ज्योतिरादित्य सिंधिया ने खुद को देवदूत कहा



गुना। मध्यप्रदेश चुनाव कांग्रेस के नंबर 3 नेता एवं सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया ने खुद को फरिश्ता बताया है। बता दें कि इससे पहले भी नेताओं को भगवान बताने वाले बयान आ चुके हैं परंतु यह शायद पहला है जब किसी नेता ने खुद को देवदूत कहा है। 

दरअसल, गुना में कांग्रेस उम्मीदवार के पक्ष में चुनाव प्रचार करने पहुंचे ज्योतिरादित्य सिंधिया से जब पूछा गया कि क्या वे पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह के गढ़ राघोगढ़ में चुनाव प्रचार करने जाएंगे। तो उन्होंने जवाब दिया, 'मैं तो चलता हुआ फ़रिश्ता हूं, जहां बुलाया जाएगा वहां जाऊंगा।

मुस्लिम धर्मग्रंथों में इस शब्द का उल्लेख मिलता है। वहां खुद के दूत को फरिश्ता बताया गया है जो खुद को आदेश पर काम करता है। हिंदू धर्मग्रंथों में देवताओं का कथाएं हैं। वो भी फरिश्तों के समतुल्य समझीं जातीं हैं।