जाते जाते एक बार फिर होने वाली है ज़ोरदार बारिश

भोपालः वैसे तो मध्य प्रदेश में अब तक औसत से कम बारिश हुई है। लेकिन प्रदेश के कई निचले इलाकों में जल भराव और बाढ़ ने लोगों का जीना मुहाल कर दिया है। राजधानी भोपाल समेत प्रदेश के कई हिस्सों में रूक रुक कर होने वाली बारिश लगातार जारी है। भोपाल बीते शनिवार 28 घंटे रिमझिम बारिश का दौर चलता रहा। हालांकि, मौसम विभाग प्रदेश के उत्तरी हिस्से के लिए एक बार फिर भारी बारिश की चेतावनी जारी की है। बता दें कि, उत्तरप्रदेश और उससे सटे मध्य प्रदेश के उत्तरी भाग पर बने ऊपरी हवा के चक्रवात से अच्छी खासी बारिश हो रही है। इसी क्रम में बती रात तक दमोह में 28, ग्वालियर में 13.3, सागर में 10, सीधी में 8, श्यौपुरकलाट में 5, होशंगाबाद में 2, भोपाल में 1.8, नौगांव, बैतूल में 1 मिमी बारिश हुई है।


यहां जारी हुई चेतावनी


राजधानी स्थित मौसम विभाग के अनुसार फिलहाल एमपी के उत्तरी इलाकेके दक्षिणी भाग पर 3.1 किमी. ऊंचाई पर ऊपरी हवा का चक्रवात बन रहा है। उस चक्रवात के चलते प्रदेश के ग्वालियर, चंबल संभाग सहित प्रदेश के कई जिलों में बारिश का दौर जारी है। मौसम विभाग के अनुसार, बंगाल की खाड़ी और ओडिशा के आसपास बने कम दबाव के क्षेत्र के कारण बड़े पैमाने पर नमी आ बन रही है। यही कारण है कि, प्रदेश के हर हिस्से पर अब भी गहरे बादल छाए हुए हैं। इन दो सिस्टमों के प्रदेश में सक्रीय होने के चलते मौसम विभाग ने आगामी 24 घंटे के लिए ग्वालियर, भिंड, मुरैना, दतिया, सागर, गुना, रायसेन, अशोकनगर, डिंडोरी में भारी बारिश की चेतावनी जारी की है। विभाग क अनुसार, कम दबाव के क्षेत्र के आगे बढ़ने पर प्रदेश में भारी बारिश के चांसेस बढ़ रहे हैं।


अब तक प्रदेश के हालात


मौसम विभाग के अनुसार विंध्य-महाकोशल के कुछ जिलों में शनिवार से रिमझिम का दौर चल रहा है। इसके अलावा नरसिंहपुर में कल दिनभर से रिमझिम बारिश का सिलसिला जारी है। जबलपुर के बरगी डैम से पानी छोड़े जाने के कारण नरसिंहपुर में नर्मदा का जलस्तर बढ़ जाने के कारण निचले इलाकों पानी भर गया है। इसके चलते नदी से सटे गांव और हाईवे पर आवाजाही प्रभावित हुई। दमोह में शिनावार को तो हल्कि बारिश हुई, यहां कई इलाकों में आज सुबह से ही तेज़ बारिश हो रही है। कोलारस में भारी बारिश के चलते नदी-नाले उफान पर आ गए, जिसके चलते लोगों की शहर आवाजाही प्रभावित हो रही है।