बीजेपी को मंजूर है जदयू की शर्त, सुशील बोले- देश का चेहरा मोदी, बिहार का सिर्फ नीतीश

जनता दल यूनाइटेड की रविवार को हुई बैठक के बाद बिहार में सियासी सरगर्मी तेज हो गई है। क्योंकि जदयू ने लोकसभा चुनाव सीटों के बंटवारे को लेकर भाजपा पर अंदरूनी दबाव बनाना शुरू कर दिया है। जिसका असर जदयू की मीटिंग के एक दिन बाद ही देखने को मिला। जब बिहार के उपमुख्यमंत्री और भाजपा के वरिष्ठ नेता सुशील कुमार मोदी को मीडिया के सामने आकर मोर्चा संभालना पड़ा। और उन्होंने साफतौर पर कहा कि बिहार में एनडीए के नेता बड़े भाई नीतीश कुमार ही होंगे।  सुशील मोदी ने कहा, 'देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी है लेकिन बिहार के नेता तो नीतीश कुमार ही हैं। इसलिए बिहार में जो वोट मिलेगा वो नरेंद्र मोदी के नाम पर और नीतीश कुमार के काम के नाम पर ही मिलेगा। इसमें कोई विरोधाभास नहीं हैं।' सुशील मोदी सोमवार को बिहार में 2019 के चुनाव और टिकट बंटवारे को लेकर बोल रहे थे।  बता दें कि जदयू ने आगामी चुनाव का चेहरा नीतीश कुमार को बताया था भाजपा ने भी उसकी हां में हां मिला दिया है। बिहार में भाजपा नेता और उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी ने यह भी कहा, 'हमारे और जदयू के बीच कोई विवाद नहीं है।' उन्होंने आगे कहा कि जब दिल मिल गये तो सीट कौन सी बड़ी चीज है। हर चुनाव के अंदर कौन कितना लड़ेगा और नहीं लड़ेगा इन सीटों का हिसाब हम उस दिन करेंगे जिस दिन हमारी साथ-साथ बैठक होगी। सीटों के बंटवारे को लेकर अभी से अटकलें लगाने की जरूरत नहीं है। जिस दिन हमारी बैठक होगी उसी दिन हम हर बात और सीट बंटवारे का ऐलान कर देंगे। बता दें कि 7 जून को पटना में एनडीए की बैठक होने वाली है।  यह भी पढ़ें: जदयू की दो टूक- चुनाव लोकसभा का हो या विधानसभा, बिहार का चेहरा तो नीतीश ही रहेंगे रविवार को जेडीयू की बैठक के बाद ताजा बयान देते हुए जनता दल (यू)  के वरिष्ठ नेता पवन वर्मा ने कहा कि हां, हमने अपना चेहरा राजग गठबंधन के लिए नीतीश कुमार को रखने का फैसला लिया है लेकिन लोकसभा चुनाव को लेकर अभी हमारी कोई औपचारिक बातचीत नहीं हुई है। हमारा सिर्फ यही मानना है कि राजग में बीजेपी एक बड़ी पार्टी है। और उसे अपनी सहयोगी पार्टियों के साथ आदर और समझदारी से बात करनी चाहिए। वहीं बातों बातों में पवन वर्मा ने लोकसभा के चुनावी चेहरे के साथ अपनी पार्टी की बात भी रख दी है। उन्होंने कहा कि पार्टी को जमीनी समझ भी होनी चाहिए।      Koi vivad nahi hai. Jab dil mil gaye, to seat kaun si badi cheej hai. Har chunav ke andar kaun kitna ladega, nahi ladega, ye saara jis din baithenge, saari chijon ka aelan ho jaayega: Bihar Dy CM Sushil Modi on seat distribution b/w BJP & JD(U) for 2019 General Elections pic.twitter.com/L7NFfOK3hN — ANI (@ANI) June 4, 2018


पूर्व उपमुख्यमंत्री  तेजस्वी यादव ने भी चुटकी ली है


 2019 में होने वाले लोकसभा चुनाव को लेकर बिहार में जडयू और बीजेपी में सीट बंटवारे को लेकर चल रही माथापच्ची पर पूर्व उपमुख्यमंत्री  तेजस्वी यादव ने भी चुटकी ली है। उन्होंने ट्वीट किया है कि सुशील मोदी बतायें क्या नीतीश जी बिहार में नरेंद्र मोदी से बड़े और ज्यादा प्रभावशाली नेता है? उन्होंने कहा कि नीतीश जी के प्रवक्ता सुशील मोदी क्या अब भी JDU के हाथों अपने सबसे बड़े नेता को बेइज्जत कराते रहेंगे? नीतीश जी ने कहा था उन्होंने सुशील मोदी के कहने से भोज से मोदी जी की थाली खींची थी। बिहार में सीट बंटवारे को लेकर यह सरगर्मी रविवार को जेडीयू की बैठक के बाद शुरू हुई।  बता दें कि एनडीए की इस हफ्ते के अंत में  बैठक होनी है उससे पहले रविवार को पटना में जदयू कोर कमिटी की बैठक हुई।  इस बैठक के बाद जदयू ने बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को बिहार में एनडीए का चेहरा बताया था। नीतीश कुमार जेडीयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष भी हैं। कल हुई इस बैठक में शामिल होने के लिए राष्ट्रीय महासचिव के सी त्यागी और पवन वर्मा कल पटना पहुंचे थे। इस बैठक में बिहार में बहार के साथ चुनाव के रणनीतिकार चेहरा बन चुके प्रशांत किशोर सहित राज्य के अन्य नेताओं ने भी हिस्सा लिया। इस बैठक के बाद पवन वर्मा ने बताया था कि बिहार में राजग का चेहरा नीतीश कुमार ही रहेंगे। पटना में आगामी 7 जून को बीजेपी नेतृत्व वाली एनडीए की बैठक होने वाली है। बताया जा रहा है कि इस बैठक में 2019 लोकसभा चुनाव के लिए राज्य की रणनीति और टिकट बंटवारे को लेकर चर्चा होगी।