तेज हवाओं के बीच मोदी को रोकना पड़ा भाषण, बोले- विजय की आंधी है

धूल भरी आंधी के बीच पीएम मोदी कुछ देर बोलते रहे और इसके बाद उन्होंने कहा कि प्रकृति भी हमारा साथ देने के लिए आई है. विजय की आंधी भी चल पड़ी है और जब धरती माता आशीर्वाद देने आती है तो विजय निश्चित हो जाती है.

तेज हवाओं के बीच मोदी को रोकना पड़ा भाषण, बोले- विजय की आंधी है

राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे की गौरव यात्रा के समापन के अवसर पर प्रधाननमंत्री नरेंद्र मोदी आज अजमेर पहुंचे. वसुंधरा राजे ने बीते 4 अगस्त को राजसमंद से इस यात्रा की शुरुआत की थी, जिसके समापन समारोह में आज पीएम मोदी अजमेर के कायड़ पहुंचे. इस दौरान पीएम मोदी ने अपने संबोधन की शुरुआत में वसुंधरा राजे को राजस्थान की लोकप्रिय और यशस्वी मुख्यमंत्री बताते हुए जनता के बीच जाने की तारीफ की.

आंधी के बीच खत्म करने पड़ी रैली

पीएम मोदी जब भाषण दे रहे थे तो अचानक वहां तेज हवा चलने लगी. धूल भरी आंधी के बीच पीएम मोदी कुछ देर बोलते रहे और इसके बाद उन्होंने कहा कि प्रकृति भी हमारा साथ देने के लिए आई है. विजय की आंधी भी चल पड़ी है और जब धरती माता आशीर्वाद देने आती है तो विजय निश्चित हो जाती है. ऐसा कहते हुए पीएम मोदी ने अपना भाषण खत्म कर दिया.

इससे पहले चुनाव में अधिक समय देने की बीजेपी प्रदेशाध्यक्ष मदनलाल सैनी की अपील पर पीएम मोेदी ने कहा, 'मैं वही नरेंद्र मोदी हूं जो कभी हमारे सैनी जी के साथ स्कूटर पर बैठकर संगठन का काम किया करता था. देश और दुनिया के मैं भले ही प्रधानमंत्री हूं, लेकिन बीजेपी के लिए मैं एक कार्यकर्ता हूं. मुझे छोटे से बूथ पर भी बुलाया जाएगा तो मैं आऊंगा.'

वोट बैंक पर चोट

मोदी ने अपने संबोधन में वोट बैंक की राजनीति पर चोट करते हुए विपक्षियों को आड़े हाथों लिया. उन्होंने कहा, 'एक तरफ वोट बैंक की राजनीति का खेल है, जबकि दूसरी तरफ सबका साथ सबका विकास है. इस राजनीति में जमीन-आसमान का फर्क होता है. जो वोट बैंक की राजनीति करते हैं, वो कभी हिंदू-मुस्लिम करते हैं, कभी अगले-पिछड़े का खेल करते हैं, कभी अमीर-गरीब, कभी बुजुर्ग-युवा...यानी जहां मौका मिले एक दूसरे को सामने कर दो और एक को गले लगाकर राजनीति कर लेंगे. तोड़ना सरल होता है और जोड़ने के लिए जिंदगी खपानी पड़ती है और हम जोड़ने वाले हैं.'

कांग्रेस में सिर्फ एक परिवार की चिंता

वसुंधरा राजे के उस बयान पर भी मोदी ने अपनी राय रखी, जिसमें उन्होंने कहा था कि विपक्षी नेता चुनावी मौसम में अचानक बाहर निकल आए हैं. इस पर पीएम मोदी ने गांधी परिवार और कांग्रेस नेताओं पर तंज कसा. उन्होंने कहा, 'कांग्रेस के नेताओं की राजनीति एक परिवार की आरती करने से चल जाती है. उनका हाई कमान एक परिवार है और हमारा हाई कमान प्रदेश की जनता है. इसलिए परिवार की पूजा करने वालों से राजस्थान की जनता को कोई उम्मीद नहीं है.'

चुनाव में बीजेपी को जिताने की अपील करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि बड़ी मुश्किल से 60 साल बाद देश ने गति पकड़ी है, अब उन्हें यहां देखने का मौका भी नहीं देना है. उन्होंने ये भी कहा कि लोकतंत्र में मजबूत विपक्ष होना चाहिए.  लेकिन दुर्भाग्य है कि कांग्रेस 60 साल सत्ता में विफल होने के बाद अब विपक्ष में भी विफल हो गए हैं.

13 लाख परिवारों को बिजली

राजस्थान में 13 लाख परिवार ऐसे थे जो 18वीं शताब्दी में अंधेरी नगरी में जीवन जीने को मजबूर थे. हमने हर गांव और हर घर में बिजली पहुंचाने का बीड़ा उठाया, जिसे लागू करते हुए वसुंधरा राजे सरकार ने करीब 13 लाख परिवारों को बिजली पहुंचाने का काम पूरा कर दिया.

पीएम मोदी के संबोधन से पहले मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने उनकी शान में जमकर कसीदे पढ़े. राजे ने कहा कि 50 साल कांग्रेस को मिले हैं, लेकिन जो 5 साल के अंदर हमने आज देखा है वह पहले हमें कभी देखने को नहीं मिला है. राजे ने कहा, 'आपके कुशल नेतृत्व में भारत विश्व में एक महाशक्ति के रूप में उभर कर आया है, जिसकी वजह से हम सब गौरवान्वित महसूस कर रहे हैं.'

एक टिप्पणी भेजें

[blogger]

MARI themes

Blogger द्वारा संचालित.