कांग्रेस तैयार कर रही अविश्वास प्रस्ताव, मानसून सत्र हंगामेदार होने के आसार

भोपाल. विधानसभा का 25 जून से शुरू हो रहा मानसून सत्र हंगामेदार होने के आसार हैं। इस सरकार का अंतिम विधानसभा सत्र होने के कारण कांग्रेस अविश्वास प्रस्ताव लाने की तैयारी कर रही है। करीब 92 पेज के इस अविश्वास प्रस्ताव को नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह और प्रदेश कांगे्रस अध्यक्ष कमलनाथ अंतिम रूप देंगे।


चुनावी साल में कांगे्रस पूरी रणनीति के साथ काम कर रही है। अविश्वास प्रस्ताव को लेकर नेता प्रतिपक्ष, विधायकों सहित पार्टी ने काम शुरू कर दिया है। जिलेवार जानकारी जुटाई जा रही है। कांग्रेस ने सरकार के १५० से अधिक घोटालों को चिह्नित किया है।


इनमें अवैध रेत खनन, प्याज खरीदी, सार्वजनिक वितरण प्रणाली, शौचालय निर्माण, इंदिरा आवास, मनरेगा, बिजली खरीदी, बुंदेलखंड पैकेज, बांध निर्माण, पेंशन, डम्पर, फसल बीमा और भावांतर योजना, मिड-डे मील घोटाला, पौधरोपण घोटाला, यूनिफार्म खरीदी घोटाला, साइकिल घोटाला इत्यादि प्रमुख हैं।


- ये बिंदू भी होंगे शामिल
5000 करोड़ के सिंहस्थ आयोजन में करीब 3000 करोड़ का घोटाले का हुआ है। इसमें ज्यादातर सामग्री दो-तीन गुने दाम पर खरीदी गई। किसानों के नाम पर बनी सरकार में सबसे ज्यादा किसान ही परेशान है। खेती को लाभ का धंधा बनाए जाने का दावा किया गया, लेकिन यह लाभ का धंधा बनना तो दूर किसान फसल के उचित दाम के लिए आंदोलन कर रहे हैं।


आंदोलनरत किसानों पर बल प्रयोग किया। गोलीचालन में छह किसानों की मौत हुई, लेकिन दोषियों पर कोई कार्रवाई नहीं हुई। हर साल दो लाख युवाओं को रोजगार देने का वादा किया गया, लेकिन रोजगार के बजाय बेरोजगारों की संख्या में इजाफा हुआ। राज्य में बढ़ते अपराध, महिला अत्याचार, दुष्कर्म की बढ़ती घटनाओं पर भी सरकार को घेरने की तैयारी है।


सरकार के वैचारिक कुंभ में 127 करोड़ खर्च कर दिए गए। इस महाकुंभ के बहाने सरकार ने अपने बदनुमा दाग को धोने का प्रयास किया।


सरकार के काम-काज से हर वर्ग खफा है। आमजन से लगातार वादा खिलाफी की। अब यह सरकार विश्वास करने लायक भी नहीं रह गई है। जून माह में शुरू हो रहे मानसून सत्र में सरकार के खिलाफ अविश्वास लाया जाएगा।
- अजय सिंह, नेता प्रतिपक्ष विधानसभा