बाहरी नेता दिखे, पैसा, साड़ी, शराब बंटती दिखे तो वीडियो बनाएं, हमें बताएं: चुनाव आयोग |

भोपाल। विधानसभा चुनाव के लिए सोमवार शाम 5 बजे प्रचार थम गया। अब पूरे मध्यप्रदेश में कोई भी बाहरी नेता किसी भी शहर या गांव में ठहर नहीं सकता। चुनाव आयोग के आदेश से शहर की होटलों में रुके लोगों का छानबीन की जाएगी और संदिग्ध लोगों की धड़पकड़ की जाएगी। बाहरी लोगों को शहर छोड़कर जाना होगा नहीं तो उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। 

 

चुनाव आयुक्त वीएल कांताराव ने बताया कि चुनाव आयोग के आदेश के बाद दो दिन के लिए प्रदेशभर में शराब की दुकाने बंद रखने के आदेश दिए गए हैं। धारा-144 मतदान समाप्ति तक लागू रहेगी। निर्वाचन आयोग ने सोशल मीडिया पर चुनाव प्रचार पर भी प्रतिबंध लगाया है। सुरक्षा व्यवस्था में 180000 कर्मचारियों को लगाया गया है। 
बाहरी नेता दिखे, पैसा, साड़ी, शराब बंटती दिखे तो क्या करें

सबसे अच्छा होगा कि चुपके से उनका वीडियो बनाएं। 

इसकी जानकारी सीधे डायल 100 को दें। 

मध्य प्रदेश चुनाव आयोग हेल्पलाइन नंबर 0755 255 5527 पर सूचित करें। 

सीविजिल एप पर शिकायत अपलोड करें। यहां आपका नाम गोपनीय रहता है।