चुनाव 2018: कांग्रेस के सामने दावेदारों की चुनौती, 3 विधानसभा सीटों के लिए कई नेताओं का दावा

भोपाल. मध्यप्रदेश विधानसभा चुनाव के लिए सरगर्मियां तेज हो गई हैं। टिकट के दावेददार आलाकमान के सामने दावेदारी पेश कर रहे हैं। कांग्रेस में उम्मीदवारों का चयन दिल्ली में होना है। रविवार से दिल्ली में टिकट को लेकर स्क्रीनिंग कमेटी की बैठक भी चल रही है। लेकिन नीमच जिले में किसे टिकट के दावेदारों की एक लंबी फेहरिस्त है। जिले में तीन विधआन सभा सीटें हैं। मनासा, नीमच और जावद। 2013 के विधानसभा चुनावों की बात करें तो जिले की तीनोंही सीटों में भाजपा ने कब्जा किया था। लेकिन इस बार सवर्णों का विरोध और सरकार के खिलाफ तेज होते विरोध को देखकर कई दावेदार टिकट केलिए जोर लगा रहे हैं। वहीं, दावेदारों की इमेज जिले में गुटबाजी के रूप में भी बांटी है। किी को सिंधिया गुट का माना जाता है तो किसी को कमलनाथ गुट इसके अलावा भी प्रदेश के कई बड़े नेता हैं जिन्हें गुट का नाम दिया जा रहा है।


 


सर्वे होगी प्राथमिकता: कांग्रेस में टिकटों का वितरण सर्वे के आधार पर किया जाएगा। पीसीसी ची कमलनाथ खुद कह चुके हैं कि सर्वे के आधार पर टिकट दिया जाएगा। कांग्रेस ने टिकट वितरण से पहले कर्नाटक और गुजरात की दो निजी एजेंसियों से सर्वे करया है वहीं, पीसीसी चीफ कमलनाथ ने अपने स्तर से भी एक सर्वे कराया है। सर्वे में जिन नेताओं का नाम है वो थोड़ी राहत की सांस ले रहे हैं लेकिन जिनका नाम सर्वे में नहीं हो वो गुटबाजी के सहारे टिकट के लिए दावेदारी पेश कर रहे हैं। नीमच जिले में ज्योतिरादित्य सिंधिया, पीसीसी चीफ कमलनाथ, नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह, पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह और मिनाक्षी नटराजन के नाम सामने आ रहे हैं। जानकारों का कहना है कि टिकटों का वितरण भी इन्हीं नेताओं की आपसी सहमति के साथ किया जाएगा। कमलनाथ जी से जुड़े दो प्रमुख दावेदार हैं नीमच जिले से उमराव गुर्जर और जावद सीट से राजकुमार अहीर का नाम माना जा रहा है वहीं, ज्योतिरादित्य सिंधिया के खेमे में नीमच से समीप चौधरी, जावद से समंदर पटेल और मनासा से विजु बना को दावेदार माना जा रहा है। जबकि दिग्विजय सिंह से गुट से नीमच से नंदू पटेल, मधु बंसल, अनिल चौरसिया और मनासा से इन्दरमल पामेचा का नाम प्रमुख रूप से आता है। वहीं, मीनाक्षी नटराजन और और अजय सिंह के खेमे से से भी कई दावेदा हैं।


नीमच जिले की तीन सीटों पर 10 से ज्यादा दावेदार हैं इसके अलावा खूब लोग अंदर से भी टिकट लेने के जुगाड़ में हैं। हालांकि की एक बात यह भी तय है कि जो दावेदार खुद को गुटों से जुड़ा बता रहे हैं वो सभी नेताओं के सपर्क में हैं। ऐसे कांग्रेस को यहां टिकट देने से पहले जागतिगत समीकरण पर भी ध्यान देना होगा। क्योंकि दावेदारों के अलावा यहां से अगड़ा, पिछड़ा, दलित, स्वर्ण, अल्पसंख्यक, महिला जैसे भी समीकरण हैं।



2013 के परिणाम
नीमच विधानसभा सीट से भाजपा के दिलीप सिंह परिहार ने जीत दर्ज की थी। 
मनासा से भाजपाके कैलाश चावला ने जीत दर्ज की थी।
जवाद से विधानसभा सीट से भाजपा के ओमप्रकाश सकलेचा ने जीत दर्ज की थी।