CM वसुंधरा राजे के खिलाफ क्यों चुनाव लड़ना चाहती हैं IPS की पत्नी?

मंथन न्यूज दिल्ली
अपनी कार्यप्रणाली और बयानों को लेकर अक्सर चर्चा में रहने वाले राजस्थान कैडर के आईपीएस पंकज चौधरी की दूसरी पत्नी मुकुल चौधरी ने आगामी विधानसभा चुनाव में मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे के खिलाफ चुनाव लड़ने का एलान किया है.

मुकुल चौधरी ने aajtak.in से बातचीत में कहा है कि वो मुख्यमंत्री के खिलाफ झालरापाटन से चुनाव लड़ेंगी. मुकुल का कहना है कि वो राजस्थान की बेटी हैं. पिछले कुछ सालों से अमूमन शांत रहने वाले प्रदेश राजस्थान में सांप्रदायिक तनाव, महिलाओं के खिलाफ अपराध, भष्टाचार और कानून व्यवस्था की हालत खराब है.

मुकुल चौधरी ने आरोप लगाया कि मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे की सरकार में भ्रष्टाचार का बोलबाला है. भ्रष्ट अधिकारियों की सुनी जाती है जबकि ईमानदार अधिकारियों को प्रताड़ित किया जा रहा है. अपने पति और आईपीएस अधिकारी पंकज चौधरी के बारे मुकुल चौधरी का कहना है कि पंकज एक सोच हैं, उन्होंने राजस्थान में ईमानदारी की मिसाल कायम की है और बेईमानों के खिलाफ हमेशा आवाज उठाई है. फिर भी सरकार की तरफ से सात मामलों में चार्जशीट का सामना कर रहे हैं. मुकुल का कहना है कि रानी को उनके कर्म हराएंगे.

बता दें कि आईपीएस पंकज चौधरी की पत्नी मुकुल की मां शशि दत्ता भैरोंसिंह शेखावत सरकार में विधि एवं कानून मंत्री थीं, लेकिन बाद में वह बसपा में चली गई थीं.

कौन हैं आईपीएस पंकज चौधरी?


2009 बैच के आईपीएस पंकज चौधरी सबसे पहले जैसलमेर में कांग्रेस से जुड़े गाजी फकीर की हिस्ट्री शीट खोलने के मामले में चर्चा में आए थें. जिसके बाद तत्कालीन कांग्रेस सरकार ने जैसलमेर से किशनगढ़ ट्रांसफर कर दिया था.

इसके बाद वसुंधरा सरकार में बूंदी जिले के नैनवा में साप्रदायिक हिंसा के बाद राज्य सरकार ने आईपीएस पंकज चौधरी को एपीओ कर दिया था. नैनवा में नगर पंचायत चुनावों में भड़के सांप्रदायिक दंगों में हिंदुवादी संगठनों से जुड़े लोगों पर कार्रवाई करने से स्थानीय नेतृत्व नाराज था. लिहाजा पंकज चौधरी पर लापरवाही बरतने का इल्जाम लगाते हुए उन्हे एपीओ कर दिया.  

पंकज चौधरी जब राजस्थान स्टेट क्राइम रिकॉर्ड ब्यूरो में तैनात थें तब उन्होंने मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे के प्रमुख सचिव तन्मय कुमार पर पद का दुरुपयोग, भ्रष्टाचार, वित्तीय अनियमितता से संबंधित गंभीर आरोप लगाए थें. सोशल मीडिया पर काफी सक्रिय पंकज चौधरी कई बार मुख्यमंत्री के खिलाफ भी लिख चुके हैं.

आईपीएस चौधरी की दूसरी पत्नी हैं मुकुल


यूपी के बलिया के रहने वाले आईपीएस पंकज चौधरी की पहली शादी 2005 में वाराणसी में सुधा गुप्ता से हुई थी. 2008 में सुधा गुप्ता से एक बेटी भी थी. लेकिन साल 2009 में आईपीएस में सेलेक्शन के बाद पहली पत्नी से पंकज चौधरी की दूरी बढ़ गई.  इस मामले को लेकर इलाहाबाद हाई कोर्ट में चार साल तक केस चला, जिसमें 8 मई 2018 को हाई कोर्ट ने पंकज चौधरी के पक्ष में फैसला सुनाते हुए पहली पत्नी से पंकज चौधरी का तलाक सुनिश्चित किया. हाई कोर्ट के इस फैसले के बाद राजस्थान सरकार द्वारा पंकज चौधरी के खिलाफ इस मामले में दायर चार्जशीट अप्रासंगिक हो गई.