ज्ञापन सौंपकर कठोर कार्यवाही की मांग की सभ्य समाज ने।

शिवपुरी के बहुचर्चित हो चुके गणवेश मामले को लेकर आज सभ्य समाज ने आशुतोष शर्मा के नेतृत्व में मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन सौंपा और दोषियों के विरुद्ध कठोर कार्यवाही की मांग की।
नोनिहलो को प्रदाय की जाने वाली गणवेश वितरण शिवपुरी में काफी विवाद का विषय बन चुकी है,पहले ही दिन से इस प्रकरण में अनियमितताओं के आरोप लग रहे है जो थमने का नाम नही ले रहे है।जिला समन्वयक शिक्षा विभाग के प्रतिवेदन के बाद से ही इस मामले ने तूल पकड़ ना प्रारम्भ कर दिया है।आज सभ्य समाज शिवपुरी के द्वारा सेकड़ो महिला पुरुष की उपस्थिति में ज्ञापन सौंपा गया जिसका नेतृत्व आशुतोष शर्मा ने किया जो इस सारे मामले की लोकायुक्त में भी शिकायत कर चुके है।आज मुख्यमंत्री,मुख्य निर्वाचन आयुक्त मध्यप्रदेश व संभाग आयुक्त को सौंपे गये ज्ञापन में सभ्य समाज की और से ये मांग की गई कि इस प्रकरण में कपड़े की जांच कर गुणवत्ता पूर्ण कपड़ा ही उपयोग में लाया जाये, गुणवत्ता विहीन कपड़े की गणवेश को वह नही बांटने देंगे।ज्ञापन में आरोप भी लगाया गया कि 12 वर्ष से प्रतिनियुक्त पे जमे राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन के प्रबंधक चुनाव कार्य को भी प्रभावित कर सकते है,साथ ही गणवेश सिलाई स्व सहायता समूहों के माध्यम से न होकर निजी केंद्रों पर की जा रही है,जिसकी सिलाई दर भी काफी कम है।इस तरह शासन के धन को चुना लगाया जा रहा है।जो किसी भी दशा में बर्दाश्त नही किया जाएगा,इस सारे मामले की निष्पक्ष जांच हो जो भी दोषी पाया जाए उसे कठोर दंड दिया जाए ये मांग ज्ञापन में रखी गयी।
ज्ञापन देते समय सेकड़ो युवाओ ने पहले जाकर भ्रष्टाचार बन्द करो,गणवेश घोटाला बन्द करो के नारे लगाए तत्पश्चात ज्ञापन का वाचन कर डिप्टी कलेक्टर को ज्ञापन सौंपा।इस अवसर पर अभिभाषक अजय गौतम,दीपेश फड़नीष,इकबाल खान,अजय ओझा,अमन श्रीवास्तव,रूपेश बेड़िया,अशोक बेड़िया यशवंत कुशवाह,भारत गौतम,वी पी परमार,बनवारी कुशवाह,कपिल पाराशर,अमित परमार,कालू कुशवाह सहित सेकड़ो लोग उपस्थित थे।