सिंधिया का पलटवार : झा अपने सवालों का जवाब मेरी दोनों बुआ से मांग लें

भोपाल। जमीन पर अवैध अतिक्रमण किए जाने के प्रभात झा के आरोपों पर ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा कि प्रभात जी शिवपुरी की जिस जमीन की बात कर रहे हैं उसमें 100 साल से मेरे पूर्वजों की अस्थियां हैं। यदि उन्हें सवाल पूछना ही था तो वे मेरी दादी से पूछ लेते, अभी भी समय हैं। मेरी एक बुआ राजस्थान की मुख्यमंत्री हैं और दूसरी मध्यप्रदेश सरकार में मंत्री हैं। उनसे यही सवाल पूछ लें, उन्हें जवाब मिल जाएगा। सिंधिया ने शनिवार को यहां मीडिया से चर्चा करते हुए यह बात कही।

उन्होंने कहा कि मध्यप्रदेश में हर वर्ग परेशान है। प्रदेश में एक के बाद एक घोटाला उजागर हो रहा है। अब इ-टेंडर गड़बड़ी सामने आई है। कांगे्रस सरकार बनी तो एक-एक मामले की जांच की जाएगी। दस दिन में किसानों का कर्ज माफ होगा।

वर्तमान व्यवस्था समाप्त कर मण्डी में किसानों को नगद राशि का भुगतान होगा। एक सवाल पर उन्होंने कहा कि मंदसौर में किसान आंदोलन के दौरान गोली चली, आधा दर्जन किसानों की मौत हुई लेकिन जांच में सभी को क्लीनचिट मिल गई। तो फिर जिम्मेदार मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ही हैं।

बसपा और सपा से गठबंधन की चर्चाओं पर कहा कि गठबंधन सिर्फ चुनाव जीतने के लिए नहीं होना चाहिए। बल्कि चुनाव के बाद भी साथ रहें, उन्हीं से गठबंधन होगा। उन्होंने आश्चर्य व्यक्त किया कि अफसरों को विधायकों की बैठक में बुलाया जा रहा है। अफसर विधानसभा में बुलाए जाएं तो सभी दलों की विधायक प्रजेंटेशन देख सकें, तो बेहतर होगा।

अब नहीं चलेगी जुमलेबाजी -
उन्होंने कहा कि अब जुमलेबाजी नहीं चलेगी। सरकार युवाओं को नहीं दे पा रही है प्रधानमंत्री पकौड़े तलने की बात करतते हैं। इनवेस्टर समिट में खाओ खिलाओ की बात होती है, अनाब-शनाब खर्च हो रहा है लेकिन उद्योग नहीं आ रहे हैं। यह सरकारी धन की बर्वादी है। उन्होंने कहा कि पहली बार देखा है कि सत्तापक्ष सदन की कार्यवाही नहीं चलने दे रहा है। अब तो नरेन्द्र मोदी और शिवराज तय करेंगे कि सदन की कार्यवाही कितने समय चले।