मध्‍य प्रदेशः एनपी प्रजापति बने विधानसभा अध्यक्ष, पक्ष में पड़े 120 वोट, भाजपा का वॉकआउट

भोपाल:

मध्य प्रदेश विधानसभा की दूसरे दिन की कार्रवाई लगातार हंगामे की गवाह बनी सदन की शुरुआत में प्रोटेम स्पीकर दीपक सक्सेना ने कांग्रेस के 4 प्रस्ताव पर एनपी प्रजापति को स्पीकर निर्वाचित होने का आदेश दे दिया. प्रजापति को 120 वोट मिले. वहीं, विपक्ष के वॉकआउट के कारण विपक्ष में कोई वोट नहीं पड़ा. इससे पहले चुनाव की प्रक्रिया के दौरान जमकर हंगामा हुआ. सदन की कार्यवाही शुरू होने पर प्रोटेम स्पीकर ने नियम पांच का हवाला देकर बिना वोटिंग के एनपी प्रजापति को विधानसभा अध्यक्ष घोषित किया.

विधानसभा की कार्यवाही का पहला दिन प्रदेश के विधायी इतिहास का काला दिन रहा। सत्ता पक्ष द्वारा सदन में लोकतांत्रिक मूल्यों की धज्जियां उड़ाई गईं। विधानसभा अध्यक्ष की निर्वाचन प्रक्रिया में नियमों एवं संसदीय परंपराओं को ताक पर रख दिया गया। हम इसका पुरजोर विरोध करते हैं। 

इसके बाद पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव के साथ बीजेपी के तमाम विधायक सदन से बाहर आ गए. बाहर आकर बीजेपी ने घोषणा की कि वह प्रोटेम स्पीकर के खिलाफ राजभवन तक पैदल मार्च करेंगे और राज्यपाल को अपने ग्रुप से अवगत कराएंगे . बीजेपी के तमाम विधायक विधानसभा से राजभवन तक पैदल मार्च करते हुए पहुंचे. इस बीच पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने आरोप लगाया कि विधानसभा में विपक्ष की आवाज को दबाया जा रहा है और संसदीय परंपराओं का उल्लंघन किया जा रहा है .

बीजेपी के तमाम सदस्य संसदीय प्रक्रिया की दुहाई देते हुए सदन से बाहर आकर राजभवन तक पहुंचे और राज्यपाल को ज्ञापन दिया इस बीच आज हम पर भारी सुरक्षा इंतजाम किए गए थे और केवल विधायकों को ही अंदर प्रवेश किया गया यह तमाम विधायक अध्यक्ष के चुनाव को लेकर अपनाई गई प्रक्रिया से असंतुष्ट हैं और राज्यपाल से मिलकर आ रहे हैं.