कमजोर सीटों पर लगाई नेताओं की ड्यूटी,  चुनाव की ‘परीक्षा’से तय होगी सांसदों की परफॉरमेंस

भोपाल. विधानसभा चुनाव में सांसदों की निष्क्रियता पर भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने नाराजगी जताई है। सोमवार देर रात तक प्रदेश कार्यालय में चली बैठक में शाह ने कहा कि कई सांसदों की रिपोर्ट आई है कि वे न तो अपने क्षेत्र में संगठन के काम में सक्रिय हो रहे हैं और न ही प्रचार में जा रहे हैं। शाह ने साफ कहा कि इस बार विधानसभा चुनाव के परिणामें से ही सांसदों की परफारमेंस तय होगी।


अपने साथ नामांकन के बाद हर सीट पर स्थिति की रिपोर्ट लेकर आए शाह ने 35 कमजोर सीटों पर बड़े नेताओं की ड्यूटी लगाने के लिए कहा है। इनमें 9 मंत्रियों की सीटें भी हैं। शाह ने बैठक में कहा कि अब नौ दिन बचे हैं, सभी ताकत झोंक दें। उधर, शाह के फरमान के बाद संगठन महामंत्री सुहास भगत ने सभी सांसदों को मंगलवार को पाबंद कर दिया है।


चाहे जो हो, बागियों को बैठाओ


शाह मध्यप्रदेश में अपनी ही पार्टी के लिए संकट बने बागियों को न साध पाने पर प्रदेश संगठन से खासे नाराज हैं। उन्होंने बैठक में कहा कि किसी भी हालत में बागियों को मनाकर भाजपा प्रत्याशी के पक्ष में बैठाया जाए। राष्ट्रीय संगठन महामंत्री रामलाल को भी नेताओं की नाराजगी दूर करने और घर 
बैठे नेताओं को सक्रिय करने मैदान में उतारा गया है। रामलाल मंगलवार को अचानक सतना पहुंचे और वहां उन्होंने स्थानीय नेताओं के साथ मंत्रणा की।


प्रत्येक बूथ प्रभारी से संपर्क करेगा संगठन


चुनाव के पहले भाजपा प्रदेश के हर बूथ प्रभारी से संकर्प करके उसे मतदान के दिन की रणनीति बताएगी। यह काम भी अमित शाह की मंशा पर हो रहा है। इसके लिए प्रदेशभर में संभाग स्तर पर पदाधिकारियों की टीमें बनाई गई हैं, जो बूथ प्रभारियों से चर्चा करके उनके यहां की स्थिति के साथ सुझाव भी ले रही हंै। शाह लगातार बूथ मजबूत करने के टारगेट पर जुटे हैं। ऐसे में आखिरी बार बूथ की समीक्षा कर वहां की पूरी जानकारी ली जा रही है।


पार्टी ने शुरू किए अभियान


‘कमल दीपक’ और ‘कमल झंडा’ से प्रदेश में चुनाव जीतेगी भाजपा


मध्यप्रदेश में भाजपा मतदान से पूर्व हर बूथ पर ‘कमल दीपक’ और ‘कमल झंडा’ अभियान के जरिए पार्टी की जीत सुनिश्चित करेगी। इसके तहत हर विधानसभा में घरों को चिन्हित किया गया है, जहां पार्टी के कार्यकर्ता इन घरों में कमल रूपी दीपक जलाएंगे और कमल का झंडा लगाएंगे।


राष्ट्रीय उपाध्यक्ष और प्रदेश प्रभारी विनय सहस्रबुद्धे ने कहा कि भाजपा जीत के लिए पूरी तरह से आश्वस्त है। दिल्ली में एक कार्यक्रम के दौरान मीडिया से बात करते हुए सहस्रबुद्धे ने कहा कि 21 नवंबर को कार्यकर्ता कमल के आकार वाली मोमबत्ती का दीपक जलाएंगे। साथ ही हर घर में कमल का झंडा पहुंचाने की योजना भी है। उन्होंने बताया, कमल झंडा अभियान के तहत पार्टी 40 हजार बूथों तक पहुंच चुकी है।


एक करोड़ परिवारों को दीपक बांटने का दावा
भाजपा ने दावा किया कि बुधवार को प्रदेश के एक करोड़ परिवारों को पार्टी दीए बांटकर कमल दीपावली मनाएगी। पार्टी उपाध्यक्ष प्रभात झा ने मंगलवार को प्रेस वार्ता में बताया कि भाजपा ने 62 हजार गांवों में कमल दिवाली मनाने का लक्ष्य रखा है। दीयों को शाम 7 बजे से रात 10 बजे के बीच रोशन किया जाएगा।