मंथन न्यूज़ भोपाल -राष्ट्रीय रक्षा महाविद्यालय भारत सरकार नई दिल्ली के मेजर जनरल व सेना के 10 ब्रिगेडियर के साथ किया दौरा
- अफसरों ने प्रेजेंटेशन और लाइव डेमो देकर समझाई प्रक्रिया व बताई कार्यप्रणाली

Image result for डायल-100 ki picफ्रांस, इंडोनेशिया व श्रीलंका के अधिकारियों ने मंगलवार को डायल-100 सेवा को जाना। उनके साथ राष्ट्रीय रक्षा महाविद्यालय भारत सरकार नई दिल्ली के मेजर जनरल व सेना के ब्रिगेडियर भी थे। इस दौरान उन्होंने जानने का प्रयास किया कि इतनी अधिक आबादी और शिकायतों के बीच कैसे तय समय में सूचनाओं का आदान-प्रदान किया जाना संभव हो रहा है।
मेजर जनरल सुनील श्रीवास्तव, भारतीय सेना के ब्रिगेडियर स्तर के 10 अधिकारियों के साथ फ्रांस, इंडोनेशिया व श्रीलंका के एक-एक अधिकारी दो घंटे से ज्यादा समय तक यहां रहे। इस दौरान उन्होंने डायल-100 व सीसीटीवी कंट्रोल रूम देखा और कार्यप्रणाली समझी। एडीजी अन्वेष मंगलम ने सभी को डायल-100 सेवा की विस्तार से जानकारी दी। उन्होंने बताया कि यह पूरी तरह से कंप्यूटरीकृत व्यवस्था है। डायल-100 टीम ने योजना का विस्तृत प्रेजेंटेशन देते हुए संचालन प्रक्रिया का लाइव डेमो भी टीम को दिया। प्रदेश भर में करीब 18 लाख लोगों की मदद कर चुके डायल-100 को जानने के लिए यह दौरा कार्यक्रम हुआ था। इस तरह के प्रशिक्षण कार्यक्रम के तहत पहले भी यूपी समेत अन्य राज्यों की पुलिस भी दौरा कर चुकी हैं।
हर रोज आती हैं पांच हजार शिकायतें
एसपी रेडियो बीएम शाक्य ने टीम को बताया कि सेवा का शुभारंभ 1 नवंबर 2015 में हुआ था। यह 24 घंटे काम करती हैं। हर रोज कंट्रोल रूम में करीब पांच हजार शिकायतें आती हैं। इसके अलावा गश्त, गर्ल्स कॉलेज-स्कूल और बैंकों आदि में भी डायल-100 व्यवस्था बनाने का काम कर रही है। एसपी ने बताया कि दो दिन पहले ही सागर में डायल-100 के पुलिसकर्मियों ने अपनी जान पर खेलकर तालाब में डूबने से एक महिला और बच्चे को बचाया था।
सेफ सिटी मॉनिटरिंग एंड रिस्पॉन्स सेंटर का भी लिया जायजा
रक्षा अधिकारियों ने मप्र पुलिस द्वारा तैयार किए जा रहे सेफ सिटी मॉनिटरिंग एंड रिस्पॉन्स सेंटर का भी जायजा लिया। इस केंद्र में प्रदेश में दो हजार स्थानों पर लगाए जा रहे 10 हजार फिक्स्ड कैमरों, मोबाइल सर्विलेंस वाहनों एवं ड्रोन कैमरों की वीडियो फुटेज एक ही स्थान पर देखी जा सकती है। इसके चालू होने से अपराधों की रोकथाम, अपराधियों की धरपकड़ व कानून व्यवस्था बनाने में मदद मिलेगी।
                                            पूनम पुरोहित 

Image result for सीटी स्कैन ki photo
मंथन न्यूज़ भोपाल -राजधानी के जेपी अस्पताल समेत प्रदेश के सभी 20 जिला अस्पतालों में पब्लिक प्राइवेट पार्टनरशिप (पीपीपी) से सीटी स्कैन की सुविधा शुरू होगी। बाजार दर से करीब आधे रेट में मरीजों की सीटी स्कैन की जाएगी। 300 बिस्तर से ज्यादा क्षमता वाले अस्पतालों में यह सुविधा शुरू की जाएगी। इसके लिए टेंडर प्रक्रिया दोबारा की जाएगी।

स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों ने बताया कि बड़े जिला अस्पतालों में हर दिन करीब 15-20 मरीजों को सीटी स्कैन की जरूरत होती है, लेकिन सरकारी अस्पतालों में यह सुविधा नहीं होने से मरीजों को निजी जांच केन्द्रों में जाना होता है। यहां सीटी स्कैन की जांच 1600 से 2500 रुपए में होती है। मरीजों की संख्या बहुत ज्यादा नहीं होने से सरकार खुद सीटी स्कैन नहीं लगाना चाहती। लिहाजा, सरकार पीपीपी से सीटी स्कैन मशीन लगाना चाहती है। कुछ अस्पतालों में पहले से सीटी स्कैन के लिए कक्ष तैयार हैं।
स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों ने बताया कि पहले 14 जिला अस्पतालों में सीटी स्कैन मशीन पीपीपी लगाने की कवायद चल रही थी। मप्र पब्लिक हेल्थ सप्लाई कॉर्पोरशन के जरिए इसके लिए टेंडर भी कर दिए गए थे, लेकिन टेंडर में प्रति सीटी स्कैन 1780 रुपए रेट आया है। यह निजी जांच केन्द्रों की दरों के करीब है, इसलिए स्वास्थ्य विभाग दोबारा टेंडर करने जा रहा है। स्वास्थ्य संचालक डॉ. केके ठस्सू ने बताया कि दोबारा टेंडर होने के बाद ही तय हो पाएगा कि मशीन कब तक लगेंगी और रेट क्या रहेंगी।
बता दें कि प्रदेश के कुछ जिला अस्पतालों में रीजनल डायग्नोस्टिक सेंटर्स केन्द्र सरकार के सहयोग से कई साल पहले शुरू किए गए थे। हर जगह सीटी स्कैन मशीनें हैं, लेकिन कुछ जगह मशीनें पुरानी हो गई हैं तो कुछ जगह सीटी स्कैन करने के लिए रेडियोलॉजिस्ट नहीं हैं।
एक हजार रुपए तक हो सकता है रेट
सूत्रों ने बताया कि आंध्रप्रदेश के सरकारी अस्पतालों में पीपीपी से सीटी स्कैन मशीनें लगाई गई हैं। यहां पर प्रति सीटी स्कैन एक हजार रुपए रेट है। इसी आधार पर मप्र में भी दोबारा टेंडर किया जा रहा है, जिससे कम रेट पर मरीजों की सीटी स्कैन हो सके।
                                           पूनम पुरोहित 

 मंथन न्यूज़ भोपाल -राजधानी में ट्रैफिक सुधार के लिए रेतघाट स्थित रोटरी समेत ट्रैफिक सिग्नल वाले 12 चौराहों पर लगी रोटरी हटाने और 4 मार्गों को साइलेंस जोन बनाने के के संबंध में बुधवार को फैसला हो सकता है। ट्रैफिक पुलिस और नगर निगम के प्रस्तावों पर फैसले के लिए बुधवार को यातायात समिति की बैठक आयोजित की जाएगी। एडीएम जीपी माली की अध्यक्षता में यह बैठक दोपहर 3 बजे से होगी।
Related image
इन प्रस्तावों पर हो सकता है फैसला
- राजधानी में 4 स्थानों पर साइलेंस जोन बनाए जाने हैं, इनमें नर्मदा हॉस्पिटल से नेशनल हॉस्पिटल मार्ग, बोट क्लब, नूतन कॉलेज मार्ग व एक अन्य मार्ग शामिल है।
- गुरूदेव गुप्त चौराहे से बोर्ड ऑफिस चौराहे तक सड़क के बीच डिवाइडर पर ऊंची रैलिंग लगाई जानी है, जिससे ट्रैफिक के बीच सड़क पार करने के दौरान होने वाले हादसों को रोका जा सके।
- जेल पहाड़ी मार्क पर डिवाइडर बनाया जाना है। इस मार्ग पर पीक ऑवर में भारी ट्रैफिक दबाव के कारण राहगीरों को परेशानी होती है।
- राजधानी में 12 प्रमुख चौराहों पर ट्रैफिक सिग्नल लगे होने के साथ साथ रोटरी भी मौजूद हैं। यहां से रोटरी हटाई जानी है, लेकिन नेताओं की प्रतिमा लगी होने के कारण यह रोटरी नहीं हट पा रही हैं। इनमें रेतघाट स्थित भूतपूर्व राष्ट्रपति डॉ. शंकरदयाल शर्मा की प्रतिमा, रोशनपपुरा पर भूतपूर्व प्रधानमंत्री पंडित जवाहर लाल नेहरू की प्रतिमा भी शामिल है।
- शहर के अंदर मिसरोद से बैरागढ़ तक बीआरटीएस मार्ग में वाहनों की रफ्तार 40 किलोमीटर तय की जानी है।
                                                पूनम पुरोहित 

केन्द्रीय सड़क परिवहन मंत्री श्री गडकरी ने दी सैद्धांतिक सहमति
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने बताया प्रदेश के विकास के लिये महत्वपूर्ण सौगात


मंथन न्यूज़ छतरपुर -मध्यप्रदेश में दो एक्सप्रेस-वे नर्मदा एक्सप्रेस-वे और चम्बल एक्सप्रेस-वे का निर्माण किया जायेगा। नर्मदा नदी के समानान्तर अमरकंटक से गुजरात की सीमा तक लगभग 1300 किलोमीटर लम्बाई के नर्मदा एक्सप्रेस-वे का निर्माण किया जायेगा। चम्बल नदी के समानान्तर श्योपुर जिले के वीरपुर से अटेर तक बीहड़ों से होते हुए लगभग 185 किलोमीटर लम्बाई के एक्सप्रेस-वे का निर्माण किया जायेगा। इस संबंध में आज यहाँ राष्ट्रीय राजमार्गों की समीक्षा बैठक में केन्द्रीय सड़क परिवहन मंत्री श्री नितिन गडकरी ने सैद्धांतिक सहमति दी। मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि ये दोनों एक्सप्रेस-वे मध्यप्रदेश के विकास के लिये महत्वपूर्ण सौगात होंगे।
केन्द्रीय मंत्री श्री गडकरी ने कहा कि इन दोनों एक्सप्रेस-वे के लिये भूमि राज्य सरकार उपलब्ध करायेगी तथा इनका निर्माण केन्द्रीय सड़क परिवहन विभाग करवायेगा। इन एक्सप्रेस-वे के समीप नये लॉजिस्टिक पार्क और टाउनशिप कहाँ विकसित हो सकते हैं, इसकी भी योजना बनायें। उन्होंने राज्य सरकार द्वारा प्रस्तावित 2021 किलोमीटर लम्बाई के सात मार्गों को राष्ट्रीय राजमार्ग घोषित करने पर भी सहमति दी। इन मार्गों में चापड़ा से नेवरी-देवास-उज्जैन-बड़नगर- बदनावर-पेटलावद-थांदला होते हुए गुजरात सीमा तक, छिंदवाड़ा से परासिया-मटकुली- पिपरिया-बरेली-सिलवानी-गैरतगंज-बेगमगंज-राहतगढ़-खुरई से खिमलासा तक, सागर-गढ़ाकोटा-दमोह-कटनी-ब्यौहारी-मझोली से बरगवां तक, जबलपुर-जबेरा-नोहटा-दमोह-हटा-सिमरिया-अमानगंज-पन्ना-अजयगढ़ से कालिंजर तक, कुक्षी-बाघ-सरदारपुर-बदनावर-बड़नगर-इंगोरिया-उन्हेल-नागदा-जावरा तक, चाबी- शाहपुरा-उमरिया-ताला-जयसिंग नगर से छत्तीसगढ़ सीमा तक, डबरा-भितरवार- नरवर-सतनवाड़ा-शिवपुरी-गोरस तक शामिल हैं। उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय राजमार्गों पर जितने भी रेल्वे ओव्हर ब्रिज की आवश्यकता है, उनके प्रस्ताव सेतु भारतम कार्यक्रम के तहत तैयार करवाये जाये। इन राष्ट्रीय राजमार्गों पर अत्याधुनिक यातायात सिग्नल व्यवस्था बनायी जाये।
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने नये एक्सप्रेस-वे की सहमति के लिये मंत्री श्री गडकरी का आभार व्यक्त करते हुए कहा कि उनके नेतृत्व में देश में तेजी से राष्ट्रीय राजमार्गों के काम हो रहे हैं। प्रदेश में उनके विजन के अनुसार आधुनिक तकनीकी का उपयोग कर निर्माण किये जायेंगे। उक्त दोनों एक्सप्रेस-वे प्रदेश के औद्योगिक विकास के लिये महत्वपूर्ण सिद्ध होंगे।
बैठक में पूर्व में घोषित राष्ट्रीय राजमार्गों में से लगभग 2611 किलोमीटर में से 900 किलोमीटर के मजबूतीकरण के लिये करीब 493 करोड़ रूपये की स्वीकृति भी दी गयी। छतरपुर में 14 किलोमीटर के बायपास निर्माण को राष्ट्रीय राजमार्गों के अधीन सम्मिलित करने की स्वीकृति दी गई। बताया गया कि मध्यप्रदेश में पूर्व में राष्ट्रीय राजमार्गों की कुल लम्बाई 5195 किलोमीटर थी, अब 2611 किलोमीटर नये राष्ट्रीय राजमार्गों की अधिसूचना तथा 2383 किलोमीटर की सैद्धांतिक स्वीकृति मिलने से प्रदेश में राष्ट्रीय राजमार्गों की कुल लम्बाई 10 हजार 189 किलो मीटर हो गयी है। बैठक में लोक निर्माण मंत्री श्री रामपाल सिंह, वाणिज्य-उद्योग मंत्री श्री राजेन्द्र शुक्ल, मुख्य सचिव श्री बी.पी.सिंह सहित केन्द्रीय परिवहन विभाग तथा राज्य शासन के वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।
                                                                 पूनम पुरोहित 


बुंदेलखण्ड विकास में कभी पीछे नहीं रहेगा : मुख्यमंत्री श्री चौहान
नौगाँव में प्रदेश के 1386 करोड़ लागत के 220 किलोमीटर आधुनिकतम राजमार्गों का शिलान्यास
 

 मंथन न्यूज़ छतरपुर  -छतरपुर जिले के नौगाँव में आज प्रदेश को एक बड़ी सौगात मिली। केंद्रीय सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री श्री नितिन गडकरी और मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान की उपस्थिति में 1386 करोड़ 03 लाख रूपये लागत से निर्मित होने वाले 220.440 किलोमीटर के आधुनिकतम राजमार्गों का भूमि-पूजन एवं शिलान्यास हुआ। समारोह में अतिथियों ने राष्ट्रीय राजमार्गों की 3 महत्वपूर्ण परियोजनाओं का भी भूमि-पूजन एवं शिलान्यास किया।
केंद्रीय मंत्री श्री नितिन गडकरी ने कहा कि मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान के नेतृत्व में मध्यप्रदेश देश का नम्बर-1 राज्य बनेगा। प्रदेश का लगातार विकास हो रहा है। सड़कों के निर्माण से रोजगार एवं उद्योग बढ़ेंगे। उन्होंने कहा कि मध्यप्रदेश के लिये गौरव की बात है कि पिछले चार वर्ष से प्रदेश की कृषि विकास दर देश में सबसे अधिक है। उन्होंने कहा कि सड़क, बिजली, पानी, उद्योग आदि के क्षेत्र में प्रदेश तेजी से विकास कर रहा है। सड़कों के निर्माण में गुणवत्ता का विशेष ध्यान रखा जा रहा है। श्री गडकरी ने इस मौके पर मध्यप्रदेश को आने वाले 2 वर्ष में सड़क निर्माण के लिये 2 लाख करोड़ रूपये देने की घोषणा की। श्री गडकरी ने बताया कि देश की विभिन्न नदियों का जल-मार्ग में रूपांतरण किया जा रहा है, जिसमें प्रदेश की नर्मदा नदी भी शामिल है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में एक लाख करोड़ रूपये की लागत से राष्ट्रीय महामार्ग बनाये जायेंगे।
मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि बुंदेलखण्ड को विकास की दृष्टि से कभी पीछे नहीं रहने दिया जायेगा। मध्यप्रदेश में सड़कों के क्षेत्र में इतिहास रच गया है। सिंचाई के क्षेत्र में तेजी से विकास हो रहा है। इसके परिणाम स्वरूप पंजाब एवं हरियाणा को भी हम पीछे छोड़ देंगे। श्री चौहान ने कहा कि बुंदेलखण्ड में साढ़े चार लाख हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई परियोजनाएँ बनी हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि बुंदेलखण्ड को प्रदेश का सर्वश्रेष्ठ क्षेत्र बनाया जायेगा। उन्होंने शिक्षा के क्षेत्र में प्रदेश सरकार द्वारा उठाये कदमों की जानकारी देते हुए बताया कि उच्च शिक्षा के पाठ्यक्रमों में प्रवेश लेने पर सरकार द्वारा फीस की व्यवस्था की जा रही है। गरीब को मकान देने के लिये सरकार कानून बनाने जा रही है। वर्ष 2022 तक कोई भी गरीब प्रदेश में बिना मकान के नहीं रहेगा। श्री चौहान ने केन्द्रीय मंत्री श्री गडकरी से प्रदेश के 2021 किलोमीटर के विभिन्न राष्ट्रीय राजमार्ग निर्माण करवाने का आग्रह किया। श्री गडकरी ने समारोह में ही इसके लिये सहमति प्रदान की।
आज जिन परियोजनाओं की आधार-शिला रखी गयी, इनमें राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या 75/76 के खण्ड छातीपहाड़ी (मध्यप्रदेश/उत्तर प्रदेश सीमा) से खजुराहो तक के फोरलेन सड़क बनायी जायेगी। इसकी कुल लम्बाई 85.400 किलोमीटर और लागत 920.46 करोड़ रूपये है। राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या 86 अनगोर-छतरपुर मध्यप्रदेश/उत्तर प्रदेश सीमा के किलोमीटर 131 से किलोमीटर 189/4 में दो लेन के कार्य किये जायेंगे। इसकी कुल लम्बाई 44.700 किलोमीटर और लागत 178 करोड़ 23 लाख रूपये है। राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या 86 विस्तार साँची-सागर के किलोमीटर 81 से किलोमीटर 175 में टू लेन का कार्य किया जायेगा। इसकी कुल लम्बाई 90.340 किलोमीटर-लागत 287 करोड़ 34 लाख रूपये के कार्य शामिल हैं।
समारोह में पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री श्री गोपाल भार्गव, लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी मंत्री सुश्री कुसुम महेदेले, लोक निर्माण मंत्री श्री रामपाल सिंह, पिछड़ा वर्ग एवं अल्पसंख्यक कल्याण राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) श्रीमती ललिता यादव, सांसद श्री नागेन्द्र सिंह, विधायक श्री मानवेन्द्र सिंह, इंजीनियर श्री प्रदीप लारिया, श्री अनिल जैन, श्री पुष्पेन्द्र नाथ पाठक, श्री आर.डी. प्रजापति, बुंदेलखण्ड विकास प्राधिकरण के अध्यक्ष डॉ. रामकृष्ण कुसमरिया, पूर्व राज्य मंत्री श्री हरिशंकर खटीक सहित अन्य जन-प्रतिनिधि और जन-समुदाय उपस्थित था।
                                                      पूनम पुरोहित 


Image result for paras jain mp minister
मंथन न्यूज़ खडवा -हरदा जिले में 11 वें दिन 'नमामि देवि नर्मदे'-सेवा यात्रा आज धनवाड़ा से 'हर-हर नर्मदे-घर-घर नर्मदे' उदघोष के साथ शुरू हुई। इन ग्यारह दिनों में यात्रा नर्मदा तट के सभी गाँवों में पहुँची और लोगों को नर्मदा को प्रदूषण से मुक्त करवाने और उसके संरक्षण में योगदान देने का संदेश दिया। यात्रा के दौरान लोगों ने इस संदेश को अपना भरपूर समर्थन दिया और इसे एक जन अभियान का स्वरूप दिया।

धनवाड़ा से रवाना होने के बाद यात्रा का गाँव-गाँव में भव्य स्वागत किया गया। जगह-जगह पर तोरण द्वार सजे हुए थे। ग्रामीण अँचल की माताएँ-बहनें पारम्परिक वेशभूषा में सर पर कलश लेकर यात्रा की अगवानी कर रही थी। यह दृश्य बहुत ही मनोरम, मन को सुख देने वाला और श्रद्धा से ओत-प्रोत था। ग्रामीणजन कतार में खड़े होकर नर्मदा ध्वज और कलश लिए उत्साह से स्वागत कर रहे थे। सभी वर्गों के लोगों के यात्रा में शामिल होने से समरसता का संदेश भी मिल रहा था।
यात्रा के दौरान हर गाँव में ग्रामीणों द्वारा वृक्षारोपण किया जा रहा था। इससे यह संदेश मिल रहा था कि लोग पर्यावरण के प्रति जागरूक हो रहे हैं। सही मायने में यह यात्रा प्रभावी एवं सार्थक हो रही है। नर्मदा सेवा यात्रा में खंडवा जिले के प्रभारी मंत्री श्री पारस जैन एवं विधायक श्री संतोष जोशी भी यात्रा में शामिल हुए। यह यात्रा देवपुर, नागावां, पाहनपाट, चौकड़ी,िखरकया और िछपावड़ होते हुए खंडवा जिले के धनौरा में प्रवेश करेगी। यहाँ पर जिले के प्रभारी मंत्री श्री पारस जैन यात्रा की अगवानी करेंगे और जन-संवाद कार्यक्रम में शामिल होंगे।
                                       पूनम पुरोहित 

मंथन न्यूज़ -तकनीकी शिक्षा (स्वतंत्र प्रभार), स्कूल शिक्षा एवं श्रम राज्य मंत्री श्री दीपक जोशी ने गोविंदपुरा औद्योगिक क्षेत्र में प्रधानमंत्री कौशल विकास शिविर में प्रशिक्षणार्थियों को प्रमाण-पत्र वितरित किये। श्री जोशी ने आईएलएफएस सेंटर का निरीक्षण भी किया।

श्री जोशी ने कहा कि बच्चों को बेहतर प्रशिक्षण दिलवायें। उन्होंने कहा कि प्रशिक्षित बच्चों को रोजगार से जोड़ना पहली प्राथमिकता है। मध्यप्रदेश रोजगार निर्माण मण्डल के अध्यक्ष श्री हेमंत देशमुख ने कहा कि बच्चे अपने हुनर का पूरा उपयोग करें। सफल प्रशिक्षणार्थियों ने अपने अनुभव शेयर किये।
                                  पूनम पुरोहित 

मंथन न्यूज शिवपुरी। शिवपुरी की प्रभारी कलेक्टर नेहा सिंह मारव्या के   दमनात्मकपूर्ण रवैए के खिलाफ अब सभी पत्रकार संगठनों ने एकजुटता दिखाते हुए इस आंदोलन के लिए संयुक्त मोर्चा बना लिया है। अब इस संयुक्त मोर्चा के बैनर तले पत्रकार 31 जनवरी से कलेक्ट्रेट परिसर के बाहर अनिश्चितकालीन धरने पर बैठेंगे। अब पत्रकारों ने नेहा मारव्या के खिलाफ चल रहे आंदोलन को तेज करते हुए मध्यप्रदेश शासन से उनसे कलेक्टर का प्रभार वापस लेने की मांग की है। संयुक्त मोर्चा द्वारा जारी प्रेस विज्ञप्ति में कहा गया है कि 13 जनवरी को प्रभारी कलेक्टर के रूप में कमान संभालने वाली नेहा मारव्या लगातार पत्रकारों के खिलाफ दमनात्मकपूर्ण आदेश निकाल रहीं हैं। सर्वप्रथम प्रभारी कलेक्टर द्वारा पत्रकारों को जनसुनवाई में प्रतिबंधित करने का फरमान सुनाया गया उसके बाद गणतंत्र दिवस समारोह की कवरेज के लिए अनावश्यक बाधाएं उत्पन्न की गईं और हाल ही में उन्होंने पत्रकारों के लिए जिला चिकित्सालय में प्रवेश पर भी तमाम नियम कायदे लगाते हुए अघोषित प्रतिबंध सा लगा दिया है जिसके खिलाफ शिवपुरी जिले के समूचे पत्रकार एकजुट होकर उनके खिलाफ 25 जनवरी से आंदोलन करते आ रहे हैं। आंदोलन के प्रथम चरण में पत्रकारों ने 26 जनवरी पर जिला मुख्यालय सहित सभी तहसीलों में आयोजित मुख्य समारोह में भागीदारी नहीं की, बल्कि तात्याटोपे के शहीद स्थल पर गणतंत्र दिवस मनाया। साथ ही पत्रकारों ने उक्त शासकीय आयोजन की कवरेज भी नहीं की और न ही उसे प्रकाशित किया। आंदोलन के अगले चरण में पत्रकारों ने निर्णय लिया कि पत्रकार शासकीय प्रेसनोटों का बहिष्कार करेंगे। इसी बीच प्रभारी कलेक्टर ने एक नया फरमान सुनाते हुए पत्रकारों के जिला चिकित्सालय में भी प्रवेश पर अनावश्यक बाधाएं उत्पन्न कर दीं। मजबूरन आज पत्रकारों को एक बार फिर एकजुट होना पड़ा और संयुक्त मोर्चे का गठन करते हुए पत्रकारों ने अब कलेक्ट्रेट परिसर के बाहर अनिश्चितकालीन धरने का मन बना लिया है जिस संबंध में पत्रकारों ने आज अनुविभागीय अधिकारी राजस्व और पुलिस अधीक्षक शिवपुरी को एक सूचना भी प्रेषित कर दी जिसमें उन्होंने 31 जनवरी से अनिश्चितकालीन धरने की बात कही है। इस आंदोलन को समूचे जिले के पत्रकारों के साथ-साथ तमाम अन्य संगठनों का समर्थन भी प्राप्त होता दिखाई दे रहा है। 
अनावश्यक की जिद में आंदोलन हुआ तेज
प्रभारी कलेक्टर नेहा सिंह मारव्या की अनावश्यक जिद में पत्रकारों के इस आंदोलन ने न सिर्फ पत्रकारों को एकजुट कर दिया, बल्कि उनके हिटलरशाही रवैए के कारण आंदोलन और भी तेज हो गया। बीते दो दशकों से भी अधिक समय में ऐसा पहली बार देखने में आ रहा है कि पत्रकार इतनी बड़ी संख्या में एकजुट हुए हैं। पत्रकारों की प्रथम चरण में मांग सिर्फ इतनी थी कि प्रभारी कलेक्टर कलेक्ट्रेट अथवा जिला पंचायत कार्यालय से अलग सर्किट हाउस में पत्रकारों से चर्चा कर खेद प्रकट करे और आगे से पत्रकारों के खिलाफ इस तरह की कोई प्रतिबंधात्मक कार्यवाही न करें, लेकिन उनकी अनावश्यक की जिद ने आंदोलन को गति प्रदान कर दी। 

मंथन न्यूज भोपाल - मध्यप्रदेश के जनसंपर्क, जल संसाधन एवं संसदीय कार्य मंत्री और संगठन की ओर से आगामी विधानसभा चुनाव के लिए उत्तर प्रदेश के कानपुर क्षेत्र के लिए प्रभारी डॉ. नरोत्तम मिश्र ने कन्नोज, इटावा, हमीरपुर, महुआ, चरखारी, ललितपुर, झांसी में कार्यकर्ताओं को सम्बोधित किया। कार्यकर्ताओं की इन बैठकों का आयोजन गत सप्ताह हुआ।  इन बैठकों से कार्यकताओं में उत्साह का संचार हुआ।
जनसंपर्क मंत्री डॉ. मिश्र ने कांग्रेस-सपा संगठन की विसंगति, प्रधानमंत्री श्री मोदी की जनकल्याण योजनाओं और भाजपा की विकास की ललक के संबंध में कार्यकर्ताओं को अपने विचारों से अवगत करवाया। उन्होंने कार्यकर्ताओं को उत्तरप्रदेश में भाजपा की सरकार बनाने के लिए पूरी मेहनत से जुट जाने का आव्हान भी किया। उत्तरप्रदेश में बुंदेलखण्ड और कानपुर अंचल में डॉ. मिश्र अगले सप्ताह इस तरह के सम्मेलनों को सम्बोधित करेंगे।

मप्र जन अभियान परिषद के वाइस प्रेसिडेंट और बीजेपी प्रदेश कार्यसमिति सदस्य श्री राघवेन्द्र गौतम कल से दो दिवसीय शिवपुरी प्रवास पर रहेंगे। जनअभियान परिषद के जिला समन्वयक द्वारा द्वारा दी गयी जानकारी के अनुसार श्री गौतम भोपाल से सड़क मार्ग से चलकर 31 जनवरी को शिवपुरी आएंगे।1 फरबरी को श्री गौतम ग्वाल समाज के सामूहिक विवाह संम्मेलन में मुख्य अथिति के रूप में मानस भवन में भाग लेंगे।श्री गौतम बीजेपी नेता भानू दुबे तरुण अग्रवाल और पत्रकार लालू शर्मा के निवास पर जाकर शोक संवेदना व्यक्त करने जाएंगे। श्री गौतम शाम को एडवोकेट श्री अशोक अग्रवाल द्वारा आयोजित सर्व जातीय सामूहिक विवाह सम्मेलन में भाग लेंगे।2 फरवरी को श्री गौतम बैराड़ के नजदीक आदिवासी बस्ती नेहरगढ़ा में आनन्दम उत्सव के तहत वस्त्र वितरण में भाग लेंगे।आनन्द उत्सव जन अभियान परिषद और मंगलम द्वारा आयोजित किया गया है।श्री गौतम नर्मदा यात्रा के संबन्ध में स्थानीय पत्रकारों से चर्चा करेंगे

amit shah r  22 30 01 2017मंथन न्यूज़ दिल्ली -भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने कहा है कि उत्तर प्रदेश में आगामी विधानसभा चुनाव नोटबंदी नीति पर जनमतसंग्रह नहीं होगा।

उत्तर प्रदेश में सत्ता विरोधी कई मुद्दे हैं। फिर भी अगर विपक्ष इसे नोटबंदी पर जनमतसंग्रह चाहता है तो हम इसके लिए तैयार हैं।
एक टीवी चैनल से बातचीत में शाह ने कहा कि नोटबंदी के मुद्दे पर उत्तर प्रदेश की जनता भाजपा के साथ है। भाजपा अध्यक्ष ने दावा किया कि उनकी पार्टी राज्य में दो तिहाई बहुमत के साथ सत्ता में आएगी।
उन्होंने राज्य में सत्तारूढ़ समाजवादी पार्टी और मुख्यमंत्री अखिलेश यादव पर पारिवारिक झगड़े का नाटक करने का आरोप लगाया।
उन्होंने कहा कि ध्वस्त कानून-व्यवस्था के गंभीर मुद्दों और बड़े पैमाने पर भ्रष्टाचार से ध्यान हटाने के लिए ऐसा किया गया।
पार्टी के घोषणा पत्र में अचानक राम मंदिर मुद्दा शामिल करने के सवाल पर शाह ने कहा कि राम मंदिर निर्माण को लेकर भाजपा का रुख एकदम साफ है।
राम मंदिर निर्माण केवल संवैधानिक प्रावधानों के तहत होगा, चाहे वह बातचीत के जरिये हो या कोर्ट के आदेश के जरिये।
                                     पूनम पुरोहित 

smartphones market 30 01 2017
मंथन न्यूज़ दिल्ली -बजट पेश होने वाला है, ऐसे में सभी उद्योगों में उम्मीद की जा रही है कि समर्थकारी बजट आर्थिक सुधारों की पहल को दिशा देगा। ऐसे में मोबाइल हैंडसेट उद्योग को भी बजट से काफी उम्मीदें हैं।

आखिर 'कैशलेस अर्थव्यवस्था' की पहल को आगे ले जाने में इसी सेक्टर की अहम भूमिका होगी। मोबाइल फोन कैशलेस डिजिटल अर्थव्यवस्था का केंद्रीय बिंदु बन गया है। इसे उसी के लिए एक मेटा संसाधन के रूप में उपयोग किया जाना चाहिए।
गौरतलब है कि देश में अभी भी 65 प्रतिशत फीचर फोन का इस्तेमाल होता है। ऐसे में यह सरकार का प्रयास होना चाहिए कि वह स्मार्टफोन के उपयोग को बढ़ाने में उत्प्रेरक का काम करे, ताकि वास्तविक डिजिटलीकरण के लक्ष्य को प्राप्त किया जा सके।
डिजिटल अर्थव्यवस्था को अधिक लोगों तक पहुंचाने के लिए उद्योग ने हाल ही में फीचर फोन के सेगमेंट में एक समाधान की व्यवस्था की है। मगर, यह केवल यूजर बेस के विस्तार का एक सामरिक तरीका है। लंबे समय के समाधान के लिए हमें अधिक स्मार्टफोन यूजर्स की जरूरत होगी।
सरकार को स्मार्टफोन्स के लिए बहु-स्तरीय टैक्स स्लैब स्ट्रक्चर बनाना चाहिए। 10,000 रुपए तक के सस्ते स्मार्टफोन्स को कर के दायरे से बाहर रखना चाहिए। हालांकि, इसके जरिए सरकार को 69 फीसद राजस्व मिलता है। इस रेंज के फोन्स अफोर्डेबल रेंज में आता है।
वहीं, 10 हजार से 20 हजार तक के फोन वैल्यू फॉर मनी हैं। 20 से 50 हजार रुपए तक के फोन प्रीमियम श्रेणी में आते हैं, जबकि 50 हजार रुपए से अधिक के फोन सुपरप्रीमियम श्रेणी में आते हैं।
                              पूनम पुरोहित 

pm at rajghat 2017130 1289 30 01 2017मंथन न्यूज़ दिल्ली -राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की 69वीं पुण्यतिथि पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और राष्‍ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने उन्‍हें श्रद्धांजलि दी है। पीएम मोदी ने ट्वीट कर लिखा है कि पूज्य बापू की पुण्यतिथि पर उनको शत-शत नमन

इसके बाद प्रधानमंत्री राजघाट पहुंचे जहां उन्‍होंने बापू की समाधी पर पुष्‍प अर्पित किए। उनके अलावा राष्‍ट्रपति और उपराष्‍ट्रपति भी राजघाट श्रद्धांजलि देने पहुंचे।
सुबह बापू को श्रद्धांजलि देने के बाद देशभर में सुबह 11 बजे दो मिनट का मौन रख कर बापू और देश के लिए प्राण न्योछावर करने वाले शहीदों को श्रद्धांजलि दी गई। महात्मा गांधी का निधन 30 जनवरी 1948 को दिल्ली में हुआ था।
खादी ग्रामाद्योग ने गांधीजी के खादी को बढ़ावा देने के मिशन को आगे बढ़ाने के लिए एनडीएमसी के साथ मिलकर कनॉट प्लेस में विशालकाय चरखा स्थापित किया है। खादी से जुड़ी यादें ताजा करने के लिए संग्रहालय भी बनाया है।
चरखे व संग्रहालय का उनकी पुण्यतिथि (30 जनवरी) के अवसर पर संभवत: प्रधानमंत्री उद्घाटन करेंगे। चरखे के पास बापू की पहचान रहे तीन बंदर भी स्थापित किए जा रहे हैं। संग्रहालय में वर्षों पुराने करीब 100 चरखे रखे जाएंगे। चरखा स्थापित करने और संग्रहालय बनाने का काम पूरा हो गया है।
                                                पूनम पुरोहित 

मंथन न्यूज़ मुरैना  -मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि साल 2022 तक प्रदेश में जन्मे हर व्यक्ति के पास खुद का घर होगा। कोई भी गरीब बिना मकान के नहीं होगा। खुद के घर के सपने को पूरा करवाने का काम प्रदेश सरकार करेगी। इसी बजट सत्र में हर गरीब को आवासीय जमीन उपलब्ध करवाने के लिए कानून बनेगा।

मुख्यमंत्री श्री चौहान आज मुरैना जिले के रजौधा गाँव में रामकथा और कृषक हितग्राही सम्मेलन को संबोधित कर रहे थे। मुख्यमंत्री ने बताया कि प्रदेश में स्वच्छ भारत अभियान की कल्पना साकार हो रही है।
मुख्यमंत्री की घोषणाएँ
  • कैलारस शुगर मिल को प्रारंभ करवाने के प्रयास होंगे।
  • कैलारस में अगले शिक्षा सत्र से महाविद्यालय।
  • चंबल एक्सप्रेस-वे के लिए केन्द्रीय भू-तल एवं परिवहन मंत्री श्री नितिन गडकरी से होगी चर्चा।
  • पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए सड़क निर्माण होगा।
  • भर्रा गाँव में 11 केव्ही सब स्टेशन बनाया जायेगा।
कार्यक्रम में स्वास्थ्य मंत्री श्री रूस्तम सिंह, विधायक सर्वश्री सत्यपाल सिंह सिकरवार, मेहरवान सिंह रावत, दुर्गालाल विजय, कुक्कट पालन निगम के अध्यक्ष श्री मुंशीलाल, जिला पंचायत अध्यक्ष श्रीमती गीता हर्षाना, महापौर श्री अशोक अर्गल सहित ग्रामीण उपस्थित थे।
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि प्रदेश में जन्में हर गरीब को रहने के लिए आवासीय जमीन देकर उसे मालिक बनायेंगे। मकान बनाने के लिए सरकार एक लाख 20 हजार, शौचालय के लिए 12 हजार रूपये और यदि मालिक मकान बनाने के लिए स्वयं श्रम करेगा तो उसे मनरेगा की राशि देकर भी लाभान्वित किया जायेगा।
मुख्यमंत्री ने कहा कि हर गरीब बीमार व्यक्ति का इलाज सरकार करवायेगी। इसके लिए सरकार प्रत्येक जिले में स्वास्थ्य शिविर लगा रही है। मुरैना में भी 6 फरवरी से शिविर होगा। कैंसर, हार्ट, किडनी, सहित गंभीर बीमारियों का उपचार अगर राज्य के बाहर होता है तो उसका खर्च सरकार उठायेगी।
मुख्यमंत्री ने कहा कि धन के अभाव में कोई भी बच्चा बगैर पढ़े नहीं रहेगा। गरीब और सामान्य वर्ग के बच्चो की पढ़ाई का खर्च सरकार उठायेगी। आई.ए.एस., आईपीएस, आई.आई.टी., इंजीनियर, वैज्ञानिक, चिकित्सक जैसी अखिल भारतीय परीक्षाओं की तैयारियों के लिए कोचिंग का खर्च भी सरकार उठायेगी। उन्होंने कहा कि 12वीं पास कर कॉलेजों में प्रवेश लेने वाले विद्यार्थियों को स्मार्ट फोन देने का कार्य भी सरकार कर रही है। सम्मेलन को सांसद श्री अनूप मिश्रा एवं विधायक श्री सूबेदार सिंह ने भी संबोधित किया।
मुख्यमंत्री ने सोन नदी पर स्टापडेम तथा पहाड़गढ में तकनीकी परीक्षण के उपरांत तालाब बनवाने तथा देव गाँव में नवीन प्राथमिक विद्यालय खोलने की घोषणा करते हुए कहा कि एक, डेढ़, दो किलोमीटर की सभी सड़कों का निर्माण करवाया जायेगा।
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने बताया कि कृषि कार्य के दौरान किसान की किसी दुर्घटना में मृत्यु होने पर सरकार लाख रूपये की आर्थिक सहायता देगी। उन्होंने कहा कि नाबालिग बच्चियों के साथ दुष्कर्म करने वाले दुराचारी को फाँसी की सजा दिये जाने के लिए केन्द्र सरकार से मांग की जायेगी।
नशा मुक्ति अभियान चलेगा
मुख्यमंत्री ने उपस्थित जन-समूह को शराब नहीं पीने का संकल्प दिलवाया। उन्होंने बताया कि प्रदेश में नशामुक्ति अभियान चलाया जा रहा है। शराब पर प्रतिबंध से नहीं लोगों को संकल्प दिलवाकर मध्यप्रदेश को नशे से मुक्त करेंगे। उन्होंने कहा कि कोई भी शराब की नई दुकान नहीं खुलने देंगे।
हर बच्चे को स्कूल भेजे
मुख्यमंत्री ने सभी को संकल्प दिलवाया कि हर बच्चा स्कूल जाए। मुख्यमंत्री ने कहा कि मेधावी बच्चा किसी भी जाति या समुदाय का होउसकी कॉलेज फीस राज्य सरकार वहन करेगी। उन्होंने संकल्प दिलवाया कि प्रत्येक व्यक्ति एक वर्ष में एक पौधा जरूर लगाये।
शिलान्यास
श्री चौहान ने ग्राम रजौधा में रामकथा एवं कृषक हितग्राही सम्मेलन में 7 करोड 3 लाख 42 हजार रूपये की लागत से निर्मित होने वाले 60 विकास कार्यो का शिलान्यास भी किया। मुख्यमंत्री ने विभिन्न कल्याणकारी योजना के 50 हितग्राही को लगभग सवा करोड़ रूपये की मदद उपलब्ध करवाई। सम्मेलन को केन्द्रीय पंचायत राज मंत्री श्री नरेन्द्र सिंह तोमर ने अमृतसर से मोबाइल फोन से संबोधित किया।
                                                        पूनम पुरोहित 

मंथन न्यूज़ फरीदकोट -फरीदकोट के कोटकपूरा में रविवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की रैली में रैली स्थल पर पहुंचने से पहले मोदी की सुरक्षा में चूक हो गई।

narendra-modi 30 01 2017रैली स्थल पर आने वाले विशेष मेहमानों समेत सभी को विशेष सुरक्षा घेरों की गहन तलाशी से गुजरना पड़ रहा था, लेकिन इसी बीच मोदी के स्वागत के लिए खड़े कोटकपूरा के एक वरिष्ठ कार्यकर्ता ने जेब में से निकाल कर टॉफी का एक पैकेट उनसे हाथ मिला रहे प्रधानमंत्री के हाथ में थमा दिया।
कार्यकर्ता की इस हरकत से प्रधानमंत्री भी सकते में आ गए व उन्होने तुरंत वह पैकेट अपने सुरक्षा कर्मी के हाथ में पकड़ा दिया। मोदी के मंच पर जाते ही सुरक्षा कर्मी ने पैकेट थमाने वाले कार्यकर्ता को काफी फटकार लगाई।
रैली में खलल डालने का प्रयास करते 25 लोग गिरफ्तार
रैली में खलल डालने का प्रयास करने पर पुलिस ने 25 लोगों को गिरफ्तार कर लिया। चंडीगढ़ से संबंधित पर्ल्स ग्रुप की चिटफंड कंपनी के विरोध में निवेशकों ने रैली में खलल डालने का कार्यक्रम निर्धारित किया था।
                                      पूनम पुरोहित 

girl firing mp 2017130 85635 30 01 2017मंथन न्यूज़ इंदौर -राज्य सरकार ने बंदूक के लाइसेंस देने की प्रक्रिया में बदलाव किया है। अब केवल आवेदन करने से ही लाइसेंस देने पर विचार नहीं होगा। यह तभी मिलेगा जब आप बंदूक चलाने की ट्रेनिंग (मान्यता प्राप्त शूटिंग संस्थान से) लेंगे।

साथ ही दिमागी रूप से तंदुरूस्त होने का मेडिकल सर्टिफिकेट भी देना होगा। इस कारण आवेदनों की संख्या भी कम हो गई है। एडीएम अजयदेव शर्मा के मुताबिक फायरिंग की ट्रेनिंग कितने दिन की होगी, यह आदेश में स्पष्ट नहीं है। इसके लिए शासन से अभिमत मांगा गया है।
क्यों किए सख्त नियम
बंदूक के लिए लाईसेंस के लिए नई शर्तों को पूरा करने में अब लोगों के पसीने छूट रहे है। जो नई शर्तें जोड़ी गई है, वे जरुरी भी थी,क्योकि शहर में कई लोग सुरक्षा के बजाए लाइसेंसी शस्त्र रुतबे और रसूख के लिए भी रखते है और उसके लिए अफसरों पर दबाव भी बनाते है। शहर में ऐसे कुछ केस चर्चित केस भी हो चुके है। जिसमें लाइसेंसधारी ने बंदूक से खुद को गोली मारकर जिंदगी समाप्त कर ली। कुछ ऐसे केस भी हुए जिसमें बंदूक सुरक्षित नहीं रखी गई और बच्चों ने उसे चलाकर कोई हादसा कर दिया।
यह है नए नियम
- शस्त्र के लिए आवेदन के साथ अब आवेदन को चिकित्सक का प्रमाण पत्र भी प्रस्तुत करना होगा। उसके लिए मानसिक व शारीरिक जांच भी करना होगी, ताकि यह साबित हो सके कि आवेदन का दिमागी संतुलन ठीक है।
- आवेदक को मान्यता प्राप्त शूटिंग संस्थान से ट्रेनिंग का सर्टिफिकेट भी प्रस्तुत करना होगा।
- शस्त्र को सुरक्षित स्थान पर रखने के लिए शपथ पत्र भी प्रस्तुत करना होगा, ताकि गलती से बंदूक चलने के कारण हादसे की जिम्मेदारी लाइसेंसधारी पर भी तय हो सके।
                                                 पूनम पुरोहित 

shivraj singh chouhan.jpeg 29 01 2017मंथन न्यूज़ भोपाल -सुप्रीम कोर्ट में पदोन्न्ति में आरक्षण मामले की सुनवाई की तैयारी के साथ-साथ राज्य सरकार ने नए नियम बनाने की गतिविधि भी शुरू कर दी है। सामान्य प्रशासन विभाग अन्य राज्यों से बुलवाए नियमों का अध्ययन आदिम जाति अनुसंधान एवं विकास संस्थान से करा रहा है। इसकी रिपोर्ट वन मंत्री डॉ.गौरीशंकर शेजवार की अध्यक्षता में नए नियम बनाने बनी समिति के सामने रखा जाएगा। कमेटी की बैठक जल्द ही बुलाई जाएगी।

सूत्रों का कहना है कि पदोन्न्ति में आरक्षण नियम को बहाल कराने को लेकर सुप्रीम कोर्ट में लड़ रही सरकार को ये चिंता भी सता रही है कि यदि हाईकोर्ट का निर्णय ही लागू रहा तो नई व्यवस्था बनानी पड़ेगी। इसको लेकर वन मंत्री की अध्यक्षता में कमेटी गठित की थी, पर इसने नियम बनाने की ठोस पहल नहीं की है।
महाधिवक्ता कार्यालय से भी नए नियमों को लेकर मार्गदर्शन मांगा गया था, लेकिन बात आगे नहीं बढ़ी। सुप्रीम कोर्ट में अब लगातार सुनवाई होने की संभावना को देखते हुए अनुसूचित जाति-जनजाति के अधिकारियों ने सामान्य प्रशासन विभाग से नए नियम बनाने की गतिविधि तेज करने की मांग की है।
बताया जा रहा है कि इसे देखते हुए सरकार ने विभाग को अन्य राज्यों की व्यवस्था का अध्ययन करके रिपोर्ट देने के लिए कहा है। सामान्य प्रशासन विभाग के अधिकारियों का कहना है कि सुप्रीम कोर्ट में पदोन्न्ति में आरक्षण नियम के पक्ष में अन्य राज्यों के नियम भी प्रस्तुत किए गए हैं।
इन नियमों का अध्ययन भी कराया जा रहा है ताकि नए नियम बनाने की नौबत आए, तो विलंब न हो। सूत्रों का कहना है कि आदिम जाति अनुसंधान एवं विकास संस्थान 15 दिन के भीतर अपनी रिपोर्ट सामान्य प्रशासन विभाग को सौंपेगा। इसके बाद डॉ.शेजवार की अध्यक्षता में गठित समिति की बैठक बुलाई जाएगी।
                                          पूनम पुरोहित 
                      

मंथन न्यूज़ भोपाल -प्रदेश के 31 जिलों में सामाजिक न्याय विभाग के अफसरों की कमी दूर कर दी गई है। यहां जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी को अतिरिक्त प्रभार दिया गया है। अब तक इन जिलों में उपसंचालक न होने से जिले के डिप्टी कलेक्टर तो कभी सहायक संचालक या किसी अन्य अधिकारी को जिम्मेदारी सौंपी जा रही थी।
mp government 29 01 2017
सामाजिक न्याय विभाग और राजस्व विभाग के अधिकारियों की संयुक्त बैठक में इसके आदेश जारी हुए। बैठक में सामाजिक न्याय विभाग के अधिकारियों ने बताया था कि अधिकारियों की कमी के चलत 31 जिलों में दिक्कत है, इनमें ग्वालियर, रायसेन और हरदा जैसे प्रमुख जिले भी शामिल हैं।
सूत्र बताते हैं कि सामाजिक न्याय विभाग के वीके बाथम और राजस्व विभाग की नीलम शमी राव ने संयुक्त हस्ताक्षरित एक आदेश जारी किया, जिसमें जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारियों को सामाजिक न्याय विभाग का प्रभार दे दिया गया। ये आदेश उन जिलों में प्रभावी किया गया जहां कि सामाजिक न्याय विभाग के उप संचालक नहीं हैं।
                                  पूनम पुरोहित 

 मंथन न्यूज शिवपुरी -_कोलारस के ग्राम बेरखेड़ी में कोलारस पब्लिक स्कूल के संचालक अनिल ठाकुर द्वारा छात्र-छात्राओं एवं स्कूल के स्टाफ सहित पहुंचकर आदिवासी बस्ती में गरीब जरूरतमंदों को नवीन कंबल एवं गर्म वस्त्रों का वितरण किया। जैसे ही ग्रामीणों ने गर्म वस्त्रों को देखा तो उनमें खुशी की लहर दौड़ गई। इतनी भीषण सर्दी में विद्यालय परिवार एवं छात्र-छात्राओं ने उन्हें सर्दी से बचने के लिए कम्बल वितरित किए। कम्बल पाकर बुजुर्गों ने उन्हें आशीर्वाद दिया और खुशी जाहिर की। विद्यालय संचालक अनिल ठाकुर ने बताया कि गरीबों में करीब 150 नये कम्बल एवं वस्त्र वितरित किए। उन्होंने बताया कि समय-समय विद्यालय द्वारा इस तरह के कार्यक्रम आयोजित किए जाते रहते हैं और आगे भी इस तरह के कार्यक्रम विद्यालय द्वारा संचालित किए जाते रहेंगे। 

शिवम् दुबे बने भाजपा नगरमंडल itcell संयोजक-
श्रीमंत यशोधरा राजे सिंधिया (खेल मंत्री म.प्र. शासन)की अनुसंशा पर तथा सुशील रघुवंशी जी(जिलाध्यक्ष भाजपा)के नेतृत्व में नगरमंडल अध्यक्ष भानु दुबेजी द्वारा शिवम् दुबे को itcell का नगरसंयोजक नियुक्त किया

मंथन न्यूज़ शिवपुरी -अंतर्राष्ट्रीय हिन्दू सेना द्वारा रविवार को एक आवश्यक बैठक का  आयोजन किया गया। बैठक की अध्यक्षता संभागीय अध्यक्ष कमलेश शिवहरे द्वारा की गई जबकि व्यवस्थापक के रूप में अमित अष्ठाना मप्र मीडिया प्रभारी के रूप में उपस्थित थे। बैठक का उद्देश्य संगठन की गतिविधियों एवं नियमों से संगठन के पदाधिकारियों को अवगत कराना था। बैठक में संगठन का विस्तार भी किया गया जिसमें कुछ पदाधिकारियों की नियुक्तियां भी की गईं जिनमें संभागीय मीडिया प्रभारी के रूप में अजेयराज सक्सेना, जिलाध्यक्ष राकेश राठौर, जिला सह मीडिया प्रभारी नीरज दुबे (प्रिय परिषद), प्रवक्ता रानू रघुवंशी को नियुक्त किया गया है। बैठक में सभी पदाधिकारियों द्वारा पुष्पहार के द्वारा एक-दूसरे का स्वागत किया गया। बैठक के आयोजन में राजकुमार गोयल की महत्वपूर्ण भूमिका रही।
Displaying ajayraj saxena.JPG

पोहरी जनपद क्षेत्र की ग्राम पंचायत जाखनोद में कुछ समय से टी.व्ही की महामारी फैलने की घटना से अवगत होने पर देवराज सिंह किरार की स्मृति सेवा संस्थान द्वारा स्वास्थ शिविर  का आयोजन किया गया जिसमें ग्वालियर एवं शिवपुरी  से आये चिकित्सकों ने लगभग 250  से अधिक  मरीजों का स्वास्थ परीक्षण कर उन्हें  दवाईयों का वितरण भी किया।
      सेवा संस्थान की ट्रस्टी  सलोनी सिंह धाकड ने जानकारी देते हुए बताया कि  जाखनोद ग्राम में टी व्ही की महामारी फैलने की जानकारी मुझे समाचार के माध्यम से प्राप्त हुयी जाखनोद गांव की खबर देखकर मन में पीडा हुई  जिसके बाद हमने योजना बनाकर रविवार के दिन स्वास्थ शिविर  का आयोजन करने का निर्णय लिया सलोनी सिंह ने बताया की टी.व्ही की रोकथाम के लिए में ग्राम जाखनोद ग्राम को गोद लेती हु और टी.व्ही की समस्या के निदान तक इस तरह के स्वास्थ शिविरों का आयोजन रखा जाएगा जाखनोड़ ही नहीं आस पास के जिले में भी स्वास्थ शिविरों का आयोजन समय समय पर ट्रस्ट दुआरा रखा जाएगा  स्वास्थ शिविर  में जिला क्षय अधिकारी डा आषीश व्यास ने अपनी टीम के साथ उपस्थित होकर मरीजों का परीक्षण किया एवं जाॅच के नमूने भी लिये गये। टीबी के मरीजों के अलावा डा मनीश  फिजिशियन , डा रामवीर राजपूत, डॉ मेनका  डा आरकेएस धाकड हड्डी रोग विषेशज्ञ आदि ने मरीजों की जाॅच कर उन्हे दवाईयां दी गई। संस्थान द्वारा आगामी फरवरी माह के दौरान छर्च क्षेत्र में भी निशुल्क  स्वास्थ शिविर  का आयोजन किया जायेगा जिसमें मरीजों को निशुल्क जाॅच एवं दवाई उपलब्ध कराई जायेगी। इस अवसर पर भजपा जिलामंत्री प्रथ्वीराज जादौन,जिला मिडिया प्रभारी पूनम पुरोहित  मण्डल अध्यक्ष हरनारायण कुषवाह, लक्ष्मीनारायण खटीक, हरीषंकर धाकड, मुरारी धाकड, मोहन उपाध्याय, एसडीओपी अषोक घनघोरिया, प्रदीप तिवारी आदि उपस्थित रहे।

mann-ki-baat -modi ec 29 01 2017
मंथन न्यूज़ दिल्ली -प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस रविवार को इस वर्ष में पहली बार 'मन की बात' की। इसकी इजाजत चुनाव आयोग ने दी है। अपने संबोधन में उन्‍होंने देश के वीर जवानों को सलाम किया। इसके अलावा उन्‍होंने 30 जनवरी के दिन महात्‍मा गांधी पुण्‍यतिथी के मौके पर उन्‍होंने देशवासियों से बापू के सम्‍मान में दो मिनट का मौन रखने की भी अपील की है।

इसके अलावा उन्‍होंने एग्‍जाम देने वाले छात्राओं को कहा कि स्‍माइल मोर, स्‍कोर मोर। उन्‍होंने परीक्षा में जाने वाले छात्राओं को ढेराेेंं शुभकामनाएं भी दी। इसके अलावा उन्‍होंने तटरक्षक बल के जवानों को भी स्‍थापना दिवस पर बधाई दी, जो कि एक फरवरी को है।
छात्राओं को एग्‍जाम के लिए तैयार होने का टिप्‍स
आने वाले दिनों में होने वाले बोर्ड एग्‍जाम के लिए उन्‍होंने छात्राओं को इस चुनौती के लिए तैयार रहने को कहा। उन्‍होंने इसको उमंग और उत्‍साह का पर्व बताया। अपने संबोधन में उन्‍होंने कहा कि इसका दबाव कभी नहीं होना चाहिए। उन्‍होंने कहा कि जो इसको त्‍योहार मानकर आगे जाएगा वह कुछ पाएगा। अपने संबोधन में उन्‍होंने उस छात्रा का भी जिक्र किया जिसने उनसे इस विषय में सवाल पूछा था। इसके जवाब में उन्‍होंने माता-पिता से कहा कि वह आने वाले तीन चार माह के दौरान अपने बच्‍चों को उत्‍सवपूर्ण माहौल दें और बच्‍चों को बेहतर करने का मौका दें।
एपीजे अब्‍दुल कलाम का जिक्र
छात्राओं को कुछ टिप्‍स देते हुए पूर्व राष्‍ट्रपति एपीजे अब्‍दुल कलाम का भी जिक्र किया। उन्‍होंने कहा कि वह वायु सेना में फाइटर पायलट बनना चाहतेे थे। लेकिन वह उसमें सफल नहीं हो सके। यदि ऐसेे में वह मायूस हो जाते तो देश को इतना बड़ा वैज्ञानिक नहीं मिल पाता।
प्रतिस्‍पर्धा से नहीं अनुस्‍पर्धा में रखे विश्‍वास
रिचा आनंद के एक सवाल के जवाब में उन्‍होंने कहा कि जीवन में सबसे अधिक आपका ज्ञान, आपका विवेक काम आता है। उन्‍होंने कहा कि हमेशा अनुभव महत्‍वपूर्ण होता है न कि अंकों का बढ़ता क्रम। पीएम मोदी ने कहा कि अधिक अंक लाने का बोझ कभी नहीं होना चाहिए। इसलिए हमेशा ज्ञान को केंद्र में रखकर आगे बढ़ना चाहिए। जो छात्र अंकों के पीछे रहते हैं वह एक सीमित दायरे में ही उलझकर रह जाते हैं। उन्‍होंंने कहा कि जीवन को अागे बढ़ाने के लिए कभी भी कॉम्‍पटीशन काम नहीं आता है बल्कि खुद से अनुस्‍पर्धा काम आता है। यहां पर उन्‍होंने क्रिकेट के भगवान सचिन तेंदुलेकर का भी जिक्र किया। प्रतिस्‍पर्धा जहां मायूसी को जन्‍म देती है वहीं प्रतिस्‍पर्धा आत्‍म विश्‍वास को बल देती है। उन्‍होंने कहा कि अपने से लड़कर ही जीता जा सकता है।
अपेक्षाओं का बड़ा होना हमेशा ही नुकसानदेह
अपने संबोधन में उन्‍होंने एक वक्‍ता एस सुंदर का भी जिक्र किया। पीएम मोदी ने कहा कि पिता की जगह माता कहीं अधिक सरल होती है और सरल बनाती है। उन्‍होंने कहा कि अपनी क्षमताओं को पहचान कर आगे बढ़ना चाहिए। उन्‍होंने कहा कि जब हम चीजों को स्‍वीकार करना शुरू कर देते हैं तो आधी परेशानी अपने आप ही खत्‍म हो जाएगी। पीएम ने इस दौरान कहा कि अपेक्षाओं का बड़ा होना हमेशा ही नुकसानदेह होता है। उन्‍होंने अभिभावकों से कहा कि वह एग्‍जाम के दिनों में माहौल काेे हल्‍का करने की कोशिश करें।
नकल करने वालों पर चोट
अपने संबोधन में उन्‍होंने छात्राओं को नकल से सावधान रहने को कहा। उन्‍होंने कहा कि जितना वक्‍त नकल करने या इसके तौर तरीके साीखने में लगाते हैं यदि वह अपनी मेहनत में लगाए तो इससे उनका आत्‍म विश्‍वास भी जगेगा और उन्‍हें आगे बढ़ने में मदद मिलेगी। उन्‍होंने कहा कि परीक्षा में आराम, नींद और शारीरिक व्‍यायाम बेहद जरूरी है। सिर्फ पढ़ना ही जरूरी नहीं है बल्कि दूसरी ओर देखना भी जरूरी है। एग्‍जाम के दौरान भी थोड़ा ब्रेक लेना बेहद जरूरी है। यह एक नई ताजगी का संचार करता है। गहरी सांस लेना भी इन दिनों लेने से बेहद फायदा होगा और शरीर शांत हो जाएगा। इससे आप ज्‍यादा बेहतर कर सकेंगे।
वसंत पंचमी का जिक्र
अपने संबोधन में उन्‍होंने एक फरवरी को आने वाली वसंत पंचमी के लिए भी उन्‍होंने देशवासियों को बधाई दी। उन्‍होंने कहा कि पिछले माह से कई भाषाओं में आकाशवाणी ने मन की बात को प्रकाशित करने का काम किया है। इसके लिए उन्‍होंने उन्‍हें बधाई दी।
                                पूनम पुरोहित 

मंथन न्यूज़ नोएडा की रिप्पल्स इंजीनियरिंग प्रालि. कंपनी लगायेगी झील में तैरता हुआ फाउंटेन
 शहर के बड़े तालाब पर देश का सबसे बड़ा वर्ल्ड क्लास फाउंटेन लगाने का रास्ता साफ हो गया है। नोएडा की कंपनी रिप्पल्स इंजीनियरिंग प्रालि. को यह काम सौंपा गया है। नगर निगम द्वारा जारी किए गए टेंडर में दो कंपनियों के शनिवार को फाइनेंशियल बिड खोली गई।
Image result for bhopal pic इसमें बैंगलोर की फ्यूजन इवेंट प्रालि. द्वारा 6 करोड़ 83 लाख का आफर दिया गया था, जबकि नोयडा की रिप्पल्स इंजीनियरिंग प्रालि. द्वारा 6 करोड़ 54 लाख रुपए का आफर दिया गया था। निगम द्वारा न्यूनतम राशि के आधार पर रिप्पल्स इंजीनियरिंग प्रालि. नोएडा फाउंटेन लगाने का वर्कआर्डर जारी किया गया। ज्ञात हो कि निगम ने लगातार तीसरी टेंडर जारी किए थे, दो बार किसी कंपनी ने रुचि नहीं दिखाई थी लेकिन तीसरी बार निगम को सफलता मिल गई।
पानी की स्क्रीन में संगीत के साथ दिखेगा भोपाल का इतिहास
बड़े तालाब के किनारे स्थित जीवन वाटिका पार्क के पास पानी में तैरता हुआ वर्ल्ड क्लास फाउंटेन लगाया जाएगा। जो कि भारत में अब तक का सबसे बड़ा वर्ल्ड क्लास फाउंटेन होगा। फाउंटेन की विशेषता यह रहेगी कि इससे 600 वर्गफिट आकार की पानी की स्क्रीन बनेगी। इस स्क्रीन में ऋतुओं व संगीत के साथ भोपाल के इतिहास की जानकारी प्रदर्शित की जाएगी। इस पर 150 हार्स पावर क्षमता के 27 पंप लगे होंगे। एक घंटे में 400 क्यिूबिक मीटर पानी हवा में फेंका जाएगा। यह नोजल 600 वर्गफिट डी आकार की स्क्रीन बनाएगी।
40 मिनट होगा शो
फाउंटेन के माध्यम से प्रतिदिन तीन शो आयोजित किए जाएंगे। प्रत्येक शो 40 मिनट रहेगा। महापौर आलोक शर्मा ने राजधानी के सौन्दर्यीकरण और नागरिकों के मनोरंजन के लिए जीवन वाटिका पार्क के पास दर्शक दीर्घा का निर्माण कराया जाएगा। यहां 400 लोगों के बैठने की व्यवस्था होगी। शो पूरी तरह ऑटोमेटिक होगा जो एक कंप्यूटर से संचालित होगा। बारिश से पूर्व काम शुरू हो जाएगा।
                                           पूनम पुरोहित 

cm 2017129 02550 28 01 2017मंथन न्यूज़ भोपाल -'सिंहस्थ को लेकर दिल्ली से इनपुट था कि आतंकी हमले हो सकते हैं। बेहद सावधानी बरतनी होगी। ऐसे में वहां पहुंच रहे करोड़ों लोगों की चिंता बनी रही।"
सिंहस्थ संपन्न होने के करीब सात महीने बाद सख्त सुरक्षा इंतजामों को लेकर ये खुलासा किया खुद मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने। वह शनिवार को राजधानी के नेहरू नगर स्थित पुलिस लाइन में सिंहस्थ ज्योति पदक और रुस्तमजी पुरस्कार वितरण समारोह को संबोधित कर रहे थे।
इस दौरान उन्होंने सिंहस्थ में काम करने वाले 75 अधिकारियों-पुलिसकर्मियों को सिंहस्थ ज्योति पदक और 40 को रुस्तमजी पुरस्कार दिए। शेष 25 हजार पुलिसकर्मियों को सिंहस्थ ज्योति पदक जिलों में कार्यक्रम आयोजित कर दिए जाएंगे। मुख्यमंत्री ने पुलिसकर्मियों के लिए 25 हजार नए आवास बनाने की घोषणा की।
मुख्यमंत्री ने गृहमंत्री भूपेंद्र सिंह को भी पदक दिया और कहा कि वे 73 दिन तक उज्जैन में ही डटे रहे। मुख्य सचिव बीपी सिंह को भी सीएम ने सिंहस्थ ज्योति पदक दिया। कार्यक्रम के बाद मुख्यमंत्री पुलिसकर्मियों के परिजनों के बीच पहुंचे और जहां बच्चों व परिजनों ने उनके साथ सेल्फी ली। कार्यक्रम में गृहमंत्री भूपेंद्र सिंह, राजस्व मंत्री उमाशंकर गुप्ता व सहकारिता मंत्री विश्वास सारंग भी उपस्थित थे। सिंहस्थ पदक न मिलने को लेकर होमगार्ड जवानों के विरोध की बात भी सामने आई।
मीडिया का सॉफ्ट टारगेट होती है पुलिस 
पुलिसकर्मियों के काम में चुनौतियों का जिक्र करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा पुलिस का काम ऐसा होता है कि अच्छे काम की चर्चा कम और गलती हो जाए तो छाए रहते हैं। मीडिया का भी सॉफ्ट टारगेट पुलिस ही होती है।
नशे के कलंक से मप्र को मुक्त करना चाहता हूं
मुख्यमंत्री ने कहा कि वे चाहते हैं कि मप्र को नशे के कलंक से मुक्त करवा सके। उन्होंने कहा इसे लेकर डीजीपी को निर्देश दिए हैं कि वे गुजरात, बिहार का अध्ययन करवाए। मुख्यमंत्री बोले मैं आंख बंद कर कदम नहीं उठाना चाहता। सिमी आतंकियों के फरार होने के बाद पुलिस द्वारा उन्हें कुछ घंटों में की कार्रवाई की भी तारिफ की।
विषम और भ्रमित मन:स्थिति में भी काम कर रही है पुलिस 
डीजीपी ऋषि कुमार शुक्ला ने पुलिस की व्यथा दो उदाहरणों से रखी। उन्होंने कहा कि एक जनप्रतिनिधि की शिकायत थी कि एक थाना प्रभारी अवैध रेत खनन पर काईवाई नहीं कर रहे, जरूर मिलीभगत होगी, वहीं दूसरे जनप्रतिनिधि की शिकायत थी कि दूसरे थाना प्रभारी रेत खनन पर ज्यादा ही कार्रवाई कर रहे हैं, जरूर अधिक अवैध वसूली हो रही है। डीजीपी बोले इन विषम परिस्थितियों में और भ्रमित करने वाली मन:स्थिति में भी हमारे पुलिसकर्मचारी व अधिकारी मन लगाकर काम कर रहे हंै।
                             पूनम पुरोहित 

MARI themes

Blogger द्वारा संचालित.