मध्यप्रदेश सत्ता संग्राम: मायावती ने कहा- बसपा को खत्म करना चाहती थी कांग्रेस



भोपाल। मध्य प्रदेश चुनाव में प्रचार करने पहुंची बसपा सुप्रीमो मायावती ने कांग्रेस पर जमकर हमला बोला। भोपाल में बसपा प्रत्याशी के पक्ष में चुनावी सभा करने आईं मायवती ने कांग्रेस के साथ गठबंधन नहीं होने के पीछे कांग्रेस का प्रदेश में कमजोर होना बताया। बसपा प्रमुख के मुताबिक कमजोर कांग्रेस प्रदेश में गठबंधन कर सत्ता हासिल करना चाहती थी लेकिन पार्टी ने अपने दम पर चुनाव लड़ने का फैसला किया।

 मायावती ने कहा कि कांग्रेस खिसियानी बिल्ली खंभा नोचे की तरह बीएसपी पर जानबूझकर गलत आरोप लगा रही है। बसपा प्रमुख ने कहा कि बीजेपी और कांग्रेस दोनों पार्टियां दलित, अल्पसंख्यक और किसान विरोधी हैं। मायावती ने इस बार चुनाव में बीएसपी के पक्ष में मतदान की अपील की।


बता दें कि मध्य प्रदेश में कांग्रेस और बसपा का गठबंधन होते-होते नहीं हो पाया था। गठबंधन के लिए चर्चाएं तेज थीं लेकिन अंतिम समय पर बसपा प्रमुख ने ऐलान किया था कि बसपा एमपी में कांग्रेस से गठबंधन नहीं करेगी। उन्होंने आरोप लगाया था कि कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह आरएसएस के एजेंट हैं।

मध्य प्रदेश में बहुजन समाज पार्टी का विंध्य, बुंदेलखंड और ग्वालियर-चंबल संभाग में प्रभाव है। साल 2013 के चुनाव में बसपा के खाते में चार सीटें गई थी। इसमें 62 विधानसभा सीटें ऐसी हैं, जहां बीएसपी को दस हजार और 17 सीटों पर तीस हजार वोट मिले थे।