'भुज का प्‍यार पाकर अभिभूत हूं'. पीएम मोदी ने कहा आशापुरा मां से अशीर्वाद लेना सौभाग्‍य की बात है

Image result for नरेंद्र मोदी ke pic
मंथन न्यूज़ -  गुजरात विधानसभा चुनावों के लिए सोमवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भुज से अपने प्रचार अभियान की शुरुआत की. यहां भुज में एक रैली को संबोधित करते हुए कहा कि 'भुज का प्‍यार पाकर अभिभूत हूं'. पीएम ने कहा कि 'आशापुरा मां से अशीर्वाद लेना सौभाग्‍य की बात है. मैं जनता का आशीर्वाद लेने गुजरात आया हूं. विपक्ष कीचड़ उछालता रहे, कमल खिलता ही रहेगा.' पीएम ने कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा कि 'एक तरफ विकास में विश्‍वास है तो दूसरी तरह वंशवाद है. ये चुनाव विकास के विश्‍वास और वंशवाद के खिलाफ है'. पीएम ने आगे कहा कि 'क से कच्‍छ, क से कमल होता है. कांग्रेस गुजरात तुम्‍हें कभी माफ नहीं करेगा. मैैं किसानों की मेहनत को सलाम करता हूं'. प्रधानमंत्री ने यहां उम्‍मीद जताते हुए कहा, बीजेपी गुजरात में कम से कम 151 सीटें जीतेगी.   
पीएम ने कहा कि पाकिस्‍तान की कोर्ट ने आतंकी हाफि‍ज सईद को छोड़ा तो कांग्रेस को ताली बजाने की क्‍या जरूरत है? प्रधानमंत्री ने कहा कि एक वक्‍त था जब कच्‍छ में कोई नौकरी करने के लिए आने को तैयार नहीं था. लोगों को पानी की दिक्‍कत की वजह से यहां अपना घर भी छोड़ना पड़ता था. पीएम ने कहा, कांग्रेस के नेता गुजरात की धरती पर आकर उसी के बेटे का अपमान करते हैं. कांग्रेस ने इसी तरह गुजरात के बेटे सरदार पटेल का भी अपमान किया. गुजरात के बेटों का अपमान करने की सजा जनता कांग्रेस को देगी. गुजरात मेरी आत्‍मा और भारत परमात्‍मा है. रैली सेे पहलेे पीएम नरेंद्र मोदी यहां आशापुरा माता से आशीर्वाद लेने के लिए मंदिर पहुंचे और पूजा-अर्चना की. यहां पीएम ने सुरक्षा का घेरा तोड़कर मंदिर में आए लोगों से मुलाकात की. पीएम खास तौर पर यहां बच्‍चों से मिले. पीएम मोदी कच्छ जिले के भुज शहर के बाद राजकोट के जसदान शहर, अमरेली के धारी और सूरत जिले के कडोदरा में सभा को संबोधित करेंग दरअसल, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सौराष्ट्र और दक्षिण गुजरात में आज (27 नवंबर) और 29 नवंबर को कुल मिलाकर आठ रैलियों को संबोधित करेंगे. यहां विधानसभा चुनावों के लिए प्रथम चरण में नौ दिसंबर को वोट डाले जाएंगे. प्रधानमंत्री 29 नवंबर को दक्षिण गुजरात में सोमनाथ के नजदीक मोरबी और प्राची गांवों में, भावनगर के पलीताना में और नवसारी में जनसभाओं को संबोधित करेंगे. भाजपा गुजरात में 'मोदी के करिश्मे' को आधार बनाते हुए हर सीट और एक-एक बूथ पर ध्यान केंद्रीत कर रही है और इस अभियान में पन्ना प्रमुख से जिला प्रमुख और प्रदेश एवं राष्ट्रीय नेताओं तथा मंत्री एक केंद्रीत कमान के रूप में काम कर रहे हैं. उल्‍लेखनीय है कि करीब 15 सालों में पहली बार राज्य में पीएम मोदी भाजपा का चेहरा नहीं हैं और पाटीदार नेता हार्दिक पटेल तथा पिछड़े वर्ग के नेता जिग्नेश मेवाणी एवं ठाकोर के साथ कांग्रेस की ओर से भाजपा को चुनौती दी जा रही है. ऐसे में भाजपा एक बार फिर 'मोदी मैजिक' का सहारा लेती नजर आ रही है गुजरात प्रदेश भाजपा प्रवक्ता भारत भाई पांड्या ने बताया कि हर रैली को इस तरह से आयोजित किया गया है कि आसपास के पांच-छह   विधानसभा क्षेत्रों के लोग भी इसमें शामिल हो सकें. समझा जाता है कि प्रधानमंत्री मोदी गुजरात में 25 से 30 सभाओं को संबोधित करने जा रहे हैं. भाजपा ने कांग्रेस के 'विकास पागल हो गया है' के नारे की काट के रूप में 'मैं गुजरात छू, मैं विकास छूं' के नारे पर जोर दे रही है.27 नवंबर को भाजपा के कई और प्रमुख नेता भी पहले चरण के मतदान वाले क्षेत्रों में प्रचार करेंगे. भाजपा की ओर से स्टार प्रचारकों में केंद्रीय मंत्री- राजनाथ सिंह, नितिन गडकरी, अरुण जेटली तथा सुषमा स्वराज व भाजपा शासित राज्यों के मुख्यमंत्री- योगी आदित्यनाथ, वसुंधरा राजे समेत कई अन्य नेता शामिल हैं. भाजपा नेता ने बताया कि 26-27 नवंबर को स्टार प्रचारक पहले चरण में मतदान वाली सभी 89 सीटों पर प्रचार करेंगे.उल्‍लेखनीय है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की 'मन की बात' के साथ 26 नवंबर को भाजपा का गुजरात चुनाव का प्रचार अभियान शुरू हो गया, जहां राज्य के सभी पचास हजार बूथों पर शाह समेत केंद्र के प्रमुख मंत्रियों एवं नेताओं तथा भाजपा कार्यकर्ताओं ने चाय पर लोगों के साथ मन की बात सुनी. इसी दिन शाम से पार्टी राज्य के पहले चरण की सभी 89 सीटों पर एक साथ चुनावी सभाएं कर रही है, जिनमें भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के साथ सभी प्रमुख नेता हिस्सा ले रहे हैं. 'मन की बात, चाय पे चर्चा के साथ' का आयोजन भाजपा ने ऐसे समय में किया है, जब कुछ ही दिन पहले युवा कांग्रेस ने मोदी के चाय बेचने की पृष्ठभूमि को लेकर तंज किया था हालांकि बाद में पार्टी ने इससे अपने आप को अलग कर लिया था