राजस्थान में वैट घटने के बाद अब महाराष्ट्र ने भी दिया संकेत, मध्य प्रदेश भी केंद्र से करेगा बात

मंथन न्यूज भोपाल
कांग्रेस के भारत बंद के आह्वान से एक दिन पहले रविवार को राजस्थान सरकार ने पेट्रोल और डीजल पर मूल्य वर्धित कर (वैट) को चार-चार प्रतिशत कम करने की घोषणा की। इससे राज्य में पेट्रोल व डीजल ढाई रुपये प्रति लीटर तक सस्ता होगा। इसके तहत राज्य में वैट पेट्रोल पर 30 से घटाकर 26 प्रतिशत और डीजल पर 22 से घटाकर 18 प्रतिशत किया गया है। तेल की बढ़ती कीमतों के मद्देनजर मध्य प्रदेश सरकार ने कहा है की राज्य में पिछले साल पेट्रोल-डीजल पर वैट कम कर दिए गए थे। लेकिन राज्य सरकार बढ़ती महंगाई के मद्देनजर आगामी जीएसटी काउंसिल की बैठक में वैट कम करने के मुद्दे पर केंद्र सरकार से बात करेगी। 

मध्य प्रदेश के वित्त मंत्री जयंत मलैया ने कहा कि 14 अक्टूबर 2017 को राज्य सरकार ने पेट्रोल पर 3 फीसदी और डीजल पर 5 फीसदी वैट घटा दिया था। डीजल पर लग रहे डेढ़ रुपए के अतिरिक्त कर को भी खत्म किया था। इससे राज्य के राजस्व में 2000 करोड़ रुपए की कमी आई। 

लेकिन पेट्रोल-डीजल के बढ़ते दाम के कारण महंगाई पर इसका असर पड़ रहा है। मलैया ने कहा कि राज्य सरकार 29 सितंबर को होने वाली जीएसटी काउंसिल की बैठक में केंद्र सरकार से वैट कम करने पर बात करेगी। 

बता दें कि मौजूदा समय में मध्य प्रदेश में पेट्रोल पर 28 और डीजल पर 22 फीसदी वैट लगता है। उधर महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने ऐसे संकेत दिए हैं की तेल के दाम घटाए जा सकते हैं। वहीं कांग्रेस के हिमाचल प्रदेश प्रभारी रजनी पाटिल ने कहा कि पंजाब और कर्नाटक में जल्द ही पेट्रोल-डीजल की कीमतें कम होंगी।