जम्मू-कश्मीर निकाय चुनाव की तारीखों का एलान, पहली बार ईवीएम का होगा इस्तेमाल

जम्मू कश्मीर
कश्मीर आधारित दो बड़ी पार्टियों नेकां व पीडीपी तथा अलगाववादियों व आतंकियों के बहिष्कार को दरकिनार करते हुए रियासत में बहु प्रतीक्षित निकाय चुनाव की शनिवार को घोषणा कर दी गई। चार चरणों में आठ, 10, 13 व 16 अक्तूबर को चुनाव होंगे। जम्मू संभाग में केवल तीन चरणों में मतदान होगा। मतदान सुबह सात से दोपहर दो बजे तक होगा। मतगणना 20 अक्तूबर को होगी। पहली बार निकाय चुनाव में ईवीएम का इस्तेमाल किया जाएगा। मुख्य निर्वाचन अधिकारी (सीईओ) शालीन काबरा ने शनिवार को प्रेस कांफ्रेंस में चुनाव की तिथियों का एलान किया। 

आदर्श आचार संहिता लागू
निकाय चुनाव की घोषणा के साथ ही रियासत में आदर्श आचार संहिता तत्काल प्रभाव से लागू हो गई है। यह केवल नगरी सीमा में ही लागू होगी। सभी राजनीतिक दलों व प्रत्याशियों को आचार संहिता का पालन करना होगा। आचार संहिता के उल्लंघन पर कार्रवाई होगी।
  Municipal Elections shall be held in 4 phases. Date of polling would be Oct 08, Oct 10, Oct 13 & Oct 16. Counting shall take place on Oct 20 after all the phases are over. Poll hours will be from 7am to 2pm: Chief Electoral Officer Shaleen Kabra #JammuAndKashmir pic.twitter.com/wqUYbIOo1K — ANI (@ANI) September 15, 2018 

चुनाव खर्च की सीमा तय
निकाय चुनाव के लिए खर्च की सीमा तय कर दी गई है। नगर निगम के प्रत्याशियों के लिए डेढ़ लाख, नगर परिषद के लिए एक लाख व नगर पालिका के लिए 50 हजार की राशि तय की गई है। प्रत्याशियों के  खर्च पर मुख्य निर्वाचन अधिकारी कार्यालय की ओर से निगरानी रखी जाएगी। प्रत्याशियों को अलग बैंक खाता खोलना होगा। चुनाव के सभी खर्च का भुगतान इसी खाते से करना होगा। प्रत्याशियों को चुनाव खर्च रजिस्टर बनाना होगा। इस पर नामांकन की तिथि से लेकर चुनाव संपन्न होने तक प्रत्येक दिन के खर्च का ब्योरा दर्ज करना होगा। खर्च निगरानी के लिए आब्जर्वर की भी नियुक्ति की जाएगी। 

वार्डों का आरक्षण
रियासत में 79 नगर निकायों में कुल 1145 वार्ड हैं। इनमें महिलाओं के लिए (ओपेन कैटगरी) 322 वार्ड आरक्षित हैं। अनुसूचित जाति के लिए 90 (31 महिला) व अनुसूचित जनजाति के लिए 38 (13 महिला) वार्ड आरक्षित किए गए हैं। 

सभी कार्यक्रमों की होगी वीडियोग्राफी
चुनाव के दौरान सभी कार्यक्रमों की वीडियोग्राफी कराई जाएगी। इसके लिए संबंधित डीसी को पर्याप्त संख्या में वीडियो के प्रबंध करने के निर्देश दिए गए हैं। नामांकन, नामांकन पत्रों की जांच, चुनाव चिह्न के आवंटन, ईवीएम की चेकिंग व स्टोरेज, महत्वपूर्ण बैठकों, जुलूस, पोस्टल बैलेट पेपर को भेजने की प्रक्रिया, मतदान, ईवीएम को रखने तथा मतगणना सभी की वीडियोग्राफी होगी।

विज्ञापन


माइग्रेंट वोटर अपने संबंधित निकाय में ही डाल सकेंगे वोट


कोई भी माइग्रेंट वोटर जो वर्तमान में जहां रह रहा है वह अस्थायी रूप से ही वहां रह रहा है। इसलिए जिस तरह से विधानसभा और लोक सभा चुनावों में वह अपने निर्वाचन क्षेत्र में वोट डालते आए हैं वैसे ही निकाय चुनाव में भी अपने निकाय क्षेत्र में ही वोट डालना होगा।

कश्मीरी पंडितों के लिए पोस्टल बैलेट की व्यवस्था
निकाय चुनाव में शामिल होने के लिए कश्मीरी पंडितों के लिए पोस्टल बैलेट की व्यवस्था की गई है। जम्मू, उधमपुर तथा देश के अन्य हिस्से में रहने वाले कश्मीरी पंडित इस सुविधा का उपयोग कर सकते हैं। 

एक दशक बाद निकाय चुनाव
मुख्य चुनाव अधिकारी शालीन काबरा ने बताया कि एक दशक बाद रियासत में निकाय चुनाव हो रहे हैं। आखिरी बार 2005 में चुनाव हुए थे। इन चुनावों से सीधे तौर पर जनता को फायदा होगा। जमीनी स्तर पर विकास होगा। आवास और शहरी विकास विभाग द्वारा कहे जाने के बाद इन चुनावों को निष्पक्ष तौर पर करवाने के लिए सभी उपाय कर लिए हैं। चुनाव निष्पक्ष और पारदर्शी तरीके से होंगे।

बहिष्कार राजनीतिक दलों का अपना मामला
सीईओ ने कहा कि जहां तक राजनीतिक दलों का इन चुनावों में भाग न लेने की बात है तो यह उनका अपना मामला है। निकाय चुनाव में कोई भी भाग ले सकता है-राजनीतिक दल भी और निर्दलीय उम्मीदवार भी। अलगाववादियों के शांतिपूर्वक बहिष्कार पर चुनाव कार्यालय किसी प्रकार का हस्तक्षेप नहीं करेगा। उम्मीद है कि चुनाव में लोग न केवल भाग लेंगे बल्कि निष्पक्ष चुनावों के लिए वातावरण भी प्रदान करेंगे।

चुनाव के लिए सभी प्रबंध
सीईओ ने बताया कि शांतिपूर्ण चुनाव के लिए पुलिस और प्रशासन ने आवश्यक प्रबंध किए हैं। इसके लिए जो कुछ भी संभव होगा वह सब किया जाएगा। दरअसल पत्रकारों ने उनसे पूछा था कि अनंतनाग लोकसभा सीट के लिए उप चुनाव दो साल से नहीं हो पाए हैं तो निकाय चुनाव कैसे होंगे। उन्होंने स्पष्ट किया कि निकाय चुनाव को संपन्न कराने के लिए सभी जरूरी प्रबंध किए जाएंगे। 

चुनाव कार्यक्रम (चरणवार)
कार्यक्रम पहला दूसरा तीसरा चौथा
अधिसूचना 18 सितंबर 20 सितंबर 22 सितंबर 24 सितंबर
नामांकन की अंतिम तिथि 25 सितंबर 27 सितंबर 29 सितंबर 01 अक्तूबर
नामांकन पत्रों की जांच 26 सितंबर 28 सितंबर 01 अक्तूबर 03 अक्तूबर
नामांकन पत्रों की वापसी 28 सितंबर 01 अक्तूबर 03 अक्तूबर 05 अक्तूबर
मतदान 08 अक्तूबर 10 अक्तूबर 13 अक्तूबर 16 अक्तूबर

जम्मू संभाग में यहां होंगे इन चरणों में मतदान
पहला चरण (आठ अक्तूबर) - जम्मू नगर निगम, बिश्नाह, अरनिया, आरएस पुरा, घो मन्हासा, अखनूर, ज्योड़ियां, खौड़, राजोरी, थन्नामंडी, सुंदरबनी, कालाकोट, पुंछ व सुरनकोट
दूसरा चरण (10 अक्तूबर) -किश्तवाड़, डोडा, भद्रवाह, ठाठरी, रामबन, बनिहाल, बटोट, उधमपुर, रामनगर, चिनैनी, रियासी, कटड़ा, कठुआ, हीरानगर, नगरी परोल, लखनपुर, बिलावर व बसोहली
तीसरा चरण (13 अक्तूबर) - सांबा, रामगढ़, विजयपुर व बाड़ी ब्राह्मणा।