मुस्लिम पक्षकार इकबाल अंसारी का बड़ा बयान, 'कानून बनाकर राम मंदिर का निर्माण कराए सरकार, हमें कोई ऐतराज नही'

अयोध्या (उत्तर प्रदेश) : राम मंदिर निर्माण की दिशा में मुस्लिम पक्षकार इकबाल अंसारी ने बड़ा बयान दिया है। इकबाल अंसारी ने अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए कानून का समर्थन किया है। अंसारी ने कहा है कि मंदिर निर्माण के लिए सरकार यदि कानून लाती है तो उन्हें इस पर कोई आपत्ति नहीं होगी। वह इस मामले में राजनीतिक विवाद का अंत चाहते हैं। वहीं, राम मंदिर के पुजारी सत्येंद्र दास ने अंसारी के बयान का समर्थन किया है। अंसारी का यह बयान चौंकाने वाला और महत्वपूर्ण है क्योंकि अंसारी इसके पहले राम मंदिर विवाद का समाधान सुप्रीम कोर्ट के जरिए करने की बात कहते आए हैं।   


टाइम्स नाउ से खास बातचीत में इकबाल अंसारी ने कहा, 'राम मंदिर निर्माण के लिए सरकार को लोकसभा में बिल लाना चाहिए और उसे बिल के जरिए इस मामले को खत्म करना चाहिए। सरकार यदि कानून बनाती है तो हमें कोई ऐतराज नहीं है। हम अकेले कानून को रोक नहीं सकते। भाजपा सरकार अच्छा काम कर रही है, हम उसकी तारीफ करते हैं।' उन्होंने आगे कहा, 'अयोध्या में जो राजनेता धरना-प्रदर्शन करने के लिए आते हैं, वे अपना मकसद बताएं। मामला सुप्रीम कोर्ट में है। अयोध्या में भीड़ जुटती है और कोई काम बिगड़ जाए तो लोग क्या करेंगे।'

अंसारी के बयान पर प्रतिक्रिया देते हुए राम मंदिर के पुजारी सत्येंद्र दास ने कहा, 'अंसारी ने जो कहा है, हम उसका स्वागत करते हैं। सरकार को चाहिए कि वह जल्द से जल्द कानून बनाकर मंदिर का निर्माण कराए। इनके पिता हाशिम अंसारी ने भी अयोध्या विवाद के समाधान की पहल की थी लेकिन वह सफल नहीं हो पाए थे। अंसारी का बयान स्वागतयोग्य है। मुझे लगता है कि उनके बयान का असर सरकार पर भी पड़ेगा।'

बता दें कि सुप्रीम कोर्ट में अयोध्या मामले की सुनवाई टलने के बाद हिंदूवादी संगठनों एवं साधु संतों ने मंदिर निर्माण की मांग तेज कर दी है। वे अध्यादेश के जरिए मंदिर निर्माण के लिए सरकार पर दबाव बना रहे हैं। अयोध्या में 25 नवंबर को विश्व हिंदू परिषद (वीएचपी) की एक बड़ी रैली होनी है और इसी दिन शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे भी यहां पहुंच रहे हैं।