मंदिर वहीं बनाएंगे' नारे से कब तक लोगों को बनाएंगे बेवकूफ : ठाकरे

पुणे/मुंबई। शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने हर चुनाव के पहले राम मंदिर का मुद्दा उछाले जाने को लेकर गुरुवार को हैरानी जताई। उन्होंने सवाल किया कि "मंदिर वहीं बनाएंगे" के नारे से आखिर लोगों को कब तक बेवकूफ बनाया जाता रहेगा। उन्होंने कहा कि वह 25 नवंबर को अयोध्या की अपनी प्रस्तावित यात्रा में इस सवाल का जवाब चाहेंगे।

उन्होंने शिवाजी महाराज की जन्मस्थली शिवनेरी किला (पुणे की जुन्नार तहसील) से गुरुवार को मिट्टी भी एकत्र की। इस मौके पर उन्होंने पत्रकारों को बताया कि वह इस मिट्टी को रविवार को अयोध्या यात्रा में ले जाएंगे। शिवसेना सांसद शिवाजीराव अधलराव पाटिल ने बताया कि उद्धव गुरुवार सुबह हेलिकॉप्टर से शिवनेरी किला पहुंचे और छत्रपति शिवाजी महाराज को श्रद्धांजलि अर्पित करने के बाद वहां से मिट्टी एकत्रित की।

मालूम हो कि उद्धव ने अयोध्या में राम मंदिर निर्माण को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर सवाल उठाते हुए विजयादशमी के मौके पर अपनी पार्टी की एक रैली में एलान किया था कि वह 25 नवंबर को अयोध्या जाएंगे। उद्धव ने कहा कि जहां शिवाजी महाराज का जन्म हुआ था, वहां की मिट्टी से सभी हिंदुओं की भावनाएं जुड़ी हैं और इसे एकत्र कर राम मंदिर निर्माण की प्रक्रिया तेज की जाएगी।

उन्होंने कहा- "राम मंदिर का मुद्दा हर चुनाव के पहले उछलता है। मैं इसका जवाब चाहता हूं कि और कितने चुनावों तक "मंदिर वहीं बनाएंगे" के नारे से लोगों को बेवकूफ बनाया जाता रहेगा। उल्लेखनीय है कि यह नारा ढहाए जा चुके विवादित ढांचे की जगह मंदिर निर्माण के लिए हिंदूवादी गुट लगाते रहे हैं। यह पूछे जाने पर कि क्या अयोध्या में जनसभा करने की अनुमति मिली है, ठाकरे ने कहा कि मूल कार्यक्रम में उस जगह जाकर भगवान राम का आशीर्वाद लेना है, जैसा रैली में कहा गया था।
उन्होंने कहा-"साधुओं की इच्छा है कि मैं उस जगह जाऊं ताकि मैं उनसे आशीर्वाद ले सकूं। शाम को मैं सरयू नदी के तट पर आरती में भी भाग लूंगा।" शिवसेना के एक पदाधिकारी ने बताया कि शिवसैनिकों को अयोध्या ले जाने के लिए एक स्पेशल ट्रेन बुक की गई है। मगर, महिला तथा युवा सेना के कार्यकर्ताओं को रहने की असुविधा के कारण अयोध्या नहीं आने को कहा गया है। शिवसेना ने अयोध्या में राम मंदिर के लिए अपनी पार्टी का आंदोलन तेज करने को "पहले मंदिर, फिर सरकार" का एक नया नारा दिया है।