में पार्टी छोड़कर कहीं नही जाने वाले, मेरी अंतिम सांस भी पार्टी में निकलेगी औऱ अंतिम संस्कार तक पार्टी के झंडे में लिपटकर ही होगा - अनूप मिश्रा

शिवपुरी। अपनी ही पार्टी से नाराज चलने की खबरों के बीच मुरैना के सांसद और पूर्व मंत्री अनूप मिश्रा ने कहा है कि वे पार्टी छोड़कर कहीं नही जाने वाले, उनकी अंतिम सांस भी पार्टी में निकलेगी औऱ अंतिम संस्कार तक पार्टी के झंडे में लिपटकर ही होगा।गुना जाते वक्त शिवपुरी सर्किट हाउस में अल्प प्रवास पर रूके सांसद अनूप मिश्रा ने कुछ पत्रकारों से चर्चा में साफ कहा कि वे बीजेपी के निष्ठावान कार्यकर्ता है। 1980 से लेकर अब तक पार्टी ने उन्हें सब कुछ दिया है। उन्हें 7 चुनाव लड़ाएं हंै विधायक, मंत्री, सांसद सब कुछ बनाया मेरी निजी हैसियत पार्टी की दी हुई है , इसलिए पार्टी से अलगाव का प्रश्न स्वप्न में भी संभव नहीं है। अलबत्ता कुछ लोगो से मतभेद हो सकते है लेकिन मनभेद किसी के साथ नही है। श्री मिश्रा ने कहा कि चुनाव लड़ना न लड़ना पार्टी तय करती है। आगामी चुनाव में वे लड़ेंगे,या कहां से लड़ेंगे ये भी तय पार्टी ही करेगी,अगर पार्टी चुनाव नही भी लड़ाएगी तो एक कार्यकर्ता के रूप में पार्टी को जिताने की जिम्मेदारी पूरी तन्मयता औऱ समर्पण से करूंगा। श्री मिश्रा ने कहा कि वे अपनी बात डंके की चोट पर कहते है और अपने कहे का कभी खण्डन भी नही करते है इसलिए अक्सर उनकी बातों का अर्थ बगाबत से लगा लिया जाता है जबकि ये मेरी स्वाभगत आदत है। उन्होंने कहा की वे किसी से नाराज नही है और न उनकी नाराजगी स्थायी होती है। श्री मिश्रा ने कहाकि प्रदेश में अगली सरकार भी बीजेपी की बनेगी वह चुनाव विजयपुर से लड़ेंगे? या नही ये निर्णय पार्टी करेगी अलबत्ता उन्होंने जोड़ा की उन्हें निवाड़ी, टीकमगढ से भी लड़ने की पेशकश वहाँ के विधायकों ने की है। श्री मिश्रा ने कहाकि वे मुख्यमंत्री के कहने पर ही गुना, अशोकनगर जिलों के दौरे पर निकले है वहाँ जाकर कार्यकर्ताओं के साथ किसान, मजदूर, गरीब, तबके के लोगों के साथ बैठकर सरकार की योजनाओं की जानकारी देंगे और जनसमस्याओं को सुनेंगे। शिवपुरी पहुचने पर बीजेपी नेता भरत अग्रवाल, विनोद शर्मा, डॉ अजय खेमरिया आदि ने उनका स्वागत किया।