mp board result 2019: इन तारीखों में आ सकता है 10वीं, 12वीं का रिजल्ट, ऐसे पता करें मार्कशीट

 


भोपाल। मध्यप्रदेश की माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (mpbse) की कक्षा 10वीं और 12वीं के रिजल्ट का समय अब आ गया है। मध्यप्रदेश बोर्ड का रिजल्ट 15 मई तक जारी हो जाने की उम्मीद जताई गई है। रिजल्ट सीधे बोर्ड की अधिकृत वेबसाइट पर जारी होगा, इसके अलावा एसएमएस के जरिए भी रिजल्ट पता किया जा सकता है।

मध्यप्रदेश शिक्षा मंडल ने हालांकि अब तक रिजल्ट की अधिकृत जानकारी नहीं दी है, लेकिन संभावना व्यक्त की जा रही है कि रिजल्ट 15 मई तक दसवीं और बारहवीं का रिजल्ट घोषित कर दिया जाएगा। क्योंकि पिछले साल 14 मई को दसवीं और 12वीं का रिजल्ट एकसाथ जारी किया गया था। इसे ध्यान में रखते हुए बोर्ड यही कोशिश कर रहा है कि 15 मई से पहले रिजल्ट जारी कर दिए जाएं।

 

18 परीक्षार्थी हुए थे शामिल
Madhya Pradesh Board of Secondary Education की परीक्षा में 10वीं और 12वीं की परीक्षा में 18 लाख 66 हजार से अधिक परीक्षार्थी शामिल हुए थे। हाईस्कूल परीक्षा में इस वर्ष 11,32,741 परीक्षार्थियों ने परीक्षा दिया था। वहीं, हायर सेकंडरी परीक्षा में करीब 7,32,319 लाख परीक्षार्थियों ने हिस्सा लिया था। हाईस्कूल परीक्षा के लिए 3,864 परीक्षा केन्द्र बनाए गए थे। जबकि हायर सेकंडरी परीक्षा के लिए 3,554 परीक्षा केन्द्र बनाए गए थे।

 

मंगलवार तक खत्म जमा हो जाएंगी उत्तर पुस्तिकाएं
सूत्रों के मुताबिक इस बार कई शिक्षकों की ड्यूटी चुनाव में लगे होने से कहा जा रहा था कि रिजल्ट में देरी हो सकती है, लेकिन बोर्ड ने ऐसी व्यवस्था की है कि चुनाव में ड्यूटी वाले शिक्षक अलग और परीक्षा की कांपियां और रिजल्ट जारी करने वाले शिक्षकों को इससे अलग रखा गया है। हर हाल में 30 अप्रैल तक कापी जांचने का काम पूरा करने की डेडलाइन दी गई थी।

 

 

एमपी बोर्ड परीक्षा एक नजर
मध्यप्रदेश बोर्ड की 10वीं एक मार्च से शुरू हुई थी, जो 27 मार्च तक चली थी। इसके साथ ही 12वीं बोर्ड की परीक्षा 2 मार्च को शुरू हुई थी, जो 2 अप्रैल तक चली थी। पिछले साल हुई दसवीं और 12वीं की परीक्षा का रिजल्ट 14 मई को घोषित हो गया था। इसके बाद ऐसी संभावना है कि इस बार भी बोर्ड पिछली बार की तरह इस बार भी दसवीं और 12वीं का रिजल्ट एक साथ जारी कर देगा।

 

 

ऑनलाइन देख सकेंगे रिजल्ट
कक्षा दसवीं और 12वीं के विद्यार्थी एमपी बोर्ड की आफिशियल वेबसाइट पर भी रिजल्ट देख सकते हैं। इसके लिए mpbse.nic.in का अवलोकन किया जा सकता है। इसके अलावा पत्रिका की वेबसाइट के जरिए भी आप अधिकृत वेबसाइट पर जा सकते हैं।

sms से देख सकते हैं रिजल्ट
-10वीं के लिए MPBSE10 (स्पेस) ROLLNUMBER और 56263 पर भेज दें।

- 12वीं के लिए MPBSE10 (स्पेस) ROLLNUMBER और 56263 पर भेज दें।

शिवपुरी। शिवपुरी लोकसभा चुनावों के अंतर्गत कांग्रेस के प्रत्याशी अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के महामंत्री एवं क्षेत्र के वर्तमान सांसद श्रीमंत ज्योतिरादित्य सिंधिया 30 मई को शिवपुरी जिले के दौरे पर रहेंगे निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार 30 मई को सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया
नावली ,गणेश खेड़ा,माडा गणेशखेड़ा,वीजरी और शिवपुरीशहर के अंतर्गत आने वाली वार्ड नंबर 36 में काली माता मंदिर के पास, वार्ड नंबर 33 और 24 में सुभाष चौक पर वार्ड नंबर 33 में चीलोद पर एवं वार्ड नंबर 32 में कमला गंज में नुक्कड़ सभाओं को संबोधित करेंगे ।उसके बाद 1 मई को सायंकाल 5:00 बजे भोंती में उसके बाद रन्नोद ,खतौरा और लुकवासा में जनसभाओं को संबोधित करते हुए गुना की ओर प्रस्थान करेंगे जिला कांग्रेस के प्रवक्ता राकेश जैन अमोल ने उक्त संबंध में जानकारी दी है।

शिवपुरी और कोलारस में भाजपा के कार्यकर्ता सम्मेलन कल, केपी यादव भी रहेंगे मौजूद

शिवपुरी।
भारतीय जनता पार्टी लोकसभा चुनाव की दृष्टि से विधानसभा का कार्यकर्ता सम्मेलन कोलारस एवं शिवपुरी में 29 अप्रैल को रखा गया है जिसमें लोकसभा प्रभारी महेंद्र यादव एवं भाजपा लोकसभा प्रत्याशी डॉ केपी यादव कार्यकर्ताओं से संवाद करेंगे। यह विधानसभा सम्मेलन 29 अप्रैल को कोलारस विधानसभा का सम्मेलन कोलारस  में सुबह 11 बजे गोपाल जी गार्डन ए बी रोड एवम शिवपुरी विधानसभा का सम्मेलन में दोपहर 1 बजे उत्सव बाटिका प्राइवेट बस स्टैंड के पास में आयोजित किया जा रहा है।
इसके उपरांत भाजपा प्रत्याशी माधव चोक होते हुए कोर्ट रोड पर जनसम्पर्क,एवम शाम 6 बजे करोदी रामजानकी मंदिर के पास में नुक्कस सभा तथा 7 बजे लुधावाली में नुक्कड़ सभा रखी गयी है। इस विधानसभा सम्मेलन में विधानसभा में निवासरत समस्त भाजपा पदाधिकारी, मतदान केंद्र संयोजक, मतदान केंद्र प्रभारी- सह प्रभारी, ग्राम केंद्र नगर केंद्र के पालक संयोजक, सभी मोर्चा प्रकोष्ठ के कार्यकर्ता एवं विधान सभा में निवासरत समस्त कार्यकर्ता उपस्थित रहेंगे।

*मोदी के पीएम बनने पर राष्ट्रवाद लहरायेगा और महागठबंधन जलकर राख हो जायेगा: स्वतंत्रदेव*
अशोकनगर,28 अपै्रल (हि.स.) जिस प्रकार हनुमान जी ने राम और लक्ष्मण को कंधों पर बैठाकर सोने की लंका का दहन किया था, उसी प्रकार इस बार लोग एक कंधे पर नरेन्द्र मोदी और दूसरे कंधे परभारत मां को बैठाकर महा गठबंधन को जलाकर खाक करने जा रही है।
यह बात उत्तर प्रदेश के परिवहन मंत्री एवं मप्र के लोकसभा चुनाव प्रभारी स्वतंत्रदेव सिंह ने रविवार को चंदेरी विधानसभा सम्मेलन में ईसागढ़ में संबोधित करते हुए कही। उन्होंने कहा कि पं.दीनदयाल उपाध्याय और श्यामाप्रसाद मुखर्जी ने कश्मीर को बचाने के लिए अपने प्राणों की आहुति तक दे दी, वहीं कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी आज कश्मीर को अलग करने की बात करते हैं। तथा नवजोत सिंह सिद्धू जैसे नेता केरल में भाषण देकर बोलते हैं अगर 70 फीसदी मुसलमान एक साथ खड़े हो जाएं तो नरेन्द्र मोदी प्रधानमंत्री नहीं बन सकेंगे, इस तरह की भाषा कांग्रेस द्वारा बोली जा रही है और सभी जातियों को ललकारा जा रहा है। स्वतंत्र देव सिंह ने कहा कि इस तरह की ललकार को देखते हुए सभी लोगों को राष्ट्रवाद के साथ खड़े होने का समय है। राष्ट्रवाद के लिए प्रत्येक व्यक्ति को घर-घर से निकल कर राष्ट्रवाद के लिए नरेन्द्र मोदी के साथ गुना सीट पर भाजपा उम्मीदवार को वोट देना होगा।
लोकसभा प्रभारी स्वतंत्र देव सिंह से पूर्व भाजपा उम्मीदवार डॉ.केपी यादव ने कहा कि-
 *कार्यकर्ताओं की राजनैतिक हत्या करते हैं सिंधया:डॉ.केपी*
क्षेत्रिय सांसद स्वयं को महाराज कहलवाने के लिए कार्यकर्ताओं की राजनैतिक हत्या करते हैं। झांसी की रानी के साथ क्या हुआ में इस पर नहीं जाना चाहता, पर सांसद द्वारा आज भी देश के साथ गद्दारी भरे कृत किए जा रहे हैं। भारत तेरे टुकड़े होंगे इंशा-अल्ला, इंशा-अल्ला नारे लगाने वालों का समर्थन करना देश के साथ गद्दारी नहीं तो क्या है।
यह बात भारतीय जनतापार्टी उम्मीदवार डॉ.केपी यादव ने कही। उन्होंने कहा कि क्षेत्र सांसद सिंधिया की पत्नी क्षेत्र में घूम रहीं हैं, उनके द्वारा किसी पार्टी के लिए वोट न मांगते हुए महाराज नाम से वोट मांगे जा रहे हैं, पर जनता अब बहुत जागरूक हो चुकी है और वो लोकतंत्र के महत्व को समझने लगी है। डॉ. केपी ने कहा कि जनता को इनसे सवाल कर पूछना चाहिए कि अब तो आप महाराज के नाम पर वोट के लिए घूम रही हो, पर 5 साल आपको कहां ढूंढेगे? उन्होंने कहा कि जो सांसद 17 सालों में कोई विकास और प्रगति के काम न करा सका हो क्षेत्र में कोई उद्योग, कॉलेज, पीने का पानी आदि बुनियादी सुविधायें न दे सका हो आखिर ऐसे सांसद को हम क्यों चुनें। उन्होंने कहा कि स्वयं को महाराज कहलवाने के लिए ये सदैव कार्यकर्ताओं की राजनैतिक हत्या करते रहे हैं। कहा कि मेरे जैसे और वीरेन्द्र सिंह रघुवंशी जैसे लोग इस बात का प्रमाण हैं। इस लिए राष्ट्र और क्षेत्र के सम्मान के लिए इस बार भाजपा का सांसद चुने ताकि नरेन्द्र मोदी के प्रधानमंत्री बनने पर देश के साथ इस क्षेत्र में भी खुशियां मनाई जाएं।
कोलारस विधायक वीरेन्द्र सिंह रघुवंशी ने कहा कि इस बार देश में नरेन्द्र मोदी के प्रधानमंत्री बनने की खुशी गुना सीट पर मनाने के लिए डॉ.केपी यादव की भागीदारी आवश्यक है। गुना लोकसभा प्रभारी महेन्द्र सिंह यादव एवं प्रीतम लोधी ने भी सम्मेलन को संबोधित किया।
इस अवसर पर सुरेन्द्र शर्मा, धमेन्द्र रघुवंशी,सुशील रघुवंशी,जयकुमार सिंघई, सूर्यप्रकाश तिवारी,भूपेन्द्र द्धिवेदी भानू रघुवंशी, नीरज मानोरिया आदि मंचासीन थे।

*(सांध्य राय को दिया आपका प्रत्येक वोट मोदी जी को देश का प्रधानमंत्री बनाएगा:-डॉ मिश्रा)*

*(मोदी विश्व के सबसे बड़े नेता है: डॉ मिश्रा)*

*(मोदी देश के भले के लिए मजबूत निर्णय लेते हैं. वो निर्णय लेते हैं तो उसे सफल भी बनाते हैं.- डॉ नरोत्तम मिश्रा)*

*दतिया*

मोदी देश हित मे निर्णय लेने वाले प्रधानमंत्री हैं, देश विरोधी ताकतों की मोदी सरकार ने कमर तोड़ने का काम किया है जबकि पूर्व की कांग्रेस की सरकारों ने देश मे अराजकता एवं भ्रष्टाचार को बढ़ावा देने का काम किया है। हमारा देश आज मोदी जी के नेतृत्व में विश्व की बहुत बड़ी शक्ति बनता जा रहा है। अमेरिका,रूस,जापान,फ्रांस जैसे शक्तिशाली देशों में आज भारत की जो इज्जत है वो सिर्फ मोदी जी के अथक प्रयासों के बल परही है। माननीय नरेंद्र मोदी जी को देश की जनता ही नही अपितु विदेश के लोग भी पुनः भारत का प्रधानमंत्री देखना चाहते हैं। उक्त बात मध्यप्रदेश के पूर्व मंत्री एंव दतिया विधायक  डॉ नरोत्तम मिश्रा ने  आज भिंड दतिया से भाजपा की लोकसभा प्रत्याशी श्रीमति संध्या राय के समर्थन में कराहार, कमरारी में अनेक सभा एवं नुक्कड़ सभाओं को संबोधित करते हुए कही। डॉ श्री मिश्रा ने सभा को संबोधित करते हुए कहा हमारे पास दो विकल्प है एक ओर  दिन रात 24 घंटे परिश्रम कर देश की प्रगति और आंतरिक सुरक्षा को मजबूती देने वाला प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी है और दूसरी ओर सत्ता के लालच में गठबंधन बनाकर एक हुजूम खड़ा कर देश को गुमराह करने वाली ताकतें हैं। अब चुनाव हमें करना है कि हमें देश हित में संध्या राय को वोट देकर नरेंद्र मोदी को प्रधानमंत्री बनाना  है। नरेंद्र मोदी आज विश्व के सबसे बड़े नेता है जिस तरह से मोदी ने 5 साल में देश चलाया है देश की दशा और दिशा दोनों बदली है। उसी तरह अगर मोदी जी को हम सांध्य राय को वोट करके फिर से प्रधानमंत्री बनाते हैं तो निश्चित रूप से देश अगले 5 सालों में एक नया मुकाम तय करेगा। और भ्रष्टाचार एवं आतंकवाद को बढ़ावा देने वाले लोग मोदी जी के प्रधानमंत्री बनते ही एक एक करके भूमिगत होंने लगेंगे।

आग से जलीं किसानों की फसलें, डॉ मिश्रा ने मौके पर जाकर लिया जायजा।

अन्नदाता हमारा भगवान हर मोर्चे पर अन्नदाता के साथ खडा रहुंगा - डॉ नरोत्तम मिश्रा।

दतिया:- मध्यप्रदेश शासन के पूर्व मंत्री एवं दतिया विधायक डॉ नरोत्तम मिश्रा ने आग से जलकर खाक हुई किसानों की फसलों का उनके खेत पर जाकर निरीक्षण किया। और उन्हें हर संभव मदद दिलायी जाने का आश्वासन दिया। जानकारी के अनुसार आज डॉ नरोत्तम मिश्रा ने तहसील बडौनी जिला दतिया के ग्राम भिटी (सोनार) में किसानों के खेतो पर पहुंचकर उनकी फ़ैसले जलने से हुए नुकसान का जायजा लिया और शासन की तरफ से उन्हें हर सम्भव मदद शीघ्र मुहैया कराने जा आस्वासन भी दिया। साथ ही उन्होंने स्थानीय प्रशासन से भी शीघ्र मौका मुआयना कर आगजनी में हुए नुकसान का सही  आंकलन करने को भी कहा है। जिससे पीड़ित किसानों को शीघ्र एवं उचित मुआवजा मिल सके।

शिवपुरी, 28 अप्रैल 2019/ लोकसभा निर्वाचन 2019 के दौरान राजनैतिक दलों एवं अभ्यर्थियों को नुक्कड़ सभा हेतु स्थान, मंच, वाहन एवं लाउण्ड स्पीकर की अनुमति लेना आवश्यक होगा। 
जिला मजिस्ट्रेट श्रीमती अनुग्रहा पी ने इस संबंध मे जारी संशोधित आदेश के तहत उल्लेख किया है कि लोकसभा निर्वाचन 2019 के तहत राजनैतिक दलों एवं उम्मीदवारों को नुक्कड़ सभा हेतु स्थान, मंच, वाहन एवं लाउण्ड स्पीकर की अनुमति लेना आवश्यक होगा। यह अनुमति संबंधित अनुविभागीय दण्डाधिकारी/रिटर्निंग आॅफिसर द्वारा जारी की जाएगी। पूर्व में जारी आदेश की शर्तें यथावत रहेंगी। यह आदेश तत्काल प्रभावशील होगा। आदेश का उल्लंघन करने की दशा में भारतीय दण्ड संहिता की धारा 188 के तहत कार्यवाही की जाएगी।  

शिवपुरी 
आज वसुंधरा कुटुंबकम
शिक्षा प्रसारण एवं जन कल्याण समिति के सदस्यों द्वारा फल वितरण का कार्यक्रम किया इस दौरान *मयंक राठौर* ने बताया कि आज हम समाज में आदिवासियों को एक हीन भावना से देखते हैं परंतु जब वसुंधरा के सदस्यों ने आदिवासी बस्तियों में  जाने का निर्णय लिया तो काफी हर्ष उत्साहित थे और जहां पर हमने जाकर फल वितरण का कार्यक्रम के साथ साथ वहां उनकी समस्या जानी एवं लोकतंत्र के महा त्योहार मै सहभागी बनने के लिए मतदान अवश्य करने के लिए जागरूक कराया और बताया कि आपके मतदान करने से कोई भी गलत व्यक्ति आ सकता है और आपके साथ गलत हो सकता है इसलिए किसी लालच मैं ना आकर अपना मतदान सही व्यक्ति को ही करें एवं कार्यक्रम के अंत में  भारत माता की जय एवं  वंदे मातरम  के नारो  के साथ  कार्यक्रम का समापन किया। इस कार्यक्रम में वसुंधरा कुटुंबकम के सदस्यों में अध्यक्ष समीक्षा भार्गव, कोषाध्यक्ष अरविंद धाकड़, मयंक राठौर, सेल्फ ट्रेनर पूनम यादव, संजना, प्रियंका  यादव, आदित्य राठौर, समीर अली, मनीष शर्मा, आदित्य ,आदि सदस्य उपस्थित रहे एवं एक सैकड़ा से अधिक आदिवासियों को फल वितरण किए।।

*भाजपा की योजनाओ का श्रेय लेने कैंची व फीता लेकर चलते है सिंधिया-गोपाल भार्गव*
*मोदी को प्रधानमंत्री बनाने आतुर देश की जनता-के पी यादव*
*भाजपा प्रत्याशी डॉ के पी यादव ने किया नामांकन दाखिल।*
शिवपुरी-()
शिवपुरी गुना लोकसभा सीट से  प्रत्याशी डॉक्टर के पी यादव ने सोमवार को अपना नामांकन दाखिल किया बह अशोक नगर से चल कर गुना म्याना बदरवास लुकवासा कोलारस होते हुए अपने काफिले के साथ सभा स्थल पर कार्यकर्ताओं का अभिवादन स्वीकार कर कलेक्ट्रेट पहुंचकर अपना नामांकन दाखिल किया नामांकन दाखिल के उपरांत वह सभा स्थल पर पहुंचे सभा को संबोधित करते हुए मुख्य अतिथि व नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव ने कहा कि मैं कमल नाथ जी को धन्यवाद देता हूं कि उन्होंने सच को स्वीकार करते हुए छिंदवाड़ा में कहा कि हमारी केंद्र मे सरकार नहीं बन रही है तो फिर विपक्ष में बैठने सिंधिया को कौन बोट देगा ।
सिंधिया को एक गुण बहुत अच्छी तरह से आता है मैं जब गुना  का प्रभारी मंत्री रहा तो मैंने कई विकास कार्यों को ध्यान में रखकर मंजूर करता रहा तो वह उद्घाटन में आ जाते थे मुझे समय ना मिलने पर प्रदेश सरकार की योजनाओं का कैची व  फीता साथ लेकर चलते और उद्घाटन कर जाते आप अपनी योजना बनाकर कोई कार्य मंजूर कराते हैं तो मुझे कोई आपत्ति नहीं जब केंद्र में 5 साल व देश में 15 साल भाजपा की सरकार रही तो आप से पूछना चाहता हूं कि आप योजनाओं के लिए पैसा कहां से लाए और यह योजना किसकी सरकार की हैं लोकतंत्र में एक एक बोट व एक एक  सीट की कीमत होती है हमारी सीमा सुरक्षित हो वह देश की आंतरिक व्यवस्था ठीक हो इसलिए मोदी जी का प्रधानमंत्री बनना आवश्यक है आप बोट देकर के पी यादव को जिता कर सांसद बनाएं एक कार्यकर्ता जब जीतता है तो आपका सम्मान रखेगा मैं वचन देता हूं कि भोपाल में मैं आपकी सेवा में रहूंगा व दिल्ली में बैठकर के पी यादव  आपकी सेवा एवं क्षेत्र  के विकास की बात रखने के लिए आपका प्रतिनिधित्व करेंगे आज मध्य प्रदेश की कांग्रेस सरकार ने सारी योजनाएं बंद कर दी हैं इन्होंने संबल,तीर्थदर्शन जैसी अनेक कल्याणकारी योजनाओं को बंद कर दिया है जबकि मध्य प्रदेश की शिवराज सरकार ने किसी व्यक्ति की मृत्यु पर दो लाख और दुर्घटना मृत्यु पर 4 लाख वह उसके अंतिम संस्कार के लिए ₹5000 देती थी जब से कांग्रेस सरकार बनी है तब से ये कफन का भी पैसा खा गई है इन्होंने सरकार बनने से पहले कहां था कि किसानों का कर्जा माफ करेंगे यदि एक भी किसान बता दे कि उसका दो लाख कर्जा माफ हुआ है तो मैं दो लाख और दूंगा यह सरकार तो सिर्फ किसानो युवा वर्ग  को गुमराह करने का काम कर रही है युवाओं को चार हजारों के भत्ते  के नाम पर गुमराह किया और उनको मवेशी चराने, बैंड बजाने जैसा कार्य कराकर युवाओं को के साथ छल कर रही है।
सभा को संबोधित करते हुए लोकसभा प्रत्याशी डॉ के पी यादव ने कहा कि यह चुनाव एक महत्वपूर्ण चुनाव है यह सांसद का चुनाव नहीं यह चुनाव देश के दो दलों का चुनाव है  एक तरफ से देश विरोधी व दूसरी तरफ राष्ट्रवादी विचारधारा के लोग हैं भाजपा ही ऐसा दल है है जहां सामान कार्यकर्ता भी देश का प्रतिनिधित्व  कर सकता है जिस का उदाहरण  शिवराज सिंह चौहान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी हैं देश में जो काम पिछले 70 वर्षों में नहीं हुए वो अब 5 साल में हुए हम वो भाग्यशाली हैं कि हमें नरेंद्र मोदी जैसा नेतृत्व मिला है आज देश का हर नागरिक चाहता है कि नरेंद्र मोदी जी को प्रधानमंत्री बनना चाहिए मैं कहना चाहूंगा कि हम जब प्रतिनिधि चुनते हैं तो हम आशा करते हैं कि बह क्षेत्र का विकास करेंगे लेकिन हमारे प्रतिनिधि संसद में बैठकर देशद्रोह की बात करने वाले लोगों की पैरवी करते हैं वह 10 वर्ष केंद्रीय मंत्री रहने के बाद भी विकास के नाम पर सिर्फ भाषण देने का काम करते रहे हैं जबकि रोजगार के लिए एक भी उद्योग अपने संसदीय क्षेत्र में नहीं लगाया यहां का युवा रोजगार के लिए पलायन कर रहा है मैं जब पैदा हुआ तब भी अशोक नगर में एक पॉलिटेक्निक कॉलेज था इनके 18 साल के कार्यकाल के बाद भी वह इंजीनियरिंग कॉलेज नहीं कर सके शिक्षा के लिए भी इनके क्षेत्र का युवा बाहर जा रहा है यह सिर्फ सड़क लाइट व ट्रेनों को गिनाते हैं यह तो सरकार की शतत प्रक्रिया है जो देश के सभी जगह यह काम होते हैं मैं कहना चाहूंगा कि देश की सभी 543 सीटों पर भाजपा का एक ही प्रत्याशी है वह नरेंद्र मोदी। देश का सभी जनमानस उन्हें प्रधानमंत्री बनाने को आतुर है यह चुनाव देश की दिशा दशा बदलने वाला चुनाव है आप सभी कार्यकर्ताओ से अनुरोध है कि धर घर द्वार द्वार जाकर राष्ट्रहित में मोदी जी को पुनः प्रधानमंत्री बनाने के लिए जुट जाएं।
विधायक वीरेंद्र रघुवंशी जी ने कहा कि गुना लोकसभा मोदी जी को मतदान करने को आतुर है भी है मोदी जी के कार्यकाल में विकास के कामों के साथ-साथ पाकिस्तान में घुसकर एवं अंतरिक्ष में भी सर्जिकल स्ट्राइक कर देश का मान विश्व में बढ़ाया है मैं पूरे विश्वास कहना चाहूंगा कि मोदी जी की सरकार बनने के बाद मध्यप्रदेश में कांग्रेस के ही विधायक मोदी जी के साथ आने  विकास के लिए कांग्रेसी सरकार गिरा देंगे मैं सांसद जी से सवाल करना चाहता हूं कि आपके गुना का n f l राजगढ़ लोकसभा एवं रिफाइनरी सागर लोकसभा में क्यों गई क्या क्षेत्र को आप बेरोजगारी की कगार पर  ले जाना चाहते हैं आज देश का हर व्यक्ति सिर्फ मोदी को प्रधानमंत्री बनाना चाहता है इसमें आप भी जुट कर इस लोकसभा रुपी कमल को चुनकर मोदी जी के माला में एक मोती शिवपुरी गुना लोकसभा का भी जोड़ दे।
इसके साथ ही विधायक श्री गोपीलाल जाटव, सुशील रघुवंशी,पूर्व राज्यमंन्त्री राजू बाथम, प्रीतम लोधी,ओ एन शर्मा,अशोकनगर नगर पालिका अध्यक्ष श्री मति सुशीला साहू,पूर्व विधायक ओमप्रकाश खटीक,राधेश्याम पारीख आदि ने भी संबोधित किया।
सभा का संचालन पूर्व विधायक नरेंद्र विरथरे एवं आभार अशोकनगर जिलाध्यक्ष धर्मेंद्र रघुवंशी ने किया इस अवसर पर लोकसभा प्रभारी श्री महेंद्र यादव,लोकसभा संयोजक श्री सूर्यप्रकाश तिवारी,गजेंद्र सिंह किरार,प्रदेश कार्यसमिति सदस्य श्री सुरेन्द्र शर्मा,श्री धैर्यबर्धन शर्मा, अजीत जैन,हरिसिंह यादव,नगर पालिका अध्यक्ष श्री राजेन्द्र सलूजा,जय कुमार सिंघई, नीरज मनोरिया,भान सिंह रघुवंशी,माखनलाल राठौर,मुकेश सिंह चौहान,सोनू विरथरे,भगीरथ कुशबाह,भानु दुबे आदि मंचासीन रहे।




मंथन न्यूज (9907832876)

मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और भोपाल से कांग्रेस उम्मीदवार दिग्विजय सिंह को भोपाल में ही अपनी एक रैली में चुनावी स्टंट करना भारी पड़ गया। उन्होंने एक लड़के को मंच पर बुलाकर उससे पूछा कि क्या तुम्हारे खाते में 15 लाख रुपए आए। इस पर लड़के ने ऐसा जवाब दिया कि दिग्विजय के साथ ही सभी कांग्रेसी नेताओं के माथे पर बल पड़ गए और उन्होंने लड़के को फौरन मंच से उतार दिया। दरअसल, दिग्विजय सिंह ने भरे मंच से एक लड़के को भीड़ से बुलाकर पूछा-  'तुम्हारे खाते में आ गए। आ जाओ। इधर आ जाओ। अकाउंट नंबर ले आओ तुम्हारा। हम तुम्हारा नागरिक अभिनंदन करेंगे तुम्हारे खाते में 15 लाख रुपए आ गए। आ जाओ बेटे आ जाओ...तेरे खाते में मोदी जी ने 15 लाख रुपए दिला दिए।'
दिग्विजय सिंह के इस बात पर लड़का मंच पर आया और बोला- 'सर्जिकल स्ट्राइक करके मोदी जी ने आतंकवादियों को मारा।' इस पर दिग्विजय सिंह बोले- अरे 15 लाख रुपए आए कि नहीं...। यह कहते हुए हुए लड़के को मंच से नीचे भेज दिया गया।

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी सुप्रीम कोर्ट में अपने 'चौकीदार चोर है' बयान को लेकर सुप्रीम कोर्ट में खेद जताया है। सुप्रीम कोर्ट में दाखिल हलफनामें में राहुल गांधी ने कहा कि चुनाव के आवेश में उन्होंने यह बयान दिया है।
नई दिल्ली 
कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने राफेल सौदे मामले में  सुप्रीम कोर्ट में अपने ' चौकीदार चोर है' बयान को लेकर सुप्रीम कोर्ट में खेद जताया है। सुप्रीम कोर्ट में दाखिल हलफनामें में राहुल गांधी ने कहा कि चुनाव के आवेश में उन्होंने यह बयान दिया है। बता दें कि राहुल गांधी ने सुप्रीम कोर्ट द्वारा नए दस्तावेजों के आधार पर राफेल डील पर पुनर्विचार याचिका स्वीकार किए जाने को 'चौकीदार चोर है' के रूप में पेश किया था। सुप्रीम कोर्ट ने राहुल गांधी को नोटिस जारी करते हुए 22 अप्रैल तक जवाब देने को कहा है। चीफ जस्टिस रंजन गोगोई की अगुआई वाली बेंच ने कहा कि कोर्ट ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ कोई टिप्पणी नहीं की है। राहुल गांधी पर सुप्रीम कोर्ट के बयान को गलत तरह से पेश करने का आरोप है। सुप्रीम कोर्ट में मामले की सुनवाई मंगलवार को होगी। 
इस मामले की सुनवाई के दौरान कोर्ट ने कहा था, 'हम यह स्पष्ट करते हैं कि राहुल गांधी ने इस अदालत का नाम ले कर राफेल सौदे के बारे में मीडिया और जनता में जो कुछ कहा उसे गलत तरीके से पेश किया। हम यह स्पष्ट करते हैं कि राफेल मामले में दस्तावेजों को स्वीकार करने के लिए उनकी वैधता पर सुनवाई करते हुए इस तरह की टिप्पणियां करने का मौका कभी नहीं आया।' 

बता दें कि 10 अप्रैल को शीर्ष अदालत ने सरकार की आपत्तियों को दरकिनार करते हुए राफेल मामले में रिव्यू पिटिशन पर नए दस्तावेज के आधार पर सुनवाई की फैसला किया था। सीजेआई रंजन गोगोई की अध्यक्षता वाली 3 सदस्यीय बेंच ने एक मत से दिए फैसले में कहा था कि जो नए दस्तावेज डोमेन में आए हैं, उन आधारों पर मामले में रिव्यू पिटिशन पर सुनवाई होगी। इसके बाद राहुल ने मीडियाकर्मियों से बातचीत करते हुए कहा था कि अब सुप्रीम कोर्ट ने मान लिया है कि चौकीदार चोर है। 
लेखी ने अपनी याचिका में कहा कि गांधी ने अपनी निजी टिप्पणियों को शीर्ष न्यायालय द्वारा किया गया बताया और लोगों के मन में गलत धारणा पैदा करने की कोशिश की। लेखी की ओर से पेश हुए वरिष्ठ अधिवक्ता मुकुल रोहतगी ने पीठ से कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष ने टिप्पणी की थी कि 'अब सुप्रीम कोर्ट ने भी कह दिया, चौकीदार चोर है।' 


विजन डॉक्यूमेंट में पुराने भोपाल का कायाकल्प करने का वादा

कांग्रेस से भाेपाल से प्रत्याशी बनाए गए हैं दिग्विजय सिंह

भोपाल. भोपाल संसदीय क्षेत्र के कांग्रेस प्रत्याशी दिग्विजय सिंह ने यहां के विकास के लिए अपना विजन डॉक्यूमेंट रविवार को जारी कर दिया है। उन्होंने इसे 'विजन भोपाल' नाम दिया है। डॉक्यूमेंट में किसान, स्वास्थ्य, रोजगार, हवाई सेवा, शिक्षा कला और पानी जैसे मुद्दों का जिक्र किया गया है। विजन डॉक्यूमेंट जारी करते हुए दिग्विजय सिंह ने कहा कि भोपाल को व्यवस्थित ढंग से विकसित बनाने का उनका लक्ष्य रहेगा और इसी का प्लान पेश किया गया है। डॉक्यूमेंट जारी करने से पहले उन्होंने ट्वीट भी किया। इसके बाद भाजपा के वरिष्ठ नेता कैलाश विजय वर्गीय ने भी ट्वीट किया। कैलाश ने कहा किकाश मुख्यमंत्री रहते उनके पास विज़न होता!


क्या है विजन डाक्यूमेंट्स में?भोपाल बनेगा टूरिस्ट हब भोपाल में त्वरित हवाई सेवा आसपास के बड़े शहरों को कॉरिडोर के माध्यम से जोड़ा जाएगा (भोपाल राज्य राजधानी क्षेत्र) किसान सिटी - फ़ूड प्रोसेसिंग यूनिट उद्यनिकी सेंटर उत्कृष्ट शिक्षा, उत्तम रोजगार सीहोर में मेडिकल कॉलेज वर्किंग वुमन और स्टूडेंट के लिए छात्रावास ज्ञान, विज्ञान, अनुसंधान बनेगया भोपाल की शान कला को एहमियत, कलाकारों की सहूलियत, आर्ट सिटी, फ़िल्म सिटी मेगा लोगिस्टिक एन्ड वेयर हाउस जोन संत हिरदाराम नगर में टेक्सटाइल ट्रेडिंग हब भेल क्षेत्र का समुचित विकास भोपाल जॉब पोर्टल सुपर स्पेशियलिटी अस्पताल, हर वार्ड में फ्री हेल्थ सेंटर स्पोर्ट हब, प्रतिभाओं को सम्मान पब्लिक फ्रेंडली ट्रैफिक सिस्टम सबको साफ जल, सबका बेहतर कल, हर घर:नर्मदा जल वाटर और वेस्ट मैनेजमेंट पॉलिसी नो होमलेस, नो हेल्पलेस, कमज़ोर वर्ग के लिए हाउसिंग स्किम, कॉलोनी को सुविधायुक बनाएंगे सेफ केपिटल- फोकस महिलाएं, वृद्ध और बच्चे ताल सलामत तो भोपाल सलामत, भोपाल ताल का संवर्धन, संरक्षण

मुख्यमंत्री रहते क्यों नहीं किया: दिग्विजय सिंह के विजन डॉक्यूमेंट पर प्रज्ञा भारती ने कहा कि जो व्यक्ति 10 साल का प्रदेश का मुख्यमंत्री रहा है वो अब जाकर विजन डॉक्यूमेंट जारी कर रहा है तो उसने अपने मुख्यमंत्री रहते भोपाल के लिए क्या किया। ये उनसे पूछा जाना चाहिए। भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष प्रभात झा ने कहा कि जब वे कर सकते थे तब किया नहीं, अब इस डॉक्यूमेंट का क्या ओचित्य है।


पीएम मोदी ने जनता से कहा कि, पाकिस्तान हर दूसरे दिन भारत को धमकी भरे अंदाज में कहता था कि, उसके पास परमाणु बम है. लेकिन अब भारत ने धमकी से डरने की नीति को छोड़ दिया है.


नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बाड़मेर राजस्थान में रैली को संबोधित करते हुए कहा कि, भारत ने पाकिस्तान से डरने की नीति को छोड़ दिया है. पीएम मोदी ने जनता से कहा कि, पाकिस्तान हर दूसरे दिन भारत को धमकी भरे अंदाज में कहता था कि, उसके पास परमाणु बम है. लेकिन अब भारत ने धमकी से डरने की नीति को छोड़ दिया है.

पीएम मोदी ने जनता से पूछा क्या मैंने सही किया, जनता ने जवाब दिया- हां, उसके बाद पीएम मोदी ने जनता से कहा कि, अगर उनके पास परमाणु बम है तो फिर हमारे पास क्या है? क्या हमने परमाणु बम दिवाली के लिए रखे हैं? 


युवाओं के सपनों के लिए अपने सपनों की आहुति देने को तैयार हूं: मोदी
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने चुनाव रैली को संबोधित करते हुए कहा कि वह देश के युवाओं के सपनों के लिए अपने सपनों की आहुति देने को तैयार हैं क्योंकि युवाओं के सपने ही उनके सपने हैं. मोदी ने लोकसभा चुनाव में पहली बार मतदान करने जा रहे युवाओं को संबोधित करते हुए कहा, ‘'मैं नौजवानों को विश्वास दिलाता हूं कि मैं आपको समझ सकता हूं, आपके सपनों को समझ सकता हूं, आपके इरादों को समझ सकता हूं.


मैं आपके सपनों के लिए अपने सपनों की आहुति देने को तैयार हूं. आपके सपने ही मेरे सपने हैं.' उन्होंने कहा, ‘'हमारे जो युवा साथी हैं जो लोकसभा के चुनाव में पहली बार वोट डालने वाले हैं उनके लिए यह चुनाव बहुत ही महत्वपूर्ण हैं. जो व्यक्ति इक्कीसवीं सदी में पैदा हुआ है वह इक्कीसवीं सदी के लिए वोट करता है.


उसके सामने ये पूरी शताब्दी पड़ी है. इक्कीसवीं सदी में एक मजबूत बुलंद सरकार बनाने के मकसद से वह कमल के निशान पर बटन दबाएगा.'’ मोदी ने कहा,'‘ आपका ये उत्साह ये जोश कुछ विरोधियों की नींद उड़ाने के साथ ही सीमा पार वालों की भी नींद उडा रहा है. 23 मई को जब आप एक बार फिर से मोदी सरकार बनाएंगे, भारत माता का जयकारा करेंगे तो उसकी गूंज सीमा के उस पार भी सुनाई पड़ेगी.'’


*शिवपुरी गुना लोकसभा के प्रत्याशी डॉ के पी यादव 22 अप्रैल को भरेंगे अपना नामांकन*
 *नामांकन सभा में नेता प्रतिपक्ष श्री गोपाल भार्गव ,श्री भूपेंद्र सिंह भी रहेंगे उपस्तिथ।*

शिपुरी,
शिवपुरी गुना लोकसभा संसदीय क्षेत्र में भारतीय जनता पार्टी के प्रत्याशी डॉ के पी यादव 22 अप्रैल दिन सोमबार को अपना नामांकन भरेंगे।
    नामांकन महारैली एवं सभा में मुख्य अतिथि नेता प्रतिपक्ष श्री गोपाल भार्गव होंगे साथ ही लोकसभा प्रभारी श्री महेंद्र सिंह यादव लोकसभा संयोजक श्री   सूर्यप्रकाश तिवारी,पूर्व मंत्री एवं विधायक श्रीमंत यशोधरा राजे सिंधिया,श्री भूपेंद्र सिंह,श्री वीरेंद्र रघुवंशी,श्री गोपीलाल जाटव विशेष रुप से शामिल होंगे। लोकसभा प्रभारी श्री महेंद्र सिंह यादव एवं शिवपुरी के जिलाध्यक्ष सुशील रघुवंशी ने जानकारी देते हुए बताया कि लोकसभा प्रत्याशी डॉ के पी यादव  22 अप्रैल को अशोकनगर से चलकर गुना से भाजपा कार्यकर्ताओ के साथ म्याना, बदरवास,लुकवासा,कोलारस, सेसई, बडौदी गुना बायपास,झांसी तिराहा होकर सभा स्थल शिवपुरी होटल के सामने ए बी रोड पर आमसभा का आयोजन सुबह 11 बजे  किया  जा रहा है । आमसभा के उपरांत भाजपा प्रत्याशी डॉ के पी यादव रैली के साथ कोर्ट रोड होते हुए  कलेक्ट्रेट पर अपना नामांकन दाखिल करेंगे।
   साथ ही बड़ी संख्या में शिवपुरी गुना अशोकनगर के भाजपा परिवार के पदाधिकारी एवं कार्यकर्ता गण नामांकन के लिए आयोजित रैली में शामिल होगें। पूरे संसदीय क्षेत्र के कार्यकर्ताओं में प्रत्याशी के नामांकन को लेकर जबरदस्त उत्साह का वातावरण है । जिले की पिछोर, खनियाधाना, बामौर, खोड़, रन्नौद, कोलारस, बदरवास, शिवपुरी ग्रामीण और शहर क्षेत्र से  पार्टी के कार्यकर्ता और उनके समर्थक आज जिला मुख्यालय पर एकत्रित होंगे ।
     नामांकन रैली व सभा के लिए भाजपा प्रदेश कार्यसमिति सदस्य,श्री नरेंद्र विरथरे पैनलिस्ट धैर्यबर्धन शर्मा ,श्री राघवेंद्र गौतम,श्री राजू बाथम,श्री सुशील रघुवंशी, श्री सुरेन्द्र शर्मा,श्री प्रहलाद भारती, श्री ओमप्रकाश खटीक,श्री माखनलाल राठौर,श्री देवेंद्र जैन,श्री कामताप्रसाद बेमटे, श्री रमेश खटीक,श्री अजीत जैन,श्री प्रीतम लोधी,श्री राजकुमार खटीक,श्री जगराम सिंह यादव,श्री ओमप्रकाश शर्मा,अशोक खण्डेलवाल,श्री दिलीप मुदगल,श्री तेजमल सांखला,श्री हेमंत ओझा,श्री रामू विंदल,श्री अनुराग अष्ठाना,श्री ओमी जैन,डॉ राकेश राठौर,अमित भार्गब,श्री भानू दुबे,श्री सोनू विरथरे,श्री धनपाल यादव,श्री मुकेश सिंह चौहान,श्री नरेन्द्र आर्य,डॉ महेश आदिवासी,श्री मति वीनू शर्मा,श्रीमती लक्ष्मी जाटव, श्री मति सरोज धाकड़,श्रीमती नवप्रभा पड़रया,श्री रामकरण यादव,श्री केरन सिंह ,श्री दिनेश रावत,श्री विकास पाठक,श्री भानु जैन,श्री बनवारीलाल ,श्री हेमपाल दांगी,श्री विपिन खेमरिया,श्री राधेश्याम बंसल,ने सभी भाजपा कार्यकर्ताओ से आग्रह किया है कि भाजपा प्रत्याशी डॉ के पी यादव के सभा एवं नामांकन में अधिक से अधिक संख्या में पहुचे।


*मिनी मैराथन "रन फॉर डेमोक्रेसी" 23 अप्रैल को*
अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद द्वारा मतदाता जागरूकता अभियान के तहत मिनी मैराथन का आयोजन 23 अप्रैल को किया जा रहा है।
जानकारी देते हुए विद्यार्थी परिषद के नगर मंत्री आदित्य पाठक ने बताया कि "रन फ़ॉर डेमोक्रेसी" मिनी मैराथन का आयोजन अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद द्वारा प्रदेश के प्रत्येक जिले में 23 अप्रैल को किया जा रहा है । इस मिनी मैराथन के माध्यम से अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद समाज मे शत प्रतिशत मतदान के लिए संदेश देना चाहती है। विद्यार्थी परिषद आगामी लोकसभा चुनाव मे शत प्रतिशत मतदान हेतु मतदाता जागरूकता अभियान चला रही है। इसी अभियान के तहत मिनी मैराथन का आयोजन किया जा रहा है। यह मैराथन 23 अप्रैल को सुबह 8 बजे गांधी पार्क मैदान से प्रारंभ होकर हंस बिल्डिंग,न्यू ब्लॉक, आर्य समाज रोड,कस्टम गेट, कोर्ट रोड होते हुए पुराने बस स्टैंड पर समाप्त होगी।
पाठक ने कहा कि समाज का सबसे जागरूक तबका विद्यार्थी एवं युवा है जो जाति धर्म से उठकर देश में लोकतंत्र की मजबूती के लिए लड़ता है। लोकतंत्र के इस महापर्व में युवाओं की भूमिका महत्वपूर्ण होगी। विद्यार्थी परिषद शत प्रतिशत मतदान के लिए मतदाताओं को जागरूक कर रही है और नोटा में जा रहे व्यर्थ मतों को सही जगह व राष्ट्र के विकास को प्राथमिकता देने वाली जगह मत करने हेतु प्रेरित कर रही है।शत प्रतिशत मतदान के उद्देश्य को लेकर ही यह मिनी मैराथन का आयोजन किया जा रहा है।
इसी क्रम में आज अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद ने शिवपुरी में इस मिनी मेराथन का बैनर लॉन्च किया।जिसमे मुख्य रूप से जिला संयोजक वेदांश सविता,  प्रान्त कार्यकारिणी सदस्य राहुल पड़रिया, मनशिखा गोयल, मयंक राठौर, निकेतन शर्मा, आदित्य पाठक, प्रधुम्न गोस्वामी, प्रशांत राठौर आदि कार्यकर्ता मौजूद रहे।

दतिया-मध्यप्रदेश शासन द्वारा समर्थन मूल्य पर गेंहू की फसल की खरीदी की जा रही है अभी हाल ही में मध्यप्रदेश के कई इलाकों में तेज बारिश के चलते फसलों को भारी नुकसान हुआ है गेंहू की फसल में दाग पड़ने के कारण ख़रीदी केंद्रों पर नही खरीदे जा रहे है इसी को लेकर पूर्व मंत्री एव दतिया विधायक नरोत्तम मिश्रा ने मुख्यमंत्री कमलनाथ को पत्र लिखा है।
पत्र में मेरा आपसे अनुरोध है कि मैंने दतिया विधानसभा के गांव बाजनी, भागौर, चौपरा, पलोथर, सलैया , पवार पठारी , बिलौनी, डांग, नौनेर, खदराबनी, उदगंवा, नन्दपुर ग्राम बामरोल के ओला प्रभावित गांव का निरीक्षण किया। मैं हमारे अन्नदाताओ कि परेशानी देखकर बहुत दुःखी हूं। किसानों की फसलें खराब हो गयी हैं। अगर आपको चुनावी पर्यटन से थोड़ी फुर्सत मिल जाए तो महोदय जरा इस और भी ध्यान दें ,जिस किसान को कर्ज माफ और बिजली बिल हाफ के झांसे में फंसाकर आपने सरकार बनाई है। आज वही अन्नदाता संकट के दिनों से गुजर रहा है।
सोसाइटी एवं खरीदी केंद्र किसानों का गेहूं खराब बताकर वापस कर रहे हैं, आपके जमीनी अधिकारियों को यह बात समझ में आनी चाहिए कि ओला और बारिश के चलते गेहूं का रंग बदलता है। मेरी आपसे मांग है की हमारे अन्नदाता के गेहूं को खरीदा जाए,उन्हें परेशान न किया जाय और किसानों को हर सम्भव सुविधा जल्द से जल्द प्रदान की जाए।
खरीद केंद्रों पर किसानों को तीन दिन रुकना पड़ रहा है। किसानों को 1840 /-की पर्ची दी जा रही है उसमें बोनस का उल्लेख नहीं है आंकड़े बताते हैं कि आपने द्वारा कराई जा रही खरीद की स्पीड बहुत धीमी है। आपने आज दिनांक तक 15 लाख 11 हजार मीट्रिक टन गेंहू की खरीद की है। जबकि हमारी भाजपा सरकार ने पिछले साल वर्ष 2018 -19 में आज ही की तारीख तक 32 लाख 19 हजार मीट्रिक टन गेंहू की खरीद कर ली थी। जो इस साल की आपकी अब तक कि कुल खरीदी से दोगुनी थी।
माननीय कमलनाथ जी पूर्व की हमारी सरकार एक हेक्टेयर पर किसानों से 42 क्विंटल गेंहू की खरीदी समर्थन मूल्य पर करती थी। परंतु आपकी सरकार द्वारा किसानों के साथ भेदभाव करते हुए खरीदी की मात्रा को कम करते हुए एक हेक्टेयर पर मात्र 30 क्विंटल ही गेंहू खरीदी कराई जा रही है। जबकि इस बार सिंचाई की अच्छी व्यवस्था के चलते किसानों के यहाँ बम्पर गेहूं की पैदावार हुई है। किसानों से एक हेक्टेयर पर 42 क्विंटल की खरीद होनी चाहिए। कमलनाथ जी आप पूरे प्रदेश के मुखिया हैं और प्रदेश का हर किसान आपकी ओर आस की टकटकी लगाए देख रहा है लेकिन आपका सिस्टम उसका विश्वास तोड़ रहा है ।
मध्य प्रदेश का किसान हमारा अन्नदाता है कृपया उसकी परेशानी का हल जल्द से जल्द कीजिए।

मध्य प्रदेश में कमलनाथ-ज्योत‍िराद‍ित्य स‍िंधिया की जोड़ी ने म‍िलकर 15 साल से जमी बीजेपी सरकार को उखाड़ कर कांग्रेसी सरकार का झंडा फ‍हराया था. अब उन्हीं ज्योत‍िराद‍ित्य स‍िंधिया को उनके गढ़ गुना-श‍िवपुरी में घेरने के ल‍िए बीजेपी ने एक डॉक्टर को मैदान में उतारा है. डॉक्टर केपी यादव पहले कांग्रेस में ही थे और स‍िंध‍िया की जीत के राजदार रहे थे लेक‍िन प‍िछले उपचुनाव में अपनी अनदेखी से कांग्रेस छोड़ बीजेपी में आए. अब लोकसभा चुनाव में वे उन्हीं स‍िंधिया के ख‍िलाफ ताल ठोक रहे हैं, 

कौन हैं बीजेपी के केपी यादव जो गुना से सिंधिया के खिलाफ ठोक रहे ताल
केपी यादव (Photo: Facebook)

मध्य प्रदेश में कमलनाथ-ज्योत‍िराद‍ित्य स‍िंधिया की जोड़ी ने म‍िलकर 15 साल से जमी बीजेपी सरकार को उखाड़ कर कांग्रेसी सरकार का झंडा फ‍हराया था. अब उन्हीं ज्योत‍िराद‍ित्य स‍िंधिया को उनके गढ़ गुना-श‍िवपुरी में घेरने के ल‍िए बीजेपी ने एक डॉक्टर को मैदान में उतारा है. डॉक्टर केपी यादव पहले कांग्रेस में ही थे और स‍िंध‍िया की जीत के राजदार रहे थे लेक‍िन प‍िछले उपचुनाव में अपनी अनदेखी के बाद कांग्रेस छोड़ बीजेपी में आए. अब लोकसभा चुनाव में वे उन्हीं स‍िंधिया के ख‍िलाफ ताल ठोक रहे हैं, ज‍िनके कभी वे साथ थे.

क्यों म‍िला केपी यादव को ट‍िकट

45 साल के केपी यादव पेशे से एमबीबीएस डॉक्टर हैं. उनके प‍िता अशोकनगर में कांग्रेस के ज‍िलाध्यक्ष रहे हैं. केपी यादव कभी ज्योत‍िराद‍ित्य स‍िंध‍िया के नजदीकी रहे हैं. स‍िंध‍िया की चुनाव की तैयार‍ियों को वह अच्छी तरह देखते थे. मुंगावली व‍िधानसभा के उपचुनाव में केपी यादव ट‍िकट के मुख्य दावेदार थे. स‍िंध‍िया ने इनसे तैयारी के ल‍िए भी कह द‍िया था और वे क्षेत्र में सक्र‍िय भी हो गए थे. लेक‍िन ऐन मौके पर उनका ट‍िकट काट द‍िया गया. इससे इन्हें काफी मानस‍िक पीड़ा हुई और वे कांग्रेस छोड़ बीजेपी में आ गए. मुंगावली में कांग्रेस के ट‍िकट पर लड़ रहे बृजेंद्र प्रताप से उनका मुकाबला हुआ. इस मुकाबले में व‍ह स‍िर्फ दो हजार वोटों से हार गए थे.

2 लाख यादव वोटों के सहारे दे रहे स‍िंधिया को चुनौती

गुना श‍िवपुरी लोकसभा सीट के अंतर्गत दो लाख यादव वोट हैं. 2014 के लोकसभा चुनाव को ज्योत‍िराद‍ित्य स‍िंध‍िया ने स‍िर्फ सवा लाख वोटों से जीता था. यहां की 8 व‍िधानसभा सीटों में से 3 पर बीजेपी हावी थी. ऐसे में बीजेपी को उम्मीद है क‍ि केपी यादव के उम्मीदवार होने से यादव वोट एकतरफा बीजेपी की झोली में आएंगे. वहीं, क‍िसान का बेटा होने से वे कांग्रेस के कर्जमाफी के सच को भी जनता के सामने रखेंगे. स‍िंध‍िया ने व्यक्त‍िगत रूप से केपी यादव का जो नुकसान क‍िया, उसको भी भुनाने का प्रयास यहां से बीजेपी का है. यद‍ि बीजेपी के समीकरण ठीक बैठ गए तो इस बार स‍िंध‍िया को उसी के गढ़ में हार का स्वाद भी म‍िल सकता है.   

व‍िधानसभा सीटों पर बीजेपी-कांग्रेस का असर  

गुना लोकसभा सीट के अंतर्गत विधानसभा की 8 सीटें आती हैं. यहां पर शिवपुरी, बमोरी, चंदेरी, पिछोर, गुना, मुंगावली, कोलारस, अशोक नगर विधानसभा सीटें हैं. यहां की 8 विधानसभा सीटों में से 4 पर बीजेपी और 4 पर कांग्रेस का कब्जा है.

वोटों के गण‍ित में उलझ सकती है कांग्रेस

2014 के लोकसभा चुनाव में कांग्रेस के ज्योतिरादित्य सिंधिया ने बीजेपी के जयभान सिंह पवैया को हराया था. इस चुनाव में सिंधिया को 5,17, 036 (52.94 फीसदी) वोट मिले थे और पवैया को 3, 96, 244 (40.57 फीसदी) वोट मिले थे. दोनों के बीच हार जीत का अंतर 1, 20, 792 वोटों का था. वहीं बसपा के लखन सिंह 2.81 फीसदी वोटों के साथ तीसरे स्थान पर रहे थे.

इससे पहले 2009 के चुनाव में भी ज्योतिरादित्य सिंधिया को जीत मिली थी. उन्होंने तब बीजेपी के दिग्गज नेता नरोत्तम मिश्रा को हराया था. सिंधिया को 4, 13, 297 (63.6 फीसदी) वोट मिले थे तो नरोत्तम मिश्रा को 1, 63, 560 (25.17 फीसदी) वोट मिले थे. सिंधिया ने 249737 वोटों से जीत हासिल की थी. वहीं बसपा 4.49 फीसदी वोटों के साथ तीसरे स्थान पर रही थी.

गुना-श‍िवपुरी लोकसभा सीट का प्रोफाइल

गुना शहर मध्य प्रदेश के उत्तर में स्थित है. गुना शहर में मुख्यतः हिन्दू, मुस्लिम तथा जैन समुदाय के लोग रहते हैं. खेती यहां का मुख्य कार्य है. आजादी से पहले गुना ग्वालियर राजघराने का हिस्सा था, जिस पर सिंधिया वंश का अधिकार था. 2011 की जनगणना के मुताबिक गुना की जनसंख्या 24, 93, 675 है. यहां की 76.66 फीसदी आबादी ग्रामीण क्षेत्र और 23.34 फीसदी आबादी शहरी क्षेत्र में रहती है. गुना में 18.11 फीसदी लोग अनुसूचित जाति और 13.94 फीसदी लोग अनुसूचित जनजाति के हैं. चुनाव आयोग के आंकड़े के मुताबिक 2014 में गुना में कुल 16, 05, 619 मतदाता थे. जिसमें से 7, 48, 291 महिला मतदाता और 8, 57, 328 पुरुष मतदाता थे. 2014 के चुनाव में इस सीट पर 60.83 फीसदी मतदान हुआ था.

गूगल प्ले स्टोर और एप्पल से हटा TikTok, कोई नहीं कर पाएगा डाउनलोड

भारत में बेहद लोकप्रिय वीडियो ऐप TikTok को ऐप स्टोर्स

TikTok App Ban in India: शॉर्ट वीडियो बनाने और शेयर करने वाली मनोरंजन ऐप टिक टॉक पर भारत में रोक लगा दी गई है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली केंद्र सरकार ने गूगल और एपल को नोटिस जारी कर इसे अपने-अपने ऐप्लीकेशंस स्टोर्स से हटाने के लिए कह दिया है। ऐसे में यह टिक टॉक के लिए यह बड़ा झटका माना जा रहा है।

दरअसल, मद्रास हाईकोर्ट की मदुरै बेंच ने इस ऐप के जरिए बनने और वायरल होने वाले आपत्तिजनक और अश्लील कंटेंट को लेकर चिंता जाहिर की थी। कोर्ट ने उसी संबंध में तीन अप्रैल को एक आदेश भी जारी किया था। कोर्ट ने उसमें सरकार को देश भर में इस ऐप की डाउनलोडिंग पर रोक लगाने के लिए कहा था।

‘इकनॉमिक टाइम्स’ की एक रिपोर्ट में मामले से जुड़े जानकारों के हवाले से बताया गया, “अब और लोग इस ऐप को डाउनलोड नहीं कर सकेंगे। वहीं, जिन्होंने इसे डाउनलोड कर रखा है, वे इसका इस्तेमाल कर पाएंगे। सरकार ने गूगल और ऐपल से अपने-अपने ऐप स्टोर से इस ऐप को डिलीट करने के लिए कहा है। अब यह इन कंपनियों पर निर्भर करता है कि वह बात मानेंगी या फिर आदेश को चुनौती देंगी।”

टिक टॉक के विवादों में घिरने की प्रमुख वजह यह भी है कि हाल ही में राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में एक 19 साल के लड़के की हत्या कर दी गई थी। हैरत की बात है कि उस दौरान उसके दोस्त टिक टॉक ऐप पर घटना का वीडियो शूट कर रहे थे। वहीं, ऐप पर विभिन्न प्रकार के भद्दे और अश्लील कंटेंट को लेकर भी अक्सर आपत्तियां आती रही हैं।

टिक टॉक, चीन में डॉउयिन नाम से जाना जाता है। यह एक किस्म की मीडिया ऐप है, जिस पर यूजर्स द्वारा छोटे-छोटे मनोरंजक वीडियो बनाए और शेयर किए जाते हैं। यह ऐप बाइट डांस का है, जिसे डॉउयिन के तौर पर 2016 में चीन में लॉन्च किया गया था, जबकि एक साल बाद इसे विदेशी बाजार में पेश किया गया था।




भोपाल। मध्यप्रदेश में चल रही बिजली कटौती ने अब मुख्यमंत्री कमलनाथ को भी परेशान कर दिया है। कहने की जरूरत नहीं कि राहुल गांधी की तमाम लुभावनी योजनाओं की मध्यप्रदेश में बिजली कटौती के कारण बत्ती गुल हो सकती है। जनता में भारी नाराजगी नजर आ रही है। अब ग्राउंड रिपोर्ट सीएम कमलनाथ तक भी पहुंच गई है। कमलनाथ ने ऊर्जा मंत्री और प्रमुख सचिव उर्जा से एक महीने की रिपोर्ट मांगी है। 

यह गंभीर मामला है, लापरवाही सहन नहीं होगी

सीएम कमलनाथ ने डीटेल रिपोर्ट मांगते हुए कहा है कि कटौती क्यों की गई इसका कारण भी बताएं। उन्होंने कहा कि इस बात का भी पता लगाएं चुनाव के समय ही कटौती की शिकायतें क्यों आ रही है? क्या इसके पीछे कुछ साजिश-षड्यंत्र तो नहीं है? इसकी भी जांच की जाए।मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कहा है कि आम उपभोक्ताओं को 24 घंटे और कृषि कार्य के लिए 10 घंटे बिजली मिले, ये सुनिश्चित किया जाए। मुख्यमंत्री ने कहा कि बिजली वितरण में किसी भी तरह की लापरवाही सहन नहीं होगी। कुछ स्थानों पर आंधी-बारिश से बिजली वितरण में व्यवधान की बात सामने आई है, जिसे तत्काल दुरुस्त भी कर लिया गया, लेकिन जहां बिना कारण से अघोषित बिजली कटौती की शिकायतें आ रही हैं, वो गंभीर मसला है। 


बिजली सरप्लस तो क्यों हो रही बिजली 

मुख्यमंत्री ने बिजली कंपनियों से इस बात का भी जवाब मांगा है कि जब प्रदेश में बिजली सरप्लस में उपलब्ध है तब कटौती की शिकायतें क्यों आ रही हैं। उन्होंने कहा कि इस बात का भी पता लगाया जाये कि चुनाव के समय ही कटौती की शिकायतों क्यों आ रही है ? क्या इसके पीछे कुछ साज़िश-षड्यंत्र तो नहीं है ? इसकी भी जानकारी ली जाए।

मुख्य सचिव से किया जवाब-तलब 

उन्होंने ऊर्जा विभाग से मांग और आपूर्ति के संबंध में भी जानकारी मांगी है। मुख्यमंत्री ने कहा कि कटौती के संबंध में बिजली कर्मियों को संवेदनशील और तत्पर बनाने की आवश्यकता है। मुख्यमंत्री ने मुख्य सचिव से कहा कि इसके लिए अतिरिक्त संसाधन जरूरी हो तो वह भी बिजली महकमे को तत्काल उपलब्‍ध कराई जाए। इसमें किसी प्रकार की शिकायत व लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। 



भोपाल। लोकसभा चुनाव 2019 में कांग्रेस प्रत्याशी दिग्विजय सिंह के सामने भारतीय जनता पार्टी का कोई भी दिग्गज नेता आने को तैयार नहीं। पहले शिवराज सिंह ने बड़ी विनम्रता से इंकार किया फिर उमा भारती ने बड़ी चतुराई से कदम खींच लिए और बॉल शिवराज के पाले में डाल दी। शिवराज ने भी उमा भारती की ही ट्रिक यूज की और बॉल को अमित शाह के पाले में डाल दिया। अब भाजपा के पास ना तो दिन शेष बचे हैं ना विकल्प। प्रज्ञा सिंह ठाकुर ही एकमात्र विकल्प हैं। 

दिग्विजय सिंह के सामने आने कोई तैयार नहीं हुआ

भोपाल सीट बीजेपी की सबसे सुरक्षित सीटों में से एक मानी जाती है। बीजेपी यहां 1989 से ही जीतती आ रही है। इस सीट से अंतिम बार 1984 के चुनाव में कांग्रेस से के एन प्रधान जीते थे। कांग्रेस भोपाल से पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह के नाम की घोषणा करीब 25 दिन पहले ही कर चुकी है। दिग्विजय सिंह के नाम की ओर भोपाल से भाजपा के प्रदेश महामंत्री वीडी शर्मा दावेदारी कर रहे थे लेकिन दिग्विजय सिंह का नाम आने के बाद उनका नाम चर्चा में नहीं आया। इसके बाद शिवराज सिंह और उमा भारती से पार्टी ने चुनाव लड़ने कहा, लेकिन दोनों ही नेताओं ने चुनाव लड़ने मना कर दिया। 


प्रज्ञा सिंह ठाकुर को चम्बल की वीरांगना भी कहते हैं

अपने नाम की चर्चा के बीच प्रज्ञा ने माडिया से चर्चा करते हुए कहा कि वह दुश्मन को परास्त करने के लिए पूरी तरह तैयार हैं। मेरी कुछ स्वास्थ्य संबंधी दिक्कतें हैं, जिनके लिए दिग्विजय सिंह जिम्मेदार हैं। मैं कभी उन धब्बों को नहीं भूल सकती, जो उन्होंने मेरी जिंदगी पर लगाए हैं। जब उनसे पूछा गया कि क्या पार्टी की तरफ से आपके चुनाव लड़ने को लेकर कोई फैसला लिया गया है, तो उन्होंने कहा कि वह दुश्मन को परास्त करने के लिए पूरी तरह से तैयार हैं। इसके बाद से दिग्विजय सिंह के खिलाफ पार्टी ने प्रज्ञा ठाकुर के नाम पर विचार किया। साध्वी प्रज्ञा का जन्म मध्य प्रदेश के भिंड जिले के कछवाहा गांव में हुआ था। हिस्ट्री में पोस्ट ग्रैजुएट हैं। वह एबीवीपी की सक्रिय सदस्य भी रह चुकी हैं।


भोपाल। मध्यप्रदेश के सरकारी स्कूलों में पढ़ाने वाले 1 लाख से ज्यादा अतिथि शिक्षक कमलनाथ सरकार से नाराज हैं। चुनाव से पहले तक विधायक कुणाल चौधरी इनके नेता बने हुए थे और सीएम कमलनाथ से आए दिन मुलाकातें करवाते थे परंतु शिक्षक भर्ती में जब से पीईबी ने शर्तें बदलीं हैं, अतिथि शिक्षकों का कोई पालनहार ही नहीं बचा। ना तो अधिकारी बात करने को तैयार हैं और ना ही सरकार सुन रही है। 

पीईबी ने आनन-फानन में संशोधित आदेश दिया

अतिथि शिक्षकों के अनुसार पीईबी ने माध्यमिक शिक्षक पात्रता परीक्षा के लिए 28 सितम्बर को विज्ञापन निकाला था। कमलनाथ सरकार ने सभी अतिथि शिक्षकों को उनके अनुभव के लिए 25 प्रतिशत आरक्षण देने की बात कही गई। इसके बाद पीईबी ने आनन-फानन में संशोधित आदेश 5 अक्टूबर को निकाला, जिसमें चुनिंदा शिक्षकों को ही 25 फीसदी आरक्षण का लाभ देने की बात कही गई। इस मुद्दे को लेकर जब शिक्षक पीईबी के अधिकारियों से मिले तो उन्होंने सभी को अनुभव के आधार पर 25 प्रतिशत आरक्षण का लाभ देने की बात कही लेकिन परीक्षा के बाद वे अपनी बात से मुकर गए। अब जिम्मेदार अधिकारी पीड़ितों से मिलने से भी कतरा रहे हैं। 


साजिश का शिकार हुए अतिथि शिक्षक

सूत्रों की मानें तो पीईबी के इस विज्ञापन में साजिश के तहत सरकारी स्कूल में पढ़ाने वाले अतिथि शिक्षकों को बाहर का रास्ता दिखाया है। क्योंकि संशोधित विज्ञापन में सामान्य आवेदकों के साथ बाहरी राज्य के आवेदकों को शैक्षणिक योग्यता पूर्ण करने का अवसर दिया गया लेकिन उन अतिथि शिक्षकों को समय नहीं दिया गया, जिनके अनुभव में दो से तीन महीने का समय बचा था। पूर्व के विज्ञापन में सभी को समान अवसर दिया गया, लेकिन बाद में सरकारी स्कूलों में पढ़ा रहे हजारों अतिथि शिक्षकों को बाहर का रास्ता दिखा दिया। 

आश्वासन के बाद पलट गए

पीड़ित परीक्षार्थियों के अनुसार उन्होंने अचार संहिता के दौरान जारी किए गए संशोधित विज्ञापन का विरोध किया था। तब अधिकारियों ने आश्वासन दिया था कि उन्हें अनुभव का लाभ मिलेगा। लेकिन परीक्षा के बाद वे अपने वादे से पलट गए। अधिकारी उसी समय स्थिति क्लीयर कर देते तो वे परीक्षा देने की जगह कोर्ट की शरण लेते। अपने को ठगा महसूस करने वाले अतिथि शिक्षक अब न्यायालय की शरण जाने का प्लान बना रहे हैं, ताकि इस फर्जीवाड़े के खिलाफ सख्त कार्रवाई हो सके। 

बिना योग्यता के दिया मौका.. 

सामान्य और दूसरे राज्य के उन आवेदकों को इस पात्रता परीक्षा में मौका दिया गया, जिनकी शैक्षणिक योग्यता अधूरी है। इनकी डिग्रियां मई-जून में पूरी होंगी लेकिन हमें झूठा आश्वासन देकर बाहर का रास्ता दिखाया जा रहा है। पहले आश्वासन देकर अब अधिकारी मिलने से भी कतरा रहे हैं। 
सुबोध सिंह, परीक्षार्थी 

विभाग की गाइडलाइन 

पात्रता परीक्षा में किसी भी पात्र उम्मीदवार के साथ अन्याय नहीं होगा। आरक्षण नियमों का पालन संबंधित विभाग द्वारा दी गई गाइड लाइन के अनुसार ही किया जाएगा। 
विशाल जोशी, संयुक्त परीक्षा नियंत्रक, प्राेफेशनल एग्जामिनेशन बोर्ड 

इस तरह अतिथि शिक्षकों के साथ धोखाधड़ी की गई

अतिथि शिक्षकों के अनुसार शिक्षक भर्ती नियम 2018 के नियम 11(7) ख (चार) में अतिथि शिक्षकों को 25 प्रतिशत के आरक्षण का जिक्र है। यह लाभ शासकीय स्कूलों में तीन शैक्षणिक सत्र एवं 200 दिवस के अध्यापन कार्य के लिए दिया जाता है। पीईबी के विज्ञापन में अध्याय -2 के बिंदू क्रमांक 2.2 में न्यूनतम शैक्षणिक योग्यता पूर्ण मांगी गई। लेकिन बाद में पीईबी ने चालाकी से आचार संहिता लागू होने के बाद विज्ञापन जारी कर अध्याय-1 के बिंदू क्रमांक 7(2) में न्यूनतम शैक्षणिक योग्यता में छूट देकर अतिथि शिक्षकों से पूर्ण अनुभव मांग लिया, जिससे आवेदक भड़क गए। जब उन्होंने भेदभाव का आरोप लगाया तो अधिकारियों ने उन्हें झूठा दिलासा देकर शांत कर दिया। 

कोई हमारी सुनवाई नहीं कर रहा

 सभी अतिथि शिक्षकों ने 200 दिवस और 3 सत्रों का कार्य अनुभव पूर्ण कर लिया है, लेकिन अधिकारी इस अनुभव को नहीं जोड़ रहे हैं। जबकि दूसरे आवेदकों को शैक्षणिक योग्यता को पूरा करने का मौका दिया जा रहा है। हमारे साथ भेदभाव हो रहा है और कहीं-कोई सुनवाई नहीं हो रही है। 
ममता दीक्षित, परीक्षार्थी 


AAP-Congress Alliance: राहुल का Tweet, हम AAP को 4 सीट देने को तैयार, लेकिन CM केजरीवाल ने लिया यू टर्न

नई दिल्ली। लोकसभा चुनाव के मद्देनजर दिल्ली में आम आदमी पार्टी और कांग्रेस के बीच लंबे वक्त से गठबंधन को लेकर चर्चाओं का दौर जारी है। दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल कह भी चुके हैं कि वे कांग्रेस से गठबंधन को तैयार हैं, लेकिन कांग्रेस इसमें दिलचस्पी नहीं ले रही है। लोकसभा चुनाव का पहला चरण पूरा होने के बाद भी दोनों पार्टियों के बीच इसे लेकर स्थिति स्पष्ट नहीं हो सकी थी।

वहीं सोमवार को कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी ने ट्वीट कर कहा है कि 'हम दिल्ली में गठबंधन के तहत आप पार्टी को 4 सीटें देने को तैयार हैं लेकिन अब केजरीवाल ने यू टर्न ले लिया है। हमारे दरवाजे अभी भी खुले हैं, लेकिन वक्त बहुत रफ्तार से जा रहा है।'

Rahul Gandhi

@RahulGandhi

An alliance between the Congress & AAP in Delhi would mean the rout of the BJP. The Congress is willing to give up 4 Delhi seats to the AAP to ensure this.

But, Mr Kejriwal has done yet another U turn!

Our doors are still open, but the clock is running out. 

abAAPki baari 

बता दें कि दिल्ली में 7 लोकसभा सीटें है। आम आदमी पार्टी इस बार भाजपा को मात देने के लिए कांग्रेस से गठबंधन की कई कोशिशें कर चुकी थी, लेकिन बात नहीं बनी थी। दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष शीला दीक्षित को इसकी वजह माना जा रहा था, हालांकि अब कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के ट्वीट के बाद गेंद आम आदमी पार्टी और सीएम अरविंद केजरीवाल के पाले में आ गई है।

राहुल गांधी के ट्वीट करने के बाद सीएम अरविंद केजरीवाल ने भी ट्वीट कर इसका जवाब दिया है। केजरीवाल ने कहा कि 'कौन सा U-टर्न? अभी तो बातचीत चल रही थी। आपका ट्वीट दिखाता है कि गठबंधन आपकी इच्छा नहीं मात्र दिखावा है। मुझे दुख है आप बयानबाजी कर रहे हैं।'

केजरीवाल ने ट्वीट में यह भी जोड़ा कि 'आज देश को मोदी-शाह के ख़तरे से बचाना अहम है।दुर्भाग्य कि आप UP और अन्य राज्यों में भी मोदी विरोधी वोट बाँट कर मोदी जी की मदद कर रहे हैं'

कौन सा U-टर्न?अभी तो बातचीत चल रही थी

आपका ट्वीट दिखाता है कि गठबंधन आपकी इच्छा नहीं मात्र दिखावा है।मुझे दुःख है आप बयान बाज़ी कर रहे हैं

आज देश को मोदी-शाह के ख़तरे से बचाना अहं है।दुर्भाग्य कि आप UP और अन्य राज्यों में भी मोदी विरोधी वोट बाँट कर मोदी जी की मदद कर रहे हो


आप और कांग्रेस के बीच गठबंधन को लेकर जिस तरह से खींचतान चल रही थी उससे इसकी संभावना लगभग खत्म हो चुकी थी। लेकिन राहुल गांधी ने अचानक इसे लेकर ट्वीट किया है और कांग्रेस द्वारा गठबंधन को तैयार होने के साथ ही सीएम अरविंद केजरीवाल पर एक बार फिर यू टर्न लेने का आरोप लगा दिया है। इस पर केजरीवाल ने भी प्रतिक्रिया देकर एक दूसरे के बीच ट्वीटर वार छेड़ दिया है।

MARI themes

Blogger द्वारा संचालित.