मध्यप्रदेश-मिजोरम में 28 नवंबर, राजस्थान-तेलंगाना में 7 दिसंबर और छत्तीसगढ़ में दो चरणों में वोटिंग

15:28 (IST)

पांचों राज्यों के विधानसभा चुनाव के वोटों की गिनती एक साथ 11 दिसंबर को होगी. 


15:27 (IST)

मुख्य चुनाव आयुक्त ने कहा कि एमपी और मिजोरम की तरह ही राजस्थान और तेलंगाना में भी एक ही चरण में वोटिंग होगी. यहां एक साथ 7 दिसंबर को वोटिंग होगी.


15:26 (IST)

मुख्य चुनाव आयुक्त ओपी रावत ने कहा कि मध्यप्रदेश की 230 विधानसभा सीटों पर और मिजोरम की 40 सीटों के लिए एक साथ 28 नवंबर को एक ही चरण में वोटिंग होगी.


15:22 (IST)

छत्तीसगढ़ की 90 विधानसभा सीटों पर 2 चरणों में मतदान होगा. पहले चरण का मतदान छत्तीसगढ़ के नक्सल प्रभावित क्षेत्रों की 18 सीटों पर 12 नवंबर को मतदान होंगे. वहीं अन्य सीटों पर 20 नवंबर में चुनाव होंगे.


15:16 (IST)

रावत ने कहा कि एमपी, राजस्थान, छत्तीसगढ़ और मिजोरम में आज से यानी 6 अक्टूबर से ही चुनावी आचार संहिता लागू हो जाएगी. उन्होंने कहा कि चारों राज्यों में चुनाव की पूरी प्रक्रिया 15 दिसंबर तक पूरी कर ली जाएगी. तेलंगाना में चुनाव को लेकर उन्होंने कहा कि इलेक्शन रोल के अपडेशन में देरी के चलते फिलहाल तेलंगाना में चुनाव की तारीखों का ऐलान नहीं किया जा रहा है. उन्होंने कहा कि तेलंगाना चुनाव की तारीखों की घोषणा 12 अक्टूबर को की जाएगी.


15:12 (IST)

मध्यप्रदेश, राजस्थान, छत्तीसगढ़ और मिजोरम में एक साथ चुनाव कराए जाएंगे. तेलंगाना में चुनाव के तारीखों की घोषणा 12 अक्टूबर को होगीः ओपी रावत


14:47 (IST)

पीएम मोदी ने कहा कि राजस्थान की परंपरा बन गई थी की एक बार भाजपा एक बार कांग्रेस लेकिन अब राजस्थान ने फैसला कर लिया है फिर एक बार बीजेपी.


14:45 (IST)

अजमेर में पीएम मोदी ने कहा कि भाजपा की सरकारों की, हमारी कार्य संस्कृति का अगर लेखा-जोखा करना है तो करके देखिए. सबका साथ-सबका विकास, सर्वजन हिताय-सर्वजन सुखाय इस मंत्र की ताकत का उसमें भारत की उज्जवल भविष्य का संकल्प कैसे प्रदर्शित होता है.


14:34 (IST)

पीएम मोदी ने कहा कि कांग्रेस ने एमएसपी की लंबी लंबित मांग को पूरा क्यों नहीं किया? यह हमारी सरकार थी जिस पर हमने सोचा और कार्रवाई की. उन्होंने कहा कि हमारी दिशा सही है, हमारी नीति स्पष्ट है, हमारी नीयत पर कोई शक नहीं कर सकता और हम जिस दिशा में जा रहे हैं हम मेहनत करने में कमी नहीं रखते है.


14:31 (IST)

पीएम मोदी ने कहा, सर्जिकल स्ट्राइक मेरे देश वीर जवानों का बहुत बड़ा पराक्रम था. कौन हिंदुस्तानी होगा जिनको हमारे वीरों पर गर्व न हो. क्या हो गया है कांग्रेस पार्टी को, क्या राजनीति ने आप लोगों को इतना नीचे धकेल दिया है.पीएम मोदी ने कहा कि हमारे लिए सवा सौ करोड़ देशवासी ही हमारा परिवार है.


14:31 (IST)

अजमेर में पीएम मोदी ने कहा कि पहले आपने सर्जिकल स्ट्राइक का अपमान करने की कोशिश की और जब पराक्रम पर्व करके देश के युवा पीड़ी को प्रेरणा मिल रही थी तो उसमे भी आपको गन्दी हरकत करने से बाज नहीं आये.


14:28 (IST)

अजमेर में पीएम मोदी ने कहा कि एक स्वस्थ्य लोकतंत्र में विपक्ष की आवश्यकता होती है लेकिन हमारे पास ऐसे लोग है जो  न केवल 60 साल की सरकार चलाने में विफल रहे बल्कि बतौर विपक्ष भी फेल हुए हैं. उन्होंने कहा कि कांग्रेस, तथ्यों पर चुनाव क्यों नहीं लड़ती? वे झूठ फैलाने में क्यों व्यस्त रहते हैं?


14:26 (IST)

मुरैना में राहुल गांधी | नोटबंदी की पूरा देश लाईन में खड़ा हुआ. हिंदुस्तान के सबसे अमीर लोगों का काला धन सफेद में बदला गया, कोई जेल नहीं गया. मगर 15 लाख रुपये किसी भी गरीब को नहीं मिला. आदिवासियों को जल, जंगल, जमीन का फायदा मिलना चाहिए. जैसे ही मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, राजस्थान में कांग्रेस पार्टी की सरकार आयेगी हम ट्राईबल बिल को लागू करके दिखायेंगे.


14:24 (IST)

मुरैना में राहुल गांधी | मनरेगा की पूरी शक्ति पंचायत में थी. मोदी सरकार आयी और पंचायतों को कमजोर कर दिया. भाजपा के लोगों ने पूरे देश में पंचायती राज के ढांचे पर ही आक्रमण कर दिया. कांग्रेस ने उस समय मनरेगा को चलाने के लिये 35 हजार करोड़ रुपये दिये. नीरव मोदी हिंदुस्तान के बैंकों से 35 हजार करोड़ रुपये चोरी करके भाग गया और उसके खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं हुई.


14:20 (IST)

पीएम मोदी ने कांग्रेस पर आरोप लगाए. उन्होंने कहा एक ही परिवार की आरती उतराना कांग्रेस की फितरत है. विपक्ष बहस से घबराता है, मैदान छोड़कर भाग जाता है.  हमारा हाईकमान राजस्थान की साढ़े सात करोड़ जनता, कांग्रेस का हाईकमान एक परिवार है.


मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, राजस्थान और मिजोरम में आगामी विधानसभा चुनावों को लेकर चुनाव आयुक्त ओपी रावत राजधानी दिल्ली में प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित कर रहे हैं. वहीं दूसरी तरफ पीएम मोदी और कांग्रेस अध्यक्ष राहुल वोटर्स को रिझाने में जुटे हुए हैं. पीएम मोदी ने शनिवार को अजमेर से चुनावी शंखनाद किया तो राहुल गांधी मध्य प्रदेश  दौरे पर हैं.इस बीच कांग्रेस ने चुनाव आयोग पर आरोप लगाया है कि पीएम मोदी की रैली को देखते हुए तारीखों की घोषणा का वक्त बदला गया है. इस पर चुनाव आयोग से जुड़े सूत्रों ने कहा कि पत्रकारों ने शिकायत की थी कि वे इतने कम वक्त में प्रेस वार्ता में शामिल नहीं हो पाएंगे, इस वजह से समय आगे बढ़ाया गया है.

मध्य प्रदेश का समीकरण

मध्य प्रदेश में कुल 231 विधानसभा सीटें है. हालांकि इनमें से 230 सीटों पर ही चुनाव होते हैं और बाकी सदस्य को नामित किया जाता है. 2013 के विधानसभा चुनाव में बीजेपी को 166, कांग्रेस को 57, बसपा को 4 और अन्य को तीन सीटें मिली थी.

MP में ये पार्टियां मैदान में

मध्य प्रदेश में की सियासी लड़ाई कांग्रेस और बीजेपी के बीच मुख्यरूप से है. इसके अलावा बसपा राज्य में एक बड़ी ताकत है. हालांकि इस बार इन तीनों पार्टियों के अलावा भी कई पार्टियां मैदान में उतरने की तैयारी में है. इनमें समाजवादी पार्टी, गोंडवाना गणतंत्र पार्टी और जयस जैसे संगठन शामिल हैं. एससीएसटी एक्ट और प्रमोशन में आरक्षण के खिलाफ सपाक्स की 'अनारक्षित समाज पार्टी' ने  भी चुनाव लड़ने का ऐलान किया है.

राजस्थान में कुल सीटें

राजस्थान में विधानसभा की कुल 200 सीटें हैं, साल 2013 के विधानसभा चुनाव में बीजेपी 163 सीटों के साथ सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी. जबकि कांग्रेस 21 सीटों पर सिमट गई. बसपा को 3, NPP को 4, NUZP को 2 सीटें मिली थीं. जबकि 7 सीटों पर निर्दलीय उम्मीदवार जीते थे.

राजस्थान के रण में सियासी दल

राजस्थान में मुख्यरूप में कांग्रेस और बीजेपी के बीच मुकाबाल है. इन दोनों दलों के अलावा भी कई क्षेत्रीय पार्टियां भी अपनी किस्मत आजमा रही हैं. बसपा और नेशनल पीपल्स पार्टी के अलावा घनश्याम तिवाड़ी ने बीजेपी से बगावत कर अलग भारत वाहिनी पार्टी बनाई है. इसके अलावा निर्दलीय विधायक हनुमान बेनीवाल ने भी अपने समर्थकों को चुनाव में उतारने का मन बनाया है.

छत्तीसगढ़ का सियासी समीकरण

छत्तीसगढ़ में कुल 90 विधानसभा सीटें हैं. 2013 में विधानसभा चुनाव बीजेपी को 49, कांग्रेस को 39, बसपा को 1 और अन्य को एक सीट मिली थी. रमन सिंह की अगुवाई में बीजेपी ने पिछले चुनाव में लगातार तीसरी बार कांग्रेस को मात देकर सरकार बनाई थी. छत्तीसगढ़ में कुल 27 जिले हैं. राज्य में कुल 51 सीटें सामान्य, 10 सीटें एससी और 29 सीटें एसटी के लिए आरक्षित हैं.

ये पार्टियां मैदान में

छत्तीसगढ़ के सियासी रणभूमि में बीजेपी और कांग्रेस के बीच मुख्य मुकाबला है. हालांकि इस बार इन दोनों दलों के अलावा कांग्रेस के बगावत कर अजीत जोगी ने छत्तीसगढ़ जनता कांग्रेस-जोगी नाम से पार्टी बनाई है और उन्होंने बसपा से गठबंधन किया है. इसके अलाव गोंडवाना गणतंत्र पार्टी भी मैदान में है.

मिजोरम में कुल सीटें

पूर्वोत्तर के मिजोरम में कुल 40 विधानसभा सीटे हैं. 2013 के विधानसभा चुनाव में इन 40 सीटों में से कांग्रेस को 34, एमएनएफ को 5 और और एमपीसी को 1 सीट मिली थी. हालांकि इस बार इन तीनों दल के अलावा बीजेपी भी मैदान में अपनी किस्मत आजमाएगी.

तेलंगाना की सियासी समीकरण

तेलंगाना में कुल 119 विधानसभा सीटें हैं. पिछली बार राज्य के विधानसभा चुनाव 2014 के लोकसभा चुनाव के साथ हुए थे. लेकिन मुख्यमंत्री केसीआर ने समय से पहले विधानसभा भंग करने की सिफारिश कर दी थी, जिसके विधानसभा चुनाव हो सकते हैं.

2014 के विधानसभा चुनाव में राज्य की 119 सीटों में से केसीआर की पार्टी टीआरएस को 90 सीटें मिली थी. जबकि कांग्रेस को 13,  ओवैसी की पार्टी AIMIM को 7, बीजेपी को 5, टीडीपी को 3 और सीपीआईएम को 1 सीट मिली थी. इन बार भी इन्हीं पार्टियों के बीच मुकाबला है.