दूसरे दिन भी बढ़ गया मतदान का प्रतिशत, जानिए किसकी बन रही है सरकार

भोपाल। मध्यप्रदेश में 28 नवंबर को हुए मतदान का प्रतिशत बढ़ने का सिलसिला थमा नहीं है। कल शाम तक निर्वाचन आयोग ने 75.61 प्रतिशत मतदान का आंकड़ा दिया था, जो गुरुवार शाम तक 74.85 हो गया है।


मध्यप्रदेश के मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी वीएल कांताराव ने गुरुवार शाम को प्रेस कांफ्रेस कर बताया कि अभी सभी पीठासीन अधिकारियों की रिपोर्ट की स्क्रीटनी चल रही है। सभी पोलिंग बूथों के नतीजे आने में अभी कल तक का वक्त लगेगा।


 


कांताराव ने बताया कि मतदान का प्रतिशत अभी और भी बढ़ सकता है। मध्यप्रदेश में कुल 74.85 प्रतिशत मतदान हो चुका है। अनूपपुर मोहड़ी के मतदान केंद्र में गड़बड़ी की शिकायत आई है। इसकी सूचना चुनाव आयोग को भेज दी है। कांताराव ने बताया कि अब तक सभी ईवीएम को कड़ी सुरक्षा में रखा गया है। पूरे प्रदेश में 72.72 प्रतिशत पुरुष और 73.86 महिलाओं ने मतदान किया।


उन्होंने बताया कि कल तक पूरे प्रदेश के मतदान प्रतिशत में और भी इजाफा हो सकता है। कांताराव ने कहा कि सतना में रीपोल की मांग की गई, लेकिन वहां री पोल की आवश्यकता नहीं है। इससे पहले बुधवार को वोटिंग के बाद 5 बजे हुए प्रेस कांफ्रेस में कांतारावा ने कहा था कि शाम 6 बजे तक 74.61 प्रतिशत रहा। देर रात को भी पोलिंग दल जब पहुंचा तब आंकड़ा बढ़ता गया।


 


यह भी खास
-मध्यप्रदेश में 230 सीटों पर शांतिपूर्ण मतदान पूरा हुआ।
-881 कंट्रोल यूनिट बदले गए।
-2126 वीवीपैड को मोक पोल के दौरान बदलना पड़ा।
-386 शिकायतें प्राप्त हुई। सभी का निराकरण कर दिया। अब 
कोई लंबित नहीं है।
-883 वैलेट यूनिट बदले गए।
-महज एक फीसदी मशीनों को बदला गया।
-74.61 मध्यप्रदेश में शाम 6 बजे तक की स्थिति। यह रात में


और भी बढ़ जाएगी।
-यह प्रतिशत पिछले चुनाव 2013 से अधिक है। 
-कांताराव ने बताया कि सिंधिया के ट्वीट पर जवाब दे दिया है।
-2899 प्रत्याशियों की किस्मत का फैसला 11 दिसंबर को होगा।
-किसी भी पोलिंग बूथ पर कब्जा नहीं हुआ।
-भोपाल में 170 मशीन बदली गईं।
-इंदौर, धार और गुना में तीन अधिकारियों की मौत।
-शुजालपुर के मतदान अधिकारी को निलंबित किया।
-किसी भी बूथ पर रिपोल नहीं हुआ।