कालाधन रोकने के लिए चुनाव में सख्ती बरतेगा आयकर विभाग

भोपाल. आयकर विभाग आगामी विधानसभा चुनाव में कालेधन को रोकने के लिए सख्ती बरतेगा। इसके लिए टीमों का गठन करने की तैयारी की जा रही है। पिछले 2013 के विधानसभा चुनाव के दौरान विभाग ने 10 करोड़ रुपए से अधिक की नकदी पकड़कर कई लोगों को बेनकाब किया था। ऐसे लोगों में टीवी कलाकार से लेकर टे्रडर्स तक शामिल थे। आयकर विभाग के अधिकारियों को मुख्य चुनाव आयुक्त ओपी रावत ने भी बुधवार को एक बैठक में सख्ती बरतने के निर्देश दिए हैं।


आयकर विभाग के सूत्रों ने बताया कि मध्यप्रदेश में पिछले 2013 के विधानसभा चुनाव में बड़े पैमाने पर सामने आए कालेधन को देखते हुए आगामी विधानसभा चुनाव में भी सख्ती बरती जाएगी। इसके लिए एयरपोर्ट पर टीमों को लगाया जाएगा। इसके अलावा डिस्ट्रिक मजिस्ट्रेट के साथ फ्लाइंग स्कॉट और स्टेटिक टीमों का गठन किया जाएगा। जो निर्धारित प्वाइंटों पर चैकिंग के अलावा मुख्य मार्गों पर मूवमेंट करेगी। टीमों में शामिल इंटम टैक्स ऑफिसर (आईटीओ) नकदी के अलावा शराब आदि की जांच करेंगे।


मध्यप्रदेश में 2013 के विधानसभा चुनाव में पकड़े गए 10 करोड़ रुपए से अधिक के संदिग्ध कालेधन में 4.50 करोड़ रुपए से ज्यादा आयकर विभाग की इन्वेस्टीगेशन विंग ने पकड़े थे। उस दौरान अनएकाउंटेंट राशि के कुल 17 मामले सामने आए थे।


 


पिछले चुनाव में पकड़ी गई 2 नंबर की राशि


-03 करोड़ से ज्यादा भोपाल, ग्वालियर रीजन में
-01 करोड के आसपास जबलपुर रीजन में
-61 लाख रुपए इंदौर रीजन में


शहर के हिसाब से पकड़ी गई राशि
-50 लाख रुपए कटनी में
-50 लाख रुपए सागर में
-60 लाख रुपए छतरपुर में
-80 लाख रुपए शिवपुरी में

चुनाव में कालेधन को रोकने के लिए आयकर विभाग पूरी तरह से तैयार है। इसके लिए विभागीय स्तर पर टीमों का गठन किया जा रहा है। प्रत्येक सूचना पर त्वरित कार्रवाई की जाएगी।
आरके पालीवाल, प्रधान आयकर निदेशक (इन्वेस्टीगेशन