जाते-जाते एक बार फिर बड़ा झटका देकर जाएगा मानसून!

भोपाल। मानसून की विदाई का दौर जारी है। ऐसे मे वापसी वाला(रिट्रिविंग) मानसून के चलते गुरुवार को मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल में भी कुछ देर हल्की बारिश हुई। जिसके चलते मौसम सुहावना हो गया। वहीं आसमान में छाए बादल पुन: बरसात होने का अंदेशा दे रहे हैं।


जानकारों की माने तो मुमकिन है कि इस बार मानसून जाते जाते एक तगड़ा झटका देकर जा सकता है। दरअसल कुछ जानकारों का कहना है कि अरब सागर में एक संभावित चक्रवात उत्पन्न हो रहा है, जो अभी दक्षिणपूर्व अरब सागर पर चक्रवाती हवाओं के क्षेत्र के रूप में मौजूद है।


ऐसे में संभावना है कि रिट्रिविंग मानसून एक बार फिर थोड़ा रुक जाएगा और उसके साथ बचा पानी वो जहां भी होगा वहीं बसाने का काम कर सकता है।


वहीं ये भी माना जा रहा है कि यह संभावित चक्रवात 5 अक्टूबर तक निम्न दबाव के क्षेत्र को उत्प्रेरित कर सकता है और साथ ही डीप डिप्रेशन में तब्दील हो सकता है। जबकि अगले 48 घंटों में यह उष्णकटिबंधीय तूफान का रूप ले सकता है।


वहीं मौसम विभाग से रिटायर्ड हुए एके शर्मा के अनुसार इस संभावित चक्रवात का मध्यप्रदेश में असर न के बराबर रहेगा, हां गुजरात या आगे के लिए ये थोड़ा परेशानी खड़ा करने वाला हो सकता है।


साथ ही शर्मा का यह भी कहना है कि मौसमी प्रणाली की मौजूदा स्थिति को देखकर यह कहा जा सकता है कि अभी इसके बारे में कोई भी भविष्यवाणी करना जोखिम भरा होगा।


दे सकता है झटका


कुल मिलाकर माना जा रहा है कि 8 से 10 अक्टूबर या 16 से 24 अक्टूबर के बीच में बादल एक बार फिर तगड़ा झटका देते हुए, अचानक तेज बारिश दे सकते हैं। जानकार कहते हैं कि मध्यप्रदेश में दक्षिण-पश्चिम मानसून की वापसी के लिए परिस्थितियां अनुकूल बनी भी हुई हैं।


ये रहेगा मौसम का हाल...
वहीं सामने आ रहे सेटेलाइट चिंत्रों के अनुसार जानकारों का कहना है कि 10 अक्टूबर तक राजधानी में कोई एक दो दिन छोड़कर हल्की सी भी बारिश नहीं होगी।
04-अक्टूबर 2018 को आसमान में बादल छाए रहेंगे। 
05-अक्टूबर को आसमान साफ़ रहेगा।
06-अक्टूबर को आसमान में हल्के बादल कहीं कहीं देखने को मिल सकते हैं।
07-अक्टूबर को एक बार फिर आसमान में आंशिक रूप से बादल छाए रहेंगे।
08-अक्टूबर के बाद 10 अक्टूबर तक आसमान मुख्य रूप से साफ़ रहने की संभावना है।