सरकारी कर्मचारियों की सैलरी बढ़ी, जानिये आपको हुआ कितने का फायदा...

भोपाल। मध्यप्रदेश सहित तीन राज्यों में होने वाले चुनावों के ठीक बाद लोकसभा के चुनाव होने हैं। लोकसभा के इन 2019 में होने वाले चुनाव से पहले केंद्र सरकार ने सरकारी कर्मचारियों के डीए में वृद्धि कर दी है।


इसी के चलते एक दिन पहले आर्थिक मामलों की केंद्रीय समिति ने केंद्रीय कर्मचारियों का महंगाई भत्‍ता (डीए) दो फीसदी बढ़ाने के प्रस्‍ताव को मंजूरी दी थी।


वहीं मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल सहित ग्वालियर, जबलपुर सहित विभिन्न जिलों में रहने वाले केंद्र सरकार के कर्मचारियों में इसे लेकर कुछ हद तक खुशी का माहौल है।


केंद्रीय कर्मचारियों का महंगाई भत्‍ता बढ़ना हमारे लिए कुछ हद तक खुशी की बात जरूर है। लेकिन जिस स्थिति में महंगाई बढ़ रही है उसके हिसाब से ये कम है। फिर भी सरकार की ओर से लिया गया फैसला कहीं न कहीं अच्छा ही है।
- एमके शर्मा, केंद्र सरकार के कर्मचारी

लगातार बढ़ रही महंगाई में केवल दो फीसदी डीए उंट के मुंह में जीरे के समान है। सरकार को इसे तकरीबन 5 से 6 फीसदी बढ़ाना चाहिए था।
- जीके शर्मा,केंद्र सरकार के कर्मचारी


सरकार द्वारा डीए बढ़ाया जाना अच्छा निर्णय है। इसका लाभ हर केंद्रीय कर्मचारी को मिलेगा। लेकिन कई कर्मचारियों के हिसाब से ये काफी कम है।
- रेखा मिश्रा, केंद्र सरकार के कर्मचारी


ये है मामला...
दरअसल केंद्रीय कर्मचारियों का महंगाई भत्‍ता (डीए) दो फीसदी बढ़ाने के प्रस्‍ताव को मंजूरी के चलते अब यह 7 फीसदी से बढ़कर 9 फीसदी हो गया है।


इसके चलते अब केंद्रीय कर्मचारियों को प्रति माह दो फीसदी अधिक डीए मिलेगा। बताया जा रहा है कि केंद्रीय कर्मचारियों की सैलरी में डीए बढ़ने से प्रति माह 360 रुपए से लेकर 5000 रुपए तक की बढ़ोतरी होगी।


वहीं राजनीति के कई जानकारों का यह भी मानना है कि चुनावों को देखते हुए केंद्र सरकार की ओर से सरकारी कर्मचारियों को अपने पाले में लाने के चलते सरकार की ओर से कार्य शुरू कर दिया गया है। उसमें भी ये सारे काम लोकसभा के चुनावों को ध्यान में रखते हुए किए जा रहे हैं।


वहीं डीए की गणना को लेकर पूर्व केंद्रीय कर्मचारी एमएल वर्मा का कहना है कि डीए बढ़ना केंद्रीय कर्मचारियों के लिए अच्‍छी खबर है। ऐसे में डीए अब फिर छह माह बाद रिवाइज किया जाएगा। इसकी घोषणा मार्च 2019 में संभव है।


उन्होंने बताया कि दो फीसदी डीए बढ़ने के आधार पर 360 रुपए की बढ़ोतरी न्‍यूनतम है, लेकिन जो लोग प्रमोशन पा चुके हैं उनकी बेसिक पे भी बढ़ चुकी है। उनकी डीए राशि अलग होगी। जैसे यदि किसी की सर्विस लेंथ 40 साल है तो माना जाता है कि उसे पूरी नौकरी में 40 इंक्रीमेंट मिले होंगे।


इस आधार पर उनका डीए उनकी मौजूदा बेसिक सैलरी के आधार बनेगा। इस दौरान पे कमिशन भी बदल जाता है तो बेसिक सैलरी भी बढ़ जाती है। इसके अलावा जिन कर्मचारियों की सर्विस 5 साल की हो चुकी है उनका बेसिक करीब 20300 रुपए होगा। इस आधार पर उन्‍हें 406 रुपए होगा। ऐसे में कर्मचारी बेसिक पे के आधार पर अपने डीए की गणना खुद भी कर सकते हैं।


ऐसे समझें लेवल न्‍यूनतम बेसिक पे बढ़ोतरी (2% डीए वृद्धि के साथ-रु. में)...


लेवल — न्‍यूनतम बेसिक पे (रु. में) — बढ़ोतरी (2% डीए वृद्धि के साथ) 
लेवल 1 — 18000 — 360रु. 
लेवल 2 — 19900 — 398रु. 
लेवल 3 — 21700 — 434 रु.
लेवल 4 — 25500 — 510 रु.
लेवल 5 — 29200 — 584 रु.
लेवल 6 — 35400 — 708 रु.
लेवल 7 — 44900 — 898 रु.
लेवल 8 — 47600 — 952 रु.
लेवल 9 — 53100 — 1062 रु.
लेवल 10 — 56100 — 1122 रु.
लेवल 11 — 67700 — 1354 रु.
लेवल 12 — 78800 — 1576 रु.
लेवल 13 — 118500 — 2370 रु.
लेवल 13ए — 131100 — 2622 रु.
लेवल 14 — 144200 — 2884 रु.
लेवल 15 — 182200 — 3644 रु.
लेवल 16 — 205400 — 4108रु.
लेवल 17 — 225000 — 4500 रु.
लेवल 18 — 250000 — 5000 रु.