सीएम ने पटवारियों से कहा: 4 मांगें मंजूर लेकिन पे-ग्रेड नहीं दे पाउंगा

भोपाल। अपनी मांगों को लेकर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से पटवारी संघ के पदाधिकारियों ने सोमवार को मुलाकात की। इस दौरान पटवारियों की प्रमुख मांग पे-ग्रेड बढ़ाने पर सहमति नहीं बन सकी। सीएम ने पे-ग्रेड बढ़ाने को छोड़कर अन्य चार मांगों को पूरा करने का आश्वासन दिया है। इधर, पटवारी पे-ग्रेड बढ़ाने की मांग पर ही अड़े रहे। बता दें कि पटवारियों ने अपनी मांगों के समर्थन में हड़ताल पर जाने का ऐलान किया था। इसी सिलसिले में सीएम ने उन्हे मिलने के लिए बुलाया था। अब पटवारी संघ को तय करना है कि वो 4 मांगें पूरी होने पर संतुष्ट होता है या पे-ग्रेड के लिए हड़ताल पर जाएगा। 

जानकारी के अनुसार सीएम ने पटवारियों से कहा कि पे-ग्रेड बढ़ाने का निर्णय वित्त विभाग से होकर गुजरता है, ऐसे में इस पर कोई आश्वासन नहीं दिया जा सकता। सौहार्द्रपूर्ण वातावरण में हुई चर्चा में मुख्यमंत्री ने साफ कर दिया कि केवल चार मांगें मानी जाएंगी। जबकि पदाधिकारियों ने बताया कि संगठन की प्रमुख मांग ही पे-ग्रेड को 2100 से बढ़ाकर 2800 तक की है। पटवारी संघ मांग को लेकर जल्द बैठक करेगा। इस दौरान आगामी आंदोलनों की रणनीति तैयार की जाएगी।

इन मांगों पर बनी सहमति

पटवारियों के पद को तकनीकी पद घोषित किया जाएगा।

पटवारी पदोन्नाति में परीक्षा और प्रशिक्षण की अनिवार्यता को हटाकर डीपीसी के माध्यम से पदोन्नाति प्रक्रिया लागू होगी।

पटवारी को उसके सेवाकाल में कम से कम दो पदोन्नाति मिलेगी।

महिला एवं पुरुष पटवारियों को अन्य जिलों में स्थानांतरित करने संबंधी आदेश जारी किए जाएंगे।

वेब जीआईएस का सरलीकरण किया जाएगा।