भाजपा ने राष्ट्रपति से समय मांगा, अविश्वास प्रस्ताव लाएंगे

भोपाल। विधानसभा में अध्यक्ष एवं उपाध्यक्ष का पद हाथ से निकल जाने के बाद भारतीय जनता पार्टी ने राष्ट्रपति महोदय से मिलने का समय मांगा है। नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि हम अध्यक्ष के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाएंगे। भार्गव ने कहा कि हम कानूनी बिन्दुओं का अध्ययन कर रहे हैं। इस प्रक्रिया के खिलाफ कोर्ट में याचिका भी फाइल कर सकते हैं। 
मध्य प्रदेश विधानसभा की परंपरा टूटने से गुस्सायी बीजेपी अब राष्ट्रपति के पास कांग्रेस की शिकायत लेकर जाएगी। नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव ने इसे लोकतंत्र के इतिहास का काला दिन बताया। उन्होंने कहा सदन में पिछले 4 दिन में जो कुछ हुआ उसमें कांग्रेस ने लोकतांत्रिक संस्थाओं का क़त्लेआम किया है। गोपाल भार्गव ने कहा सत्ता पक्ष के इस रवैए की शिकायत पार्टी राष्ट्रपति से करेगी। पार्टी ने राष्ट्रपति से मिलने का समय मांगा है। 

स्पीकर और सत्तापक्ष ने जो किया उसके बारे में राष्ट्रपति से मिलकर शिकायत करेंगे। विपक्ष विधानसभा स्पीकर के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाएगा. इसके साथ ही कोर्ट जाने पर भी विचार किया जा रहा है। मध्य प्रदेश की 15 वीं विधानसभा के अध्यक्ष पद के बाद उपाध्यक्ष पद चुनाव के लिए भी सत्ता और विपक्ष में ठनी रही। वैसे सदन की परंपरा ये रही है कि अध्यक्ष सत्ता पक्ष का और उपाध्यक्ष विपक्ष का रहता है लेकिन 29 साल बाद ये परंपरा टूट गयी। दोनों पद पर सत्ता पक्ष काबिज है।