भोपाल: 27 महीने में पूरा होगा एम्स से लेकर सुभाष नगर तक का एलिवेटेड रूट

भोपाल.  भोपाल मेट्रो का पहला टेंडर ओपन हो गया है। एम्स से सुभाष नगर तक 6.225 किमी का एलिवेटेड रूट 247 करोड़ रुपए में बनेगा। हाईवे निर्माण कंपनी दिलीप बिल्डकॉन लिमिटेड की निविदा सबसे न्यूनतम पाई गई है। अब टेंडर कमेटी की बैठक के बाद कंपनी को वर्क ऑर्डर दिया जाएगा। इसमें करीब 15 दिन का समय लग सकता है। कंपनी को रूट की टेक्निकल ड्राइंग डिजाइन भी तैयार करनी है। ऐसे में जमीन पर काम शुरू होने में तीन महीने का समय लगेगा।

यानी दिसंबर में काम शुरू हो सकता है। यह काम पूरा करने के लिए 27 महीने का समय तय किया गया है। इस बीच अन्य टेंडर भी जारी होंगे। यदि सब कुछ तय शेड्यूल के अनुसार हुआ तो 2021 तक मेट्रो की शुरुआत हो सकती है।

मेट्रो रूट के सिविल वर्क में एम्स से सुभाष नगर तक 6.225 किमी तक ओवरब्रिज जैसा स्ट्रक्चर बनाया जाएगा। इसमें अभी मेट्रो स्टेशन शामिल नहीं है, लेकिन स्टड फार्म पर बनने वाले डिपो से एंट्री और एक्जिट का काम इसमें शामिल है।

 

यह काम बाकी... मेट्रो रेल कंपनी के पक्ष में जमीन भी ट्रांसफर होनी है

भोपाल मेट्रो प्रोजेक्ट को अभी केंद्र सरकार की औपचारिक स्वीकृति नहीं मिली है, हालांकि पिछले महीने सैद्धांतिक सहमति मिल चुकी है। इसके साथ ही मेट्रो रेल कंपनी के पक्ष में जमीन भी ट्रांसफर होना है। इसके अलावा केंद्र सरकार की गाइडलाइन के अनुसार भोपाल के मास्टर प्लान में टीओडी को शामिल करने की औपचारिकता भी अभी पूरी नहीं हुई है। केंद्र सरकार ने 10 लाख तक की आबादी वाले शहरों में मेट्रो की अनुमति देने की नीति तय की है इस हिसाब से भोपाल को अनुमति मिलने में कोई अड़चन नजर नहीं आती।

 

अन्य शहरों में भी काम की शुरुआत ऐसे ही
दिल्ली मेट्रो रेल कारपोरेशन के प्रोजेक्ट डायरेक्टर रहे सीबीके राव ने कहा कि दिल्ली और लखनऊ सहित अन्य सभी शहरों में काम की शुरुआत ऐसे ही हुई है। शुरुआत में छोटे रूट पर ही काम शुरू होता है और मेट्रो का पहला चरण चार साल में पूरा हो जाता है। राव ने दिल्ली मेट्रो का पहला चरण पूरा कराया था और दूसरे चरण का काम भी उन्हीं के कार्यकाल में शुरू हुआ था।

 

इस टेंडर में...सात कंपनियां थीं दौड़ में

मेट्रो रूट के इस टेंडर में सात कंपनियों ने भाग लिया था। इनमें आईएलएफएस मुंबई, एप्को गुड़गांव, इफकॉन इंडिया मुंबई, गावर कंस्ट्रक्शन गुड़गांव, आरडीएफ कोच्ची, एनसीसी मुंबई और दिलीप बिल्डकॉन भोपाल शामिल हैं।