Breaking News

CM शिवराज ने दिए लॉकडाउन के संकेत, कहा- संक्रमण रोकने के लिए सख्त कदम उठाने होंगे

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान बुधवार देर शाम कोरोना की समीक्षा बैठक करेंगे। उन्होंने कहा कि प्रदेश में संक्रमण बढ़ता जा रहा है। ऐसे कुछ सख्त फैसले बैठक में लिए जा सकते हैं। (फाइल फोटो )
मुख्यमंत्री ने शाम को बुलाई समीक्षा बैठक, सहयोग के लिए सभी राजनीतिक दलों को लिखेंगे पत्र
कक्षा 8वीं तक के स्कूल 1 अप्रैल से नहीं खुलने की संभावना, आज देर शाम तक होगा फैसला
मध्य प्रदेश में कोरोना की दूसरी लहर में संक्रमण तेजी से फैल रहा है। इसको लेकर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने लॉकडाडन बढ़ाने के संकेत दिए हैं। उन्होंने कहा कि जिस तरह से कोरोना केस लगातार बढ़ रहे हैं, इसे गंभीरता से लेने की जरुरत है। ऐसे में संक्रमण की चैन तोड़ने की जररुत है। इसके लिए सख्त कदम उठाने पड़ेंगे।
मुख्यमंत्री ने कहा कि मंगलवार को 1700 से ज्यादा केस आए हैं। यह संख्या लगातार बढ़ती जा रहाी है। मैंने बुधवार को सुबह एक समीक्षा बैठक की है, लेकिन देर शाम उच्च स्तरीय बैठक बुलाई है। जिसमें कई फैसले लिए जाएंगे। उन्होंने बताया कि कोरोना को कंट्रोल करने के लिए सभी राजनीतिक दलों व धर्मगुरुओं को पत्र लिखकर सहयोग करने की अपील करुंगा।
मुख्यमंत्री ने कहा कि मास्क और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन गंभीरता से करने की जरुरती है। सरकार और प्रशासन मेरी होली-मेरा घर अभियान चला रहे हैं। उन्होंने यह भी कहा कि आम लोगों की जिंदगी ठीक तरीके से चले, यह सरकार की जिम्मेदारी है, लेकिन कोरोना को रोकना सर्वोच्च प्राथमिकता है।
मंत्रालय सूत्रों का कहना है कि जिस तरह से कोरोना केस बढ़ते जा रहे हैं और संक्रमण की चैन बन रही है। इसको तोड़ने के लिए लॉकडाउन बढ़ाने के संकेत मुख्यमंत्री दे रहे हैं। अभी तक प्रदेश के तीन शहरो भोपाल, इंदोर और जबलपुर में हर रविवार को लॉकडाउन का निर्णय सरकार ने लिया है। लेकिन होली सहित अन्य त्यौहारों को ध्यान में रखते हुए सरकार आगे फैसला लेगी। कक्षा 8वीं तक के स्कूल 1 अप्रैल से खुलने की कोई संभावना नहीं है। मुख्यमंत्री द्वारा देर शाम बुलाई गई कोरोना की समीक्षा बैठक में स्कूलों को लेकर भी फैसला हो सकता है।
बता दें कि केंद्र सरकार ने कोरोना को लेकर 30 अप्रैल तक के लिए नई गाइड लाइन जारी की है। जिसमें कहा है कि मरीज की पॉजिटिव रिपोर्ट आने के तत्काल बाद उसे इलाज की सुविधा उपलब्ध कराई जाए। संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में आए लोगों को तुरंत आइसोलेशन में भेजा जाए। इसके अलावा टेस्ट, ट्रैक व ट्रीट प्रोटोकॉल को सख्ती से लागू करने के निर्देश भी दिए गए हैं।
1 से 3 लोगों को फैल रहा संक्रमण
मध्य प्रदेश में एक व्यक्ति से 3 लोगों में कोरोना संक्रमण फैल रहा है। संक्रमण की इस चैन को तोड़ने की जरुरत है। हालांकि प्रशासन ने पिछले दो माह से चैन तोड़ने के कोई ठोस कदम नहीं उठाए। यानी संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में आने वालों को ट्रेस नहीं किया जा रहा है। इतना ही नहीं, टैस्ट रिपोर्ट आने में भी तीन से चार दिन लग रहे हैं।

Check Also

बेरोजगार युवाओ के लिए 9 दिवसीय कार्यशाला का आयोजन*

🔊 Listen to this *👉शिवपुरी में आत्मनिर्भर भारत के तहत युवाओ को कार्यकुशल बनाने के …