मिशन साहसी कार्यक्रम में छात्राएं सीख रहीं आत्मरक्षा के गुर

शिवपुरी | नारी सशक्तिकरण के उद्देश्य से छात्राओं में साहस की भावना जागृत करने के लिए अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद की ओर से देशभर में मिशन साहसी कार्यक्रम का आयोजन किया जा रहा है। इसके तहत शिवपुरी में भी कार्यक्रम का संचालन किया जा रहा है। एबीवीपी के कार्यकर्ता विभिन्न कैंपों के माध्यम से छात्राओं को आत्मरक्षा का प्रशिक्षण दे रहे हैं। प्रशिक्षक अनुप्रिया तंवर ने बताया कि जिले की 6000 छात्राओं को प्रशिक्षण देने का लक्ष्य रखा गया है।

अनुप्रिया तंवर ने कहा कि आज बदलते हुए वक्त में जहां आए दिन बालिकाओं व महिलाओं पर अत्याचार बढ़ते जा रहे है। जिनका संघर्ष स्वयं महिलाएं व बालिकाओं द्वारा सेल्फ डिफेंस सीख कर ही किया जा सकता है। महिलाओं को अब घर की चार दीवारी को तोड़कर बाहर आना होगा और स्वयं को एक सशक्त नारी बनना पड़ेगा। डिंक्की नगपाल ने नारी शक्ति का आह्वान करते हुए कहा कि आदिकाल से ही वेदों व पुराणों में नारी का उच्चतम बताया है। जहां नारियों की पूजा होती है वहां देवता निवास करते है। नारी शक्ति अब अबला नहीं है, वह पुरुषों के साथ कंधे से कंधा मिलाकर राष्ट्र के पुनर्निर्माण में अपना योगदान दे रही है।

पूनम यादव ने कहा कि  में  प्रकार लगातार नारियों के सम्मान से खिलवाड़ हो रही है वो दुर्भाग्यपूर्ण है। नारी के प्रतिरूप को दुर्गा के रूप में पूजने वाले भारत देश में महिलाएं आज खुद को असुरक्षित महसूस करती हैं, पर अब नहीं। नारी किसी से कमजोर नहीं बस उन्हें अपनी शक्ति को पहचानने की आवश्यकता है। इसी शक्ति को जागृत करने के लिए अभाविप देश भर में मिशान साहसी चला रहा है जिससे महिलाएं खुद निडर व निर्भय बनें | इस मिशन की सफलता के लिए एक समिति का गठन किया गया है जिसमे  अनुप्रिया तंवर ,अंजना राठौर,पूनम यादव,वैशाली पाल,डिंकी नगपाल , शाना खाॅन है  |

पत्रकारों से बात करते हुए जिला संयोजक वेदांत  कहा कि समाज के कुछ विकृत मानसिकता से ग्रसित लोगों के कारण ही छात्राओं के साथ दुराचार व बलात्कार जैसी घटनाओं में बढ़ोतरी हो रही है। बेटियों के लिए स्वयं की सुरक्षा अहम हैं। अभाविप का मिशन साहसी कार्यक्रम छात्राओं के लिए वरदान साबित होगा। अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद ने समय समय पर यह सत्यापित किया है कि हम केवल बातें नही , समाज बदलने का भी काम करते है | अंजना राठौर ने बताया कि यह आयोजन छात्राओं के मनोबल को बढ़ाने के लिए किया गया है। अब महिला किसी से कमजोर नहीं है। पूजा गुर्जर ने कहा कि छात्राओं से आह्वान किया कि मिशन साहसी कार्यक्रम में अधिक से अधिक संख्या में शामिल होकर आत्म सुरक्षा का प्रशिक्षण लें। वैशाली पाल ने बताया अभाविप महिला सशक्तिकरण, महिला सुरक्षा को लेकर हमेशा से संवेदनशील रहा है, देश में हो रहे परिवर्तन से विद्यालय, महाविद्यालय में पढ़ने वाली छात्राओं को जहां एक ओर अपने प्रतिभा को निखारने के अवसर प्राप्त हो रहे हैं। वही शाना खाॅन ने कहा कि सभी बंधनों को तोड़ते हुए बेटियां सभी क्षेत्र में नए प्रतिमान स्थापित कर रही है