मप्र सहित 8 राज्यों में 100% बारिश की उम्मीद, कल से बदल सकता है मौसम का मिजाज



नई दिल्ली/भोपाल.  इस साल देशभर में जमकर बारिश होने के आसार हैं। मौसम विभाग ने बुधवार को जारी दूसरे और आखिरी पूर्वानुमान में बारिश की संभावना और बढ़ा दी है।  यह अनुमान भी जताया है कि मध्यप्रदेश, राजस्थान, उत्तरप्रदेश, जम्मू-कश्मीर, हिमाचल प्रदेश, पंजाब, हरियाणा और दिल्ली के इलाकों में 100 फीसदी तक बारिश होगी। वहीं दक्षिण भारत और उत्तर-पूर्व में बारिश सामान्य से कम रह सकती है। यह लगातार तीसरा साल है जब मानसून सामान्य रहेगा। वरिष्ठ मौसम वैज्ञानिक एके शुक्ला ने बताया कि मप्र में सिर्फ अगस्त माह में सामान्य से कम बारिश होगी।

 

जुलाई में सबसे ज्यादा तो अगस्त में कम होगी बारि

जुलाई के दौरान देशभर में एलपीए की 101%, जबकि अगस्त के दौरान 94% बारिश होने का अनुमान है। यह नौ फीसदी कम या ज्यादा रह सकती है।

 

केरल से कर्नाटक-तमिलनाडु की ओर बढ़ा मानसून 
दक्षिण-पश्चिम मानसून 3 दिन पहले केरल पहुंचा। यह लगभग पूरे केरल को कवर चुका है। मानसून अब कर्नाटक के तटीय क्षेत्रों और तमिलनाडु की ओर बढ़ रहा है। 48 घंटे के दौरान इसके उत्तर-पूर्वी राज्यों की तरफ बढ़ने की स्थितियां भी बन रही हैं। 6 जून तक गोवा और महाराष्ट्र में बारिश शुरू होने की संभावना है।

 

 भोपाल में 11 दिन बाद 43 डिग्री से नीचे आया पारा, गर्मी से राहत नहीं

- शहर में भीषण गर्मी का दौर बुधवार को भी जारी रहा। दिन में पारा 2.5 डिग्री लुढ़का। इसके बावजूद यह सामान्य से दो डिग्री ज्यादा रहा। मौसम वैज्ञानिकों का कहना है कि गुरुवार को और ऐसी ही तपिश बनी रह सकती है। अनुमान है कि एक जून से मौसम बदल सकता है। शहर में बादल छाने और गरज- चमक की स्थिति बनने की संभावना है।

 

11 दिन से दिन का तापमान 43 डिग्री पार बना हुआ

- बुधवार को दिन का तापमान 42.7 डिग्री दर्ज किया गया। 11 दिन से दिन का तापमान 43 डिग्री पार बना हुआ था। इससे पहले 18 मई को दिन का तापमान 42.2 डिग्री दर्ज किया गया था।

- बुधवार को बाजारों में दोपहर 12 बजे से शाम 5 बजे तक सन्नाटा पसरा रहा। सड़कों पर इक्का- दुक्का वहन ही नजर आए। पिछले पांच दिन से शहर ऐसा ही तप रहा है। एक दिन की मामूली राहत के बाद रात भी दो दिन से खूब तप रही है।

 

गुरुवार को शहर और ऐसा ही तप सकता है

-  बुधवार को रात का तापमान 30.6 डिग्री दर्ज किया गया। यह सामान्य से 4 डिग्री ज्यादा रहा। इसमें 0.1 डिग्री की मामूली गिरावट हुई। वरिष्ठ मौसम वैज्ञानिक एके शुक्ला ने बताया कि गुरुवार को शहर और ऐसा ही तप सकता है। इसके बाद मौसम में बदलाव होने की संभावना है।

यह है खास वजह
मौसम वैज्ञानिक शुक्ला ने बताया कि देश के उत्तरी हिस्से  हवा का रुख  पश्चिमी से बदलकर पूर्वी हो रहा है। इसे मानसून आने से पहले ईस्टरली सेट होना कहते हैं। इस वजह से तापमान में गिरावट हुई है।  

 

30 में से 28 दिन रात का तापमान सामान्य से ज्यादा

शहर में इस बार दिन के साथ रातें भी बहुत तपी। 30 में से 28 दिन तापमान सामान्य से ज्यादा रहा। मई के पहले दिन ही रात का तापमान सामान्य से 3 डिग्री ज्यादा रहा था। अगले दिन 5 डिग्री अधिक रहा। इसके बाद एक- दो दिन ही यह सामान्य रह सका।