MP: शिवपुरी में फिर खिलेगा 'कमल' या होगी कांग्रेस की वापसी?

मध्य प्रदेश की शिवपुरी विधानसभा सीट पर बीजेपी का कब्जा है. यशोधरा राजे सिंधिया यहां की विधायक हैं और वह मध्य प्रदेश सरकार में कैबिनट मंत्री भी हैं.



बीजेपी


शिवपुरी मध्य प्रदेश के शिवपुरी जिले की 5 विधानसभा सीटों में से एक है. इस सीट पर फिलहाल बीजेपी का कब्जा है. यशोधरा राजे सिंधिया यहां की विधायक हैं. सिंधिया मध्य प्रदेश सरकार में कैबिनट मंत्री भी हैं. इस विधानसभा क्षेत्र में सिंधिया परिवार का प्रभाव रहा है. शिवपुरी विधानसभा सीट गुना लोकसभा क्षेत्र के अंतर्गत आती है.


स्थानीय विधायक और कैबिनेट मंत्री यशोधरा राजे सिंधिया को शिवपुरी विधानसभा क्षेत्र से 2013 के चुनाव में 11 हजार से अधिक मतों से विजय हासिल हुई थी. उन्होंने कांग्रेस के मजबूत प्रत्याशी वीरेंद्र रघुवंशी को पराजित किया था. सिंधिया को जहां 76330 वोट मिले थे, तो वहीं वीरेंद्र रघुवंशी को 65185 मत मिले थे.

इससे पहले 2008 के चुनाव में बीजेपी के ही माखनलाल राठोड़ ने जीत हासिल की थी. उनको 25760 वोट मिले थे, जबकि कांग्रेस के वीरेंद्र रघुवंशी 24009 वोट के साथ दूसरे स्थान पर थे.

इस सीट पर जीत कांग्रेस के लिए एक सपना बनकर रह गई है, क्योंकि 2006 के उपचुनाव को यदि छोड़ दें तो 1985 के बाद कांग्रेस इस विधानसभा क्षेत्र से कभी नहीं जीती है. पिछले पांच साल में शिवपुरी के लोगों ने बहुत जनसमस्याएं झेली हैं. एक-एक बूंद पानी के लिए लोग तरसे हैं और सिंध के पानी का लगातार लोगों ने इंतजार किया है.तो भी पानी कि समास्या से मंत्री जी ने  निजात नही दिला पायी

 2013 में हुए चुनाव के नतीजे

मध्य प्रदेश में कुल 231 विधानसभा सीटें हैं. 230 सीटों पर चुनाव होते हैं जबकि एक सदस्य को मनोनीत किया जाता है. 2013 के चुनाव में बीजेपी को 165, कांग्रेस को 58, बसपा को 4 और अन्य को तीन सीटें मिली थीं.