राजस्थान-मप्र में कांग्रेस से गठबंधन नहीं, दिग्विजय जैसे नेता ऐसा नहीं होने देना चाहते: मायावती

  • मायावती ने कहा- दिग्विजय भाजपा के एजेंट, उन्होंने मेरे बारे में गलत बयान दिया
  • दिग्विजय सिंह ने कहा था- केंद्र के दबाव की वजह से मायावती कांग्रेस से गठबंधन नहीं कर रहीं
  • मायावती छत्तीसगढ़ में अजित जोगी की पार्टी के साथ गठबंधन कर चुकी हैं

लखनऊ. बसपा प्रमुख मायावती ने बुधवार को कहा कि मध्यप्रदेश और राजस्थान में उनकी पार्टी अकेले चुनाव लड़ेगी, कांग्रेस के साथ गठबंधन नहीं करेगी। उन्होंने कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह पर आरोप लगाया कि वे भाजपा के एजेंट हैं। उन जैसे नेता कांग्रेस-बसपा का गठबंधन नहीं होने देना चाहते।

मायावती ने कहा, ‘‘दिग्विजय सिंह बसपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष का नाम लेकर यह बयान देते हैं कि मायावतीजी पर केंद्र सरकार का बहुत बड़ा दबाव है। वह सीबीआई और ईडी का डर दिखाकर बसपा और कांग्रेस का किसी भी कीमत चुनावी गठबंधन नहीं होने देना चाहती। यह बयान उन्होंने आज टीवी चैनलों को दिया। यह पूरी तरह से असत्य, निराधार और तथ्यहीन है।’’

'मध्यप्रदेश में 230 में 15 सीटें दे रही थी कांग्रेस'

मायावती ने कहा, ‘‘मुझे लगता है कि सोनिया गांधी और राहुल गांधी तो कांग्रेस-बसपा के बीच गठबंधन चाहते हैं। वे ईमानदारी से कोशिश कर रहे हैं, लेकिन इन जैसे नेता (दिग्विजय) चाहते हैं कि बसपा खत्म हो जाए। राजस्थान में कांग्रेस हमें 200 में 9 सीटें दे रही थी। मध्यप्रदेश में हमें 230 में से 15-20 और छत्तीसगढ़ में 90 में से केवल 5-6 सीटें दे रही थी। जब भी हम गठबंधन में चुनाव लड़े तो हमारा सारा वोट शेयर कांग्रेस के पास चला गया। हम ज्यादा सीटें हार गए। इस बात पर ध्यान दिया तो हमने सोचा कि कांग्रेस बसपा जैसी छोटी पार्टियों को खत्म करना चाहती है।’’

'जनता ने कांग्रेस की गलतियों को माफ नहीं किया'

बसपा प्रमुख ने कहा- कांग्रेस लगातार अभिमानी होती जा रही है। उन्हें गलतफहमी है कि वे भाजपा को अपने दम पर हरा सकते हैं। लेकिन, जमीनी हकीकत यह है कि जनता ने कांग्रेस की गलतियों और भ्रष्टाचार को माफ नहीं किया है। कांग्रेस अपने आपको पहचानने के लिए तैयार नहीं लगती है।

मतभेदों को सुलझाया जा सकता है- कांग्रेस

बसपा प्रमुख के बयान पर कांग्रेस नेता रणदीप सुरजेवाला ने कहा- भावनाओं में कभी-कभी मीठी-कड़वी बातें बोल दी जाती हैं। लेकिन, अगर मायावतीजी का राहुल और सोनिया गांधी में पूरा विश्वास है तो मतभेदों को दूर किया जा सकता है।

छत्तीसगढ़ में 35 सीटों पर लड़ेगी बसपा

मायावती छत्तीसगढ़ में अजित जोगी की छत्तीसगढ़ जनता कांग्रेस के साथ मिलकर चुनाव लड़ेगीं। बसपा यहां 35 और जोगी की पार्टी 55 सीटों पर चुनाव लड़ेगी। मुख्यमंत्री का चेहरा अजित जोगी रहेंगे।

मध्यप्रदेश विधानसभा चुनाव 2013


कुल सीटें: 230


पार्टीसीटेंवोट शेयरभाजपा16545.7%कांग्रेस5837.1%बसपा46.4%

राजस्थान विधानसभा चुनाव 2013

कुल सीटें: 200


पार्टीसीटेंवोट शेयरभाजपा16345.7%कांग्रेस2133.1%बसपा33.4%

छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव 2013

कुल सीटें: 90


पार्टीसीटेंवोट शेयरभाजपा4942.4%कांग्रेस3941.6%बसपा14.4%