मोदी अन्तराष्ट्रीय नेता, तो समाज में तेहरवीं का कोई प्रचलन नहीं, राजा दशरथ की भी कहां हुई - प्रभारी मंत्री


विलेज टाइम्स समाचार सेवा।
म.प्र. शिवपुरी। केन्द्र सरकार के 4 वर्ष और शिवराज सरकार के 14 वर्ष की उपलब्धियों दावें नहीं प्रमाण प्रस्तुत करने शिवपुरी कलेक्ट्रेट सभा हॉल में आयोजित प्रेस कॉन्फ्र्रेन्स में शिवपुरी जिले को प्रभारी मंत्री ने कहा कि मोदी अब केवल देश के ही नहीं, बल्कि अन्तराष्ट्रीय स्तर के नेता है। उनके नेतृत्व वाली केन्द्र सरकार लोककल्याणकारी योजनाओं में अग्रणीय है। जिसमें युवा ऊर्जा से बदलता देश, बदलता जीवन सवरता कल, तेज तरक्की की रफ्तार, पिछड़ों की अपनी सरकार किसान, सम्पन्नता, बढ़ती अर्थव्यवस्था, भ्रष्टाचार पर लगाम, पारदर्शी काम, अच्छा स्वास्थ्य, विकास के नये आयाम, नारी शक्ति, न्यू इंडिया सहित शिवराज सरकार के 2003 से 2017 तक के दावे ही नहीं, प्रमाण गिनाये जिसमें कृषि कर्मक पुरुस्कार, वित्तीय प्रबंधन, महिला सशक्तिकरण, सरप्लस बिजली, स्वास्थ्य सुविधाओं का विस्तार, सामाजितक आर्थिक बेहतरी, उच्च शिक्षा, सड़क, गुणवत्ता पूर्ण स्कूली शिक्षा के विस्तार से आंकड़े गिनाये।
          तो वहीं उन्होंने विकास, कल्याण, सेवा के कुछ उदाहरण भी बताये। जिसमें उन्होंने मुरैना सहित हरदा, होशागांबाद, भोपाल सहित कृषि, सिंचाई, बिजली, सड़क, शिक्षा, स्वास्थ्य के क्षेत्र में हुये कार्यो को अभूतपूर्व बताया। मगर वह पत्रकारों द्वारा उठाये गये प्रमाणिकता के मुद्दों पर सहज और सवालों के साथ नजर आये। मगर जब उनसे पूछा गया कि हाल ही में मुख्यमंत्री द्वारा गरीब लोगों की अतेष्ठी हेतु आर्थिक मदद की सराहनीय घोषणा की गई है। क्या सरकार भविष्य में तेरहीं, पटा, पिण्ड दान योजना भी लाने वाली है। इस पर मुखर मंत्री ने कहा कि गरीब का मजाक नहीं बनाना चाहिए और बैसे भी तेरहीं का प्रचलन समाज में नहीं है और राजा दशरथ की भी तेहरवीं कहा हुई थी। आपको नहीं पता कि जब किसी गरीब का कोई मरता है तो कितना दर्द होता है। अगर उसे कफन की व्यवस्था हो जाये तो उसे बड़ी बात होती है। और मंत्री जी उठकर चलते बने।
      बहरहाल इस बीच शिवपुरी की जल समस्या का मामला पत्रकारों द्वारा उठाया गया जिस पर मंत्री ने कुछ मुद्दों पर सहमति जताते हुये शहर वासियों को सबसे पहले पेयजल उपलब्ध कराने की प्राथमिकता गिनाई और जरुरी हुआ तो आवश्यक कार्यवाहीं करने की भी बात कहीं।