल ही नहीं है। वेंकैया बोले, "कदम वापस खींचना मोदी जी के खून में नहीं है। नोटंबदी पर फैसला वापस नहीं लिया जाएगा।" उन्होंने कहा कि मोदी का विरोध करना और उन पर आरोप लगाना आज फैशन हो गया है। मोदी का लक्ष्य है JAM...
कदम पीछे खींचना मोदी जी के खून में नहीं; पीएम का विरोध आज का फैशन: वेंकैया
- रैली के दौरान वेंकैया ने कहा कि पीएम का लक्ष्य जल्द से जल्द देश में जैम (JAM) लाना है, यानी जनधन, आधार और मोबाइल।
- उन्होंने कहा, "मोदी जी का लक्ष्य कैशलेस इकोनॉमी लाना है, जिसमें आपको सीधे किसी को कोई रुपया नहीं देना होगा।"
- "पीएम ने पहले विदेश से ब्लैक मनी लाने की कोशिश की और अब वो देश में मौजूद ब्लैक मनी को सामने ला रहे हैं।"
- नायडू बोले, "मैं ये देखकर हैरान हूं कि किस तरह से अपोजिशन हमारे खिलाफ एक हो गया, लेकिन पूरा देश हमारे साथ है।"
मैगी नहीं, बैगी की बात कर रहा हूं
- अपोजिशन पर निशाना साधते हुए वेंकैया ने कहा कि लोगों की शिकायत रहती है कि मोदी जी ना खाते हैं और ना खाने देते हैं। मैं मैगी की नहीं "बैगी' की बात कर रहा हूं। 
- वेंकैया बोले, "अपोजिशन नोटबंदी के फैसले पर देश का मूड भांपने में फेल हो गया।"
- "अपोजिशन संसद नहीं चलने दे रहा है, चर्चा नहीं कर रहा है, इसकी जगह पर वो केवल सरकार पर आरोप लगा रहा है।"
- इससे पहले पार्लियामेंट में अपोजिशन के आरोपों पर वेंकैया ने कहा कि हर चीज के लिए मोदी पर आरोप लगाना आज फैशन बन गया है।
                                                                     पूनम पुरोहित 

मंथन न्यूज़ मेंगलुरु-.नोटबंदी के चलते केंद्रीय मंत्री सदानंद गौड़ा से एक प्राइवेट हॉस्पिटल ने 500-1000 के पुराने नोट लेने से इनकार कर दिया। जिसके चलते उन्हें अपने भाई की डेडबॉडी ले जाने के लिए चेक से पेमेंट करना पड़ा। बता दें कि पीलिया के इलाज के दौरान सदानंद गौड़ा के भाई डीवी भास्कर का मंगलवार को हॉस्पिटल में निधन हो गया था। जिसके बाद फैमिली के साथ गौड़ा हॉस्पिटल पहुंचे। उन्हें 60 हजार का बिल दिया गया। हॉस्पिटल ने पुरानी करंसी में पेमेंट लेने से इनकार कर दिया। इस वजह से डेड बॉडी मिलने में काफी देरी हुई। गौड़ा इससे काफी निराश नजर आए और उन्हें चेक से बिल पेमेंट करना पड़ा। हॉस्पिटल ने नहीं मानी मिनिस्टर की बात...
सदानंद गौड़ा से पुराने नोट लेने से हॉस्पिटल का इनकार, चेक देकर लेनी पड़ी भाई की बॉडी
-मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, 10 दिन पहले पीलिया होने के बाद डीवी भास्कर (54 साल) को इलाज के लिए एडमिट कराया गया था। इलाज के दौरान उनकी मौत हो गई।
- सदानंद गौड़ा पुरानी करंसी में बिल चुकाना चाहते थे, लेकिन हॉस्पिटल मैनेजमेंट ने कहा कि 8 नवंबर से पुराने नोटों का लेन-देन बंद है।
- पर गौड़ा ने कहा," 24 तारीख तक हॉस्पिटल में पुराने नोट लिए जाने का ऑर्डर जारी किया गया है। लेकिन उनकी बात नहीं मानी गई।"
- बता दें कि सरकार ने सिर्फ सरकारी अस्पतालों के लिए पुराने नोट लेने का ऑर्डर जारी किया है, प्राइवेट इस दायरे से बाहर हैं। शायद मंत्री को इसकी जानकारी नहीं थी।
गौड़ा ने क्या कहा?
- केंद्रीय मंत्री ने इस मामले पर हॉस्पिटल मैनेजमेंट से लिखित में जानकारी मांगी है। मामले की जांच के भी ऑर्डर दिए गए हैं।
- गौड़ा ने कहा, ''अगर हॉस्पिटल पुराने नोट नहीं लेंगे तो मैं समझ सकता हूं कि मरीजों और फैमिली कोे कितनी परेशानी हो रही है।'' 
                                                                             पूनम पुरोहित 

मंथन न्यूज़ दिल्ली -नोटबंदी के खिलाफ अपोजिशन का विरोध जारी है। लोकसभा और राज्यसभा में जमकर हंगामा हुआ। पीएम लोकसभा में नजर आए, लेकिन अपोजिशन उनके बयान की मांग कर रहा है। अपोजिशन राज्यसभा में भी पीएम को बुलाने की मांग कर रहा था। तब उपसभापति ने कहा, ''ऐसी कोई परंपरा या नियम नहीं कि पीएम को बुलाया जाए। नोटबंदी का मामला वित्त मंत्रालय से जुड़ा है, मैं वित्त मंत्री को बुला सकता हूं।'' इस बीच, अपोजिशन पार्टियों ने कहा कि 28 नवंबर को देशभर में एक साथ नोटबंदी का विरोध करेंगी। संसद से लाइव अपडेट्स...
देशभर में नोटबंदी का विरोध करेगा विपक्ष; संसद में हंगामा, राज्यसभा में उपसभापति ने अपोजिशन से कहा- PM को बुलाने का नियम नहीं
- 2.32PM:राज्यसभा गुरुवार सुबह 11 बजे तक के लिए स्थगित।
- 2.31PM:पीएम को बुलाने की मांग। वेल में आकर अपोजिशन ने की नारेबाजी।
- 2.22PM: सपा नेता के कमेंट से भड़के बीजेपी के मेंबर
- सपा सदस्य नरेश अग्रवाल, ''सदन में आने के 2 हजार रुपए मिलते हैं।'' इस पर बीजेपी सदस्यों ने आवाज उठाई।
- उपसभापति ने पीजे कुरियन ने कहा, ''सदन का सभी सदस्य सम्मानित है। किसी पर ऐसी टिप्पणी नहीं की जा सकती। आपके इस शब्द को एक्सपंज किया जा रहा है।''
- हालांकि, अग्रवाल ने कहा, ''हमें 2 हजार भत्ता मिलता है। इसलिए मैं उसे बढ़ाए जाने की मांग कर रहा था।''
- पर मंत्री प्रकाश जावड़ेकर, ''यहां भत्ते के लिए नहीं आते। आपने आपत्तिजनक कमेंट किया है, इसे हटाया जाना चाहिए। ''
- 2.10PM: उपसभापति ने कहा- पीएम को नहीं बुला सकता
-नरेश अग्रवाल ने कहा,''अगर सभापति की गैरमौजूदगी में उपसभापति को सभी अधिकार है तो पीएम को क्यों नहीं बुलाते सदन में? आप चाहें तो सदन की राय ले लीजिए। पीएम को बुलाइए।''
इस पर उपसभापति ने कहा, ''नोटबंदी का मामला वित्त मंत्रालय से जुड़ा है। मैं वित्त मंत्री को बुला सकता हूं। लेकिन चेयर किसी और मंत्री या पीएम को बुलाने की मांग नहीं मान सकता। इसका कोई नियम नहीं है। ऐसी परंपरा नहीं है।''
-''मेरा अनुरोध है कि बहस शुरू कीजिए, आपको कैसे पता कि पीएम नहीं आएंगे। वो आ सकते हैं।''
- 2.05PM:सपा नेता नरेश अग्रवाल ने कहा, ''बीजेपी किराए के मेंबर लेकर आती है।'' इस पर हंगामा। बीजेपी ने जताई आपत्ति जताई।
- 02.00PM: राज्यसभा की कार्यवाही शुरू।
- 12.36PM:हंगामे के कारण लोकसभा कल तक के लिए स्थगित।
- 12.35PM:लोकसभा में मंत्री अनंत कुमार बोले, ''जनता सरकार के साथ है। सरकार काले धन पर एक दिन नहीं दो-तीन दिन तक चर्चा के लिए तैयार है। चर्चा में अपोजिशन कुछ अच्छे सुझाव देता है तो हम उसपर विचार भी करेंगे।''
- 12.25PM: वेंकैया नायडू ने कहा कि हमने ऐतिहासिक और साहसिक फैसला लिया है। नोटबंदी पर पूरा देश मोदी के साथ है। चर्चा होनी चाहिए, स्थगन का कोई सवाल ही नहीं है।
- 12.20PM: शिवसेना के सांसद ने कहा कि हम पीएम से मिले थे, उन्होंने अच्छा आश्वासन दिया।
- 12.10PM:लोकसभा में नोटबंदी पर चर्चा। अपोजिशन वोटिंग नियम वाले के तहत चर्चा की मांग कर रहा है।
- 12.00PM:हंगामे और नारेबाजी के चलते राज्यसभा की कार्यवाही स्थगित।
- 11.05AM:राज्यसभा की कार्यवाही शुरू होते ही हंगामा। लोकसभा में नोटबंदी पर चर्चा हो सकती है।
- 11.00AM:राहुल गांधी ने कहा-नोटबंदी एक घोटाला है। इसकी जांच होनी चाहिए। पीएम को सदन में आकर बयान देना होगा।
- 10.10AM:मायावती ने कहा, ''नोटबंदी के मुद्दे पर राष्ट्रपति पीएम को तलब करें। लोगों की दिक्कतों को दूर करने का निर्देश दें।''
- 9.50AM: कांग्रेस नेता मलिकार्जुन खड़गे ने कहा, ''पीएम अपना नाम कमाने में लगे हैं। जनता को हो रही असुविधा की ओर उनका ध्यान नहीं है।''
- 9.50AM: धरने में कांग्रेस के वाइस प्रेसिडेंट राहुल गांधी भी पहुंचे हैं।
- 9.40AM: संसद परिसर में गांधी मूर्ति के सामने अपोजिशन का विरोध प्रदर्शन। इसमें 13 पार्टियां हिस्सा ले रही हैं।
विरोध के लिए एकजुट हुआ विपक्ष
- बुधवार सुबह संसद परिसर में अपोजिशन पार्टियां नोटबंदी के मुद्दे पर एकजुट नजर आईं।
- 13 पार्टियों के 200 सांसदों के विरोध में उतरने का दावा किया गया।
- टीएमसी, कांग्रेस, सपा और जेडीयू के सांसद गांधीजी की मूर्ति के सामने विरोध करने पहुंचे।
राहुल गांधी ने क्या रखी 3 मांगें
- पहली मांगःकांग्रेस वाइस प्रेसिडेंट ने कहा, ''सबसे पहले हमारी मांग है कि पीएम इस देश को रिप्रजेंट करते हैं तो संसद आएं। पूरी डिबेट में बैठना चाहिए। उन्हें सुनना पड़ेगा।''
दूसरी मांगः ''हमें लगता है कि इस फैसले के पीछे एक स्कैम है। लगता है कि पीएम और उनके पार्टी प्रेसिडेंट ने अपने लोगों को पहले बताया था। जेपीसी जांच हो।''
- तीसरी मांगः ''सभी दल ब्लैकमनी के खिलाफ लड़ रहे हैं। सवाल ये है कि क्यों 100 करोड़ लोगों को परेशान किया गया? देश इस हिसाब से नहीं चल सकता। आपने इकोनॉमी को झटका दे दिया।''
- बता दें कि बीजेपी ने कहा था कि राहुल और पूरा अपोजिशन कन्फ्यूज है, समझ में ही नहीं आ रहा है कि वे क्या बोलें और उनकी मांग क्या है?
बीजेपी ने कहा- चर्चा से भाग रहा है अपोजिशन
- बीजेपी नेता संबित पात्रा ने कहा, ''कांग्रेस-अपोजिशन कन्फ्यूज हैं। पहले चर्चा की मांग कर रहे थे, हम चर्चा के लिए तैयार हैं लेकिन वो अब कुछ और कह रहे हैं। वो बातचीत के लिए तैयार नहीं हैं।''
- ''सरकार नहीं, अपोजिशन चर्चा से भाग रही है। अगर पीएम सदन में आ भी जाएंगे तो अपोजिशन कुछ और मांग करने लगेगा।''
- ''जब पार्लियामेंट चल रही हो तो हमें नियम-कानून के हिसाब से चर्चा करनी होती है।''
मंगलवार को संसद में क्या हुआ था
- नोटबंदी पर संसद के दोनों सदनों में मंगलवार को भी हंगामा हुआ। 
- लोकसभा की कार्यवाही कल तक के लिए स्थगित कर दी गई। वहीं, राज्यसभा भी कई बार स्थगित करनी पड़ी
                                                  पूनम पुरोहित 
                                                  
                                                            

मंथन न्यूज़ भोपाल -मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने आज यहाँ  आलमी तब्लीग़ी इज्तिमा की तैयारियों की समीक्षा की। उन्होंने कहा  कि इस प्रतिष्ठापूर्ण धार्मिक आयोजन में किसी प्रकार की कमी नहीं रहना चाहिए। उन्होंने कहा कि इज्तिमा का आयोजन भोपाल की शान और परंपरा के अनुरूप होना चाहिए। उल्लेखनीय है कि आगामी 26, 27 और 28 तारीख को इज्तिमा हो रहा है।

मुख्यमंत्री ने श्रद्धालुओं की सुरक्षा और सुविधा के पूरे इंतजाम करने के निर्देश दिए।
उन्होंने  रेलवे प्रशासन की  मदद से रेलवे स्टेशन पर  सहायता केंद्र स्थापित करने के निर्देश देते हुए कहा कि श्रद्धालुओं को इज्तिमा स्थल पर लाने के लिए बसों का इंतजाम होना चाहिये और जगह-जगह साइन बोर्ड लगाये जाना चाहिये ताकि श्रद्धालु बिना किसी परेशानी के इज्तिमा स्थल पहुँच सके। मुख्यमंत्री ने  इज्तिमा के दौरान चिकित्सकों और दवाइयों की व्यवस्था, रिजर्वेशन काउंटर  की स्थापना और सफाई की विशेष व्यवस्था करने के निर्देश दिए।
इज्तिमा स्थल पर अस्थाई पुलिस चौकियाँ सुरक्षा के लिए लगाई गई हैं। पुलिसकर्मियों को दो शिफ्टों में ड्यूटी पर तैनात किया जाएगा। पहली शिफ्ट में 750 जवान होंगे। कानून-व्यवस्था और ट्रैफिक के प्रबंधन के लिए सभी व्यवस्थाएँ कर ली गई हैं। इस दौरान शहर में विशेष सुरक्षा व्यवस्था की जाएगी। करीब ढाई हजार ट्रैफिक वालंटियर्स की सेवाएँ भी ली जायेंगी। दुआ के दिन विशेष व्यवस्था की जायेगी। रेल्वे स्टेशन, बस-स्टेंड एवं अन्य स्थान पर सहायता केंद्र बनाए जायेंगे। भारी वाहनों को दुआ के दिन प्रतिबंधित किया जाएगा।
लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग द्वारा पीने के पानी की पाईप लाईन बिछा दी गई है और 34 नलकूप लगाये हैं। करीब 15 लाख श्रद्धालुओं के आने का अनुमान देखते हुए पानी के इंतजाम किये गये हैं। पेयजल की 300 टंकियाँ बनाई गई हैं और 9 हजार 500 वजू स्थल बनाये गये हैं। सीवेज निष्कासन के लिये एक किलोमीटर पाईप लाईन बिछाई गई है।
लोक निर्माण विभाग ने इज्तिमा स्थल पर पहुँचने वाली सड़कों की मरम्मत कर ली है। पार्किंग स्थल विकसित किया गया है और पुलिया भी बना दी गई है। नगर निगम ने 300 टंकियों और लाईटिंग की विशेष व्यवस्था की है। ऊर्जा विभाग द्वारा दोगुनी क्षमता का ट्रांसफार्मर स्थापित किया गया है ताकि विद्युत प्रदाय में बाधा नहीं आये।
पिछड़ा वर्ग तथा अल्पसंख्यक कल्याण राज्य मंत्री श्रीमती ललिता यादव, मुख्य सचिव श्री बी.पी. सिंह, पुलिस महानिदेशक श्री आर.के. शुक्ला, कलेक्टर श्री निशांत वरवडे, नगर निगम आयुक्त श्रीमती छवि भारद्वाज, आईजी भोपाल श्री योगेश चौधरी, संबंधित विभागों के वरिष्ठ अधिकारी और इज्तिमा आयोजन समिति के श्री तारिक अहमद, श्री अतीकर्रहमान, श्री इकबाल हाफिज और मोहम्मद हफीज खान उपस्थित थे।
                                                     पूनम पुरोहित 

मंथन न्यूज़ भोपाल -मध्यप्रदेश के 12-शहडोल लोकसभा (अजजा) और बुरहानपुर जिले के 179-नेपानगर विधानसभा उप-चुनाव में भारतीय जनता पार्टी के उम्मीदवार विजयी घोषित किये गये हैं। दोनों उप-चुनाव के लिये अनूपपुर, शहडोल, उमरिया, कटनी और बुरहानपुर जिला मुख्यालय पर आज सुबह 8 बजे से मतगणना प्रारंभ हुई। सबसे पहले डाक मतपत्रों की गणना हुई। उसके बाद ईव्हीएम में प्राप्त मतों की गणना की चक्रवार की गयी। मतगणना-स्थलों पर त्रि-स्तरीय सुरक्षा व्यवस्था के बीच वोटों की गिनती का कार्य हुआ।
Image result for shivraj singh chouhan
शहडोल संसदीय क्षेत्र में भारतीय जनता पार्टी के श्री ज्ञान सिंह को 4 लाख 81 हजार 398 एवं इंडियन नेशनल कांग्रेस की सुश्री हिमाद्री सिंह को 4 लाख 21 हजार 15 मत प्राप्त हुए। इस प्रकार भारतीय जनता पार्टी के श्री ज्ञान सिंह ने इण्डियन नेशनल कांग्रेस की सुश्री हिमाद्री सिंह को 60 हजार 383 मत से पराजित किया। मतों की गिनती में गोंडवाना गणतंत्र पार्टी के श्री हीरासिंह मरकाम को 55 हजार 306 वोट मिले। नोटा के लिये 15 हजार 66 मतदाता ने बटन दबाया।
शहडोल
उम्मीदवार
राजनैतिक दल
प्राप्त मत
1-श्री परमेश्वर सिंह पोर्ते
2-सुश्री हिमाद्री दलबीर सिंह
3-श्री ज्ञान सिंह
4-श्री अमित पड़वार
5-श्री कैलाश कोल
6-श्री कृष्ण पाल सिंह पवेल
7-श्री सज्जन सिंह परस्ते
8-श्री हीरासिंह मरकाम
9-सुश्री अनुराधा पाटले
10-श्री अमरपालसिंह धुर्वे
11-श्री कोमल बैगा
12-श्री झमकलाल वनवासी
13-सुश्री पार्वती सिंह मरावी
14-भाई विमल बैगा
15-श्री रामसुन्दर बैगा
16-श्री शिवचरण पाव
17-श्री शेषराम बैगा
18-नोटा
कम्युनिस्ट पार्टी ऑफ इंडिया
इण्डियन नेशनल कांग्रेस
भारतीय जनता पार्टी
भारतीय शक्ति चेतना पार्टी
ऑल इण्डिया डेमोक्रेटिक पार्टी
लोक जनशक्ति पार्टी
अपना दल
गोंडवाना गणतंत्र पार्टी
निर्दलीय
निर्दलीय
निर्दलीय
निर्दलीय
निर्दलीय
निर्दलीय
निर्दलीय
निर्दलीय
निर्दलीय
21143
421015
481398
41398
2846
2021
3365
55306
3456
3037
3902
4711
7228
11851
9782
17198
5687
15066
जीत का अंतर-60,383
नेपानगर
नेपानगर विधानसभा उप-चुनाव में भारतीय जनता पार्टी की सुश्री मंजू दादू ने इण्डियन नेशनल कांग्रेस के श्री अंतर सिंह बर्डे को 42 हजार 198 वोट से पराजित किया1 सुश्री मंजू दादू को 99 हजार 626 एवं श्री अंतर सिंह को 57 हजार 428 वोट प्राप्त हुए।
उम्मीदवार
राजनैतिक दल
प्राप्त मत
1-श्री अन्तरसिंह बर्डे
2-सुश्री मंजू दादू
3-सुश्री रेनु पाटिल (रेवन्ता पाटिल)
4-श्री वेर सिंग
5-नोटा
इण्डियन नेशनल कांग्रेस
भारतीय जनता पार्टी
रिपब्लिकन पार्टी ऑफ इण्डिया (ए)
लोक जनशक्ति पार्टी
57428
99626
3053
1940
3223
जीत का अंतर- 42198
पिछला चुनाव
शहडोल लोकसभा सीट के लिये वर्ष 2014 के आम चुनाव में भारतीय जनता पार्टी के श्री दलपत सिंह परस्ते 55.47 प्रतिशत मत लेकर 2 लाख 41 हजार 301 वोट से विजयी रहे थे। उन्होंने इण्डियन नेशनल कांग्रेस की श्रीमती राजेश नंदिनी सिंह को पराजित किया था। नेपानगर विधानसभा के लिये वर्ष 2013 में हुए निर्वाचन में भारतीय जनता पार्टी के श्री राजेन्द्र दादू इण्डियन नेशनल कांग्रेस के श्री रामकिशन पटेल से 22 हजार 178 वोट से जीते थे। 
                                                              पूनम पुरोहित 
                                                                               

मंथन न्यूज़ भोपाल भोपाल -
मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने आज यहाँ  आलमी तब्लीग़ी इज्तिमा की तैयारियों की समीक्षा की। उन्होंने कहा  कि इस प्रतिष्ठापूर्ण धार्मिक आयोजन में किसी प्रकार की कमी नहीं रहना चाहिए। उन्होंने कहा कि इज्तिमा का आयोजन भोपाल की शान और परंपरा के अनुरूप होना चाहिए। उल्लेखनीय है कि आगामी 26, 27 और 28 तारीख को इज्तिमा हो रहा है।
मुख्यमंत्री ने श्रद्धालुओं की सुरक्षा और सुविधा के पूरे इंतजाम करने के निर्देश दिए।
उन्होंने  रेलवे प्रशासन की  मदद से रेलवे स्टेशन पर  सहायता केंद्र स्थापित करने के निर्देश देते हुए कहा कि श्रद्धालुओं को इज्तिमा स्थल पर लाने के लिए बसों का इंतजाम होना चाहिये और जगह-जगह साइन बोर्ड लगाये जाना चाहिये ताकि श्रद्धालु बिना किसी परेशानी के इज्तिमा स्थल पहुँच सके। मुख्यमंत्री ने  इज्तिमा के दौरान चिकित्सकों और दवाइयों की व्यवस्था, रिजर्वेशन काउंटर  की स्थापना और सफाई की विशेष व्यवस्था करने के निर्देश दिए।
इज्तिमा स्थल पर अस्थाई पुलिस चौकियाँ सुरक्षा के लिए लगाई गई हैं। पुलिसकर्मियों को दो शिफ्टों में ड्यूटी पर तैनात किया जाएगा। पहली शिफ्ट में 750 जवान होंगे। कानून-व्यवस्था और ट्रैफिक के प्रबंधन के लिए सभी व्यवस्थाएँ कर ली गई हैं। इस दौरान शहर में विशेष सुरक्षा व्यवस्था की जाएगी। करीब ढाई हजार ट्रैफिक वालंटियर्स की सेवाएँ भी ली जायेंगी। दुआ के दिन विशेष व्यवस्था की जायेगी। रेल्वे स्टेशन, बस-स्टेंड एवं अन्य स्थान पर सहायता केंद्र बनाए जायेंगे। भारी वाहनों को दुआ के दिन प्रतिबंधित किया जाएगा।
लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग द्वारा पीने के पानी की पाईप लाईन बिछा दी गई है और 34 नलकूप लगाये हैं। करीब 15 लाख श्रद्धालुओं के आने का अनुमान देखते हुए पानी के इंतजाम किये गये हैं। पेयजल की 300 टंकियाँ बनाई गई हैं और 9 हजार 500 वजू स्थल बनाये गये हैं। सीवेज निष्कासन के लिये एक किलोमीटर पाईप लाईन बिछाई गई है।
लोक निर्माण विभाग ने इज्तिमा स्थल पर पहुँचने वाली सड़कों की मरम्मत कर ली है। पार्किंग स्थल विकसित किया गया है और पुलिया भी बना दी गई है। नगर निगम ने 300 टंकियों और लाईटिंग की विशेष व्यवस्था की है। ऊर्जा विभाग द्वारा दोगुनी क्षमता का ट्रांसफार्मर स्थापित किया गया है ताकि विद्युत प्रदाय में बाधा नहीं आये।
पिछड़ा वर्ग तथा अल्पसंख्यक कल्याण राज्य मंत्री श्रीमती ललिता यादव, मुख्य सचिव श्री बी.पी. सिंह, पुलिस महानिदेशक श्री आर.के. शुक्ला, कलेक्टर श्री निशांत वरवडे, नगर निगम आयुक्त श्रीमती छवि भारद्वाज, आईजी भोपाल श्री योगेश चौधरी, संबंधित विभागों के वरिष्ठ अधिकारी और इज्तिमा आयोजन समिति के श्री तारिक अहमद, श्री अतीकर्रहमान, श्री इकबाल हाफिज और मोहम्मद हफीज खान उपस्थित थे।
                                                                                                        पूनम पुरोहित 

मंथन न्यूज़ भोपाल -जनसंपर्क, जल संसाधन तथा संसदीय कार्य मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने आज कानपुर के पास हुई रेल दुर्घटना में घायलों से मुलाकात की। मंत्री डॉ. मिश्रा ने दुर्घटना स्थल का जायजा लिया और घायल लोगों, विशेषकर मध्यप्रदेश के यात्रियों को उपचार के लिए अस्पताल में दाखिल करवाने की त्वरित व्यवस्था करवाई। वे दुर्घटना में मृत व्यक्तियों के पार्थिव शरीर परिजनों तक भिजवाने की व्यवस्था भी सुनिश्चित कर रहे हैं। मध्यप्रदेश के अधिकारियों के दल अमले के साथ राहत कार्यों में सक्रिय हैं।

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान से चर्चा के बाद जनसंपर्क मंत्री डॉ. मिश्रा अविलम्ब दतिया से कानपुर के‍लिए सड़क मार्ग द्वारा रवाना हुए। मंत्री डॉ. मिश्रा ने ग्वालियर और दतिया जिले के आज के अपने पूर्व निर्धारित सभी कार्यक्रम रद्द कर दिये। मंत्री डॉ. मिश्रा को आज सुबह जैसे ही इन्दौर-पटना एक्सप्रेस के कानपुर के पास दुर्घटनाग्रस्त होने की जानकारी मिली उन्होंने मुख्यमंत्री श्री चौहान से चर्चा की। दतिया, ग्वालियर और छतरपुर से अधिकारी दल तत्काल घटना स्थल के लिए रवाना हो गए। मंत्री डॉ. मिश्रा ने कलेक्टर दतिया श्री मदन कुमार और पुलिस अधीक्षक श्री इरशाद अली के अलावा 20 सदस्यीय चिकित्सक और राजस्व कर्मियों के दल को राहत कार्यों का जिम्मा सौंपा। प्रारंभिक जानकारी के अनुसार कानपुर के निकट स्वास्थ्य केन्द्र भाती, देवीपुर और पुखराया में घायल लोग भर्ती किए गए हैं। जनसंपर्क मंत्री डॉ. मिश्रा ने घायल यात्रियों से भेंट की और उन्हें हिम्मत बँधाई। अकबरपुर स्थित मरचुरी में मृतकों के शव को रखा गया है। दुर्घटना में दिवंगत उन 14 यात्रियों के परिजनों से संपर्क कर आवश्यक सहायता उपलब्ध करवाई जा रही है, जिनकी शिनाख्त हो चुकी है। घटना स्थल पर भी आवश्यक राहत कार्य निरंतर चल रहे हैं।
                                                                     पूनम पुरोहित 

 मंथन न्यूज़ भोपाल -

घायलों के इलाज की पूरी व्यवस्था की जायेगी, सरकार खर्चा उठायेगी 

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान आज सुबह कानपुर के पास इन्दौर- पटना राजेन्द्रनगर एक्सप्रेस की त्रासद दुर्घटना का दु:खद समाचार मिलते ही दोपहर को कानपुर रवाना हो गये। श्री चौहान कानपुर के हैलट अस्पताल पहुँचे जहाँ दुर्घटना में घायल यात्रियों को इलाज के लिये भर्ती किया गया है। श्री चौहान ने दुर्घटनाग्रस्त ट्रेन में यात्रा कर रहे प्रदेश के यात्रियों को हरसंभव सहायता देने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि घायलों का जीवन बचाना सर्वोच्च प्राथमिकता है। जरूरत पड़ने पर घायलों के इलाज के लिये एयर एम्‍बुलेंस की भी व्यवस्था की जायेगी। इलाज का पूरा खर्च सरकार उठायेगी। उन्होंने दुर्घटना में मृत यात्रियों के परिजनों के प्रति अपनी संवेदना व्यक्त करते हुए कहा कि सरकार इस त्रासदपूर्ण घड़ी में शोकमग्न परिवारों के साथ है।
श्री चौहान ने कहा कि जब तक राहत कार्य चलेंगे तब तक राज्य शासन के अधिकारी यहाँ कैंप करेंगे। उन्होंने मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत छतरपुर श्री चन्द्रमोहन ठाकुर को राहत कार्य समाप्त होने तक कैंप करने के निर्देश दिये ताकि घायलों और उनके परिजन की मदद हो सके। श्री चौहान ने कहा कि मृतकों के अंतिम संस्कार के लिये उन्हें घर भेजने के लिये आस-पास के क्षेत्रों से एम्बुलेंस की व्यवस्था की जायेगी। जिनके घर दूर हैं उनकी मदद के लिये रेलवे का सहयोग लिया जायेगा। उन्होंने बचाव दल से शोकमग्न परिजन की हरसंभव मदद करने को कहा। राज्य शासन द्वारा भेजे गये बचाव दल उन्हें सहयोग करेंगे।
मुख्यमंत्री श्री चौहान के निर्देश पर जनसंपर्क मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा कानपुर पहुँच गये हैं और घायल एवं मृतकों के परिजन के संपर्क में हैं। मुख्यमंत्री ने दुर्घटना में मृत प्रदेश के यात्रियों के परिजनों को दो-दो लाख रूपये और गंभीर रूप से घायलों को 50–50 हजार रूपये की सहायता राशि देने की घोषणा की है।
                                                                                                           पूनम पुरोहित 

मंथन  न्यूज़ - उत्तर प्रदेश के कानपुर देहात जिले के पुखरायां इलाके के पास आज (रविवार) तड़के 3 बजे इंदौर-पटना एक्सप्रेस के 14 डिब्बे पटरी से उतर गए। इस हादसे में अब तक 100 लोगों की मौत होने की खबर है। जबकि 150 से ज्यादा लोग घायल बताए जा रहे हैं। रेलवे अधिकारियों का कहना है कि हताहतों की संख्या बढ़ने की आशंका है। यह घटना कानपुर से करीब 100 किलोमीटर दूर पुखरायां के पास हुआ। -हादसे में ट्रेन के चार डिब्बे एस, एस2, एस3 और एस4 बुरी तरह क्षतिग्रस्त हो गए। यात्री गहरी नींद में सो रहे थे और हादसा हो गया। तेज झटका लगने से उठे यात्रियों ने खुद को क्षतिग्रस्त हो डिब्बों में फंसा पाया।
LIVE अपडेट: कानपुर के पास बड़ा ट्रेन हादसा; अब तक 100 लोगों की मौत, रेल मंत्री ने दिए जांच के आदेश, पीएम ने जताया गहरा दुख
लाइव अपडेट
- रेल राज्य मंत्री मनोज सिन्हा हादसे वाली जगह पर पहुंचे, रेस्क्यू ऑपरेशन का जायजा ले रहे हैं।
सूत्रों ने बताया कि दुर्घटना की वजह का तत्काल पता नहीं लग सका है लेकिन आशंका है कि ‘रेल फ्रैक्चर’ के कारण ये हादसा हुआ।
- कानपुर रेंज के आईजी जकी अहमद ने बताया कि इंदौर-पटना एक्सप्रेस ट्रेन हादसे में 96 लोगों की मौत, 76 यात्री गंभीर रूप से घायल और 150 अन्य मामूली तौर पर घायल हुए हैं।
- रेल मंत्री सुरेश प्रभु ट्रेन हादसे वाली जगह पर जाएंगे।
- पीएम मोदी ने भी मुआवजे का ऐलान किया। मृतकों को परिवारों को 2-2 लाख रुपये और घायलों को 50-50 हजार रुपये देने का ऐलान किया।
- मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने दुख जाहिर करते हुए मुआवजे का ऐलान किया। हादसे में मारे गए लोगों के परिजनों को 2-2 लाख रुपए और घायलों को 50-50 हजार रुपए देने का ऐलान किया।
- कानपुर देहात के पुलिस अधीक्षक प्रभाकर चौधरी ने बताया कि इंदौर-पटना रेल हादसे में 90 लोगों की जान चली गई।
- रेस्क्यू ऑपरेशन के लिए सेना बुलाई गई। सेना की टीम मौके पर। डॉक्टरों की टीम मौके पर तैनात। रेस्क्यू ऑपरेशन के लिए वाराणसी से दो और लखनऊ से एक NDRF की टीमें मौके पर पहुंची। 
- गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने हालात का जायजा लिया और राष्ट्रीय आपदा मोचन बल के महानिदेशक से मौके पर पहुंचने के लिए कहा है। गृहमंत्री ने एनडीआरएफ के प्रमुख ओ पी सिंह से राहत एवं बचाव अभियानों में रेलवे प्रशासन एवं उत्तर प्रदेश सरकार को हर मदद उपलब्ध करवाने के लिए कहा।
- उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने मुआवजे का ऐलान किया। ट्रेन हादसे में मारे गए यात्रियों के परिजनों को 5-5 लाख रुपए, गंभीर रूप से घायलों को 50-50 हजार रुपए और मामूरी रूप से घायलों को 25-25 हजार रुपए दिए जाएंगे। मुख्यमंत्री ने पुखरायां स्टेशन के पास हुई रेल दुर्घटना में यात्रियों की मृत्यु पर शोक व्यक्त करते हुए घायलों के जल्द स्वस्थ होने की कामना की है। मुख्यमंत्री ने कानपुर के मण्डलायुक्त को निर्देश दिया कि रेलवे अधिकारियों से समन्वय स्थापित कर राहत एवं बचाव कार्य युद्ध स्तर पर चलाया जाए। उन्होंने कहा कि घायलों को शीघ्र यथोचित इलाज की सुविधा उपलब्ध करायी जाए। साथ ही आवश्यकतानुसार एम्बुलेंस की व्यवस्था की जाए। अखिलेश यादव ने ये निर्देश भी दिया कि अस्पतालों में पर्याप्त संख्या में डॉक्टरों और पैरामेडिकल स्टाफ की उपलब्धता सुनिश्चित की जाए।
- रेल मंत्री सुरेश प्रभु ने मुआवजे का ऐलान किया। हादसे में मारे गए लोगों के परिजनों को 3.5-3.5 लाख रुपए और घायलों को 50-50 हजार रुपए दिया जाएगा। रेल मंत्री ट्रेन हादसे की जांच के आदेश दे दिए हैं। प्रभु ने कहा कि रेलवे सुरक्षा आयुक्त दुर्घटना के कारणों की जांच करेंगे। उन्होंने कहा ‘हादसे के पीड़ितों के लिए सभी बचाव एवं राहत कार्य जारी हैं।’ 
- रेल राज्यमंत्री मनोज सिन्हा चार वरिष्ठ रेल अधिकारियों के साथ घटनास्थल के लिए रवाना हो गए हैं। रेल राज्यमंत्री राजेन गोहैन ने कहा कि इस हादसे का कारण पटरियों में खामी हो सकता है। उन्होंने कहा ‘हमने कई सुरक्षा उपाय किए हैं जिनके चलते लंबे समय से भारतीय रेले में हमने ऐसा कोई हादसा नहीं देखा।’ गोहैन ने कहा ‘इस तरह का हादसा अकसर चालक की लापरवाही से होता था। तमाम सुरक्षा उपाय करने के बावजूद यह हादसा हुआ। यह चिंता का विषय है और हम इसके कारणों की जांच कर रहे हैं।’ उन्होंने कहा ‘पटरियों में खामी हो सकती है क्योंकि पटरियों की नियमित जांच के बावजूद 14 डिब्बे पटरी से उतरे हैं।’
- हादसे के बाद ट्रेन नंबर 12107, 11124, 19167, 11015, 11016, 12104, 12511 के रूट बदल दिए गए हैं। और ट्रेन नंबर 11123 को रद्द कर दिया गया है।रूट डायवर्ट और रद्द किए गए ट्रेनों की सूची
                                                                          पूनम पुरोहित 

मंथन न्यूज़ नई दिल्ली - प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज हुए पटना-इंदौर एक्सप्रेस हादसे में बड़ी संख्या में लोगों के मारे जाने पर गहरा अफसोस जाहिर किया और मृतकों के परिजन तथा घायलों के लिए अनुग्रह राशि का ऐलान किया है।
रेल हादसे पर पीएम मोदी ने जताया गहरा दुख, किया मुआवजे का ऐलान
प्रधानमंत्री ने एक ट्वीट में कहा, ‘पटना-इंदौर एक्सप्रेस के पटरी से उतरने के कारण हुई मौतों को लेकर हो रहे दुख को शब्दों में बयां नहीं कर सकता। मेरी संवेदनाएं शोकाकुल परिवारों के साथ हैं।’ मोदी ने कहा कि रेल मंत्री सुरेश प्रभु खुद स्थिति का निरीक्षण कर रहे हैं।
उन्होंने कहा, ‘मेरी प्रार्थनाएं इस त्रासद रेल दुर्घटना में घायल हुए लोगों के साथ हैं। मैंने सुरेश प्रभु से बात की है। वह इस स्थिति पर गहरी नजर बनाए हुए हैं।’ उन्होंने हादसे में मारे गए लोगों के परिजन के लिए प्रधानमंत्री राष्ट्रीय राहत कोष से 2-2 लाख रुपये और गंभीर रूप से घायल हुए यात्रियों के लिए 50-50 हजार रूपये देने का ऐलान किया।
कानपुर देहात जिले में पुखराया के पास आज तड़के इंदौर-पटना एक्सप्रेस के 14 डिब्बों के पटरी से उतर जाने पर 100 लोग मारे गए और करीब 226 लोग घायल हो गए।

मंथन न्यूज़ मुंबई - प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने यहां ग्लोबल सिटीजन फेस्टिवल को संबोधित करते हुए इस साल का नोबेल साहित्य पुरस्कार जीतने वाले गीतकार-गायक बॉब डिलन के प्रसिद्ध गाने ‘द टाइम्स दे आर अ-चेंजिंग’ की पंक्तियां उद्धृत करते हुए नोटबंदी के बाद देश में पैदा हुए राजनीतिक माहौल की तरफ परोक्ष इशारा किया। डिलन का यह गाना बदलाव का गीत माना जाता है।
पीएम मोदी ने डिलन के गाने को उद्धृत करते हुए कहा ‘समय बदल रहा है’
मोदी ने उपनगरीय बांद्रा कुर्ला कांप्लेक्स में कार्यक्रम के लिए जुटे हजारों लोगों को वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिये संबोधित करते हुए कहा, ‘2014 में मैंने न्यूयार्क के खूबसूरत सेंट्रल पार्क में ग्लोबल सिटीजन फेस्टिवल में शामिल होने का लुत्फ उठाया था। लेकिन इस बार मेरे (व्यस्त) कार्यक्रम ने मुझे व्यक्तिगत रूप से शामिल होने की इजाजत नहीं दी।’ 
उन्होंने कहा, ‘मेरे अपने खुद के प्रेरणास्रोत हैं। लेकिन आप संभवत: बॉब डिलन, नोरा जोन्स, क्रिस मार्टिन और ए आर रहमान से ज्यादा वाफिक होंगे।’ प्रधानमंत्री ने कहा, ‘इसलिए डिलन के बदलाव की पहचान बने एक गाने को उद्धृत करना चाहूंगा जो आज भी उतना ही महत्व रखता है जितना महत्व 1960 के दशक में पहली बार गाए जाने के दौरान था।’ 
उन्होंने 1964 में रिलीज हुए डिलन के प्रसिद्ध गाने की पंक्तियां उद्धृत करते हुए कहा, ‘कम मदर्स एंड फादर्स, थ्रूआउट द लैंड, एंड डोंट क्रिटिसाइज, वाट यू कांट अंडरस्टैंड। योर सन एंड डॉटर्स, आर बियोंड योर कमांड। योर ओल्ड रोड इज रैपिडली एजिंग। प्लीज गेट आउट ऑफ दि न्यू वन इफ यू कांट लेंड योर हैंड, फोर द टाइम्स दे आर अ-चेजिंग।’ 
मोदी ने कहा, ‘बड़ों को ज्ञान के इन शब्दों से अवश्य सीखना चाहिए।’ प्रधानमंत्री ने कहा, ‘हमें रास्ते से हट जाना चाहिए क्योंकि वास्तव में समय बदल रहा है।’ प्रधानमंत्री ने कहा, ‘कलाकारों ने हमेशा से पीढ़ियों को प्रेरित किया है। मेरे प्रिय युवा मित्रों, मैं आश्वस्त हूं कि हम एक पीढ़ी के अंदर ही एक स्वच्छ भारत का निर्माण कर सकते हैं और हम करेंगे जो कि हर तरह की गंदगी से मुक्त होगा।’ 
उन्होंने कहा, ‘आप एक उर्जा एवं आदर्शवाद लेकर आते हैं जोकि अतुलनीय है। आप वह बदलाव बन सकते हैं जो आप देखना चाहते हैं।’ मोदी ने कार्यक्रम की शुरूआत में कहा, ‘मुझे पता है कि मैं आपके और कोल्डप्ले (संगीत बैंड) के बीच में खड़ा हूं और इसलिए आपका ज्यादा समय नहीं लूंगा।’ वहां मौजूद महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने कहा, ‘युवा भारत प्रधानमंत्री को सुनने के लिए आतुर है।’ 
ग्लोबल सिटीजन फेस्टिवल इंडिया यहां के बांद्रा-कुर्ला कांप्लेक्स के एमएमआरडीए मैदान में आयोजित किया गया। समारोह में कई प्रसिद्ध अंतरराष्ट्रीय एवं भारतीय हस्तियों ने प्रस्तुति दी। इस दौरान कार्यक्रम प्रस्तुत करने वाले लोगों में कोल्डप्ले, जे-जेड, डेमी लोवाटो एवं द वैंप्स, अमिताभ बच्चन, शाहरूख खान, ए आर रहमान, रणवीर सिंह और कैटरीना कैफ शामिल थे। ग्लोबल सिटीजन फेस्टिवल शिक्षा, लैंगिक समानता, स्वच्छ जल, स्वच्छता जैसे कई क्षेत्रों में प्रभाव पैदा करने पर केंद्रित है। 2012 में इस फेस्टिवल की शुरुआत की गयी थी और ग्लोबल पोवर्टी प्रोजेक्ट के सहयोग से चलने वाले इस आंदोलन का उद्देश्य 2030 तक दुनिया से भीषण गरीबी को खत्म करना है।
                                                                 पूनम पुरोहित 

 मंथन न्यूज़ महू -अकोला से महू जाने वाली पैसेंजर ट्रेन का इंजन सनावद के पास पटरी से उतर गया लेकिन उसे नियंत्रित लिया गया है। इंजन को नियंत्रित करने में सफल होने के कारण बहुत बड़ा हादसा टल गया है। इस बात की सूचना जैसे ही रेल अधिकारियों को हुई वह सक्रिय हुए है और पूरे मामले की जानकारी लेने में जुटे हुए है।
mahu passanger train 20 11 2016
इस बीच मंथन न्यूज़  के संवाददाता ने बताया कि लोग इसके बाद ट्रेन से बाहर निकल आए हैं और सभी भगवान को धन्यवाद देते हुए दिखे। इस दुर्घटना में किसी भी प्रकार के जानमाल का नुकसान नहीं हुआ है। यात्री ट्रेन मे देरी के कारण जरूर परेशान दिखे। पुलिस भी घटना स्‍थल पर पहुंच चुकी है और पूरे मामले पर नजर बनाए हुए है।
                                    पूनमपुरोहित 

MARI themes

Blogger द्वारा संचालित.